भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद, 10 हजार यात्री फंसे बर्फबारी के चलते कश्मीर-लद्दाख का संपर्क भी टूटा

एजेंसी


श्रीनगर/भोपाल/चंडीगढ़/अहमदाबाद। उत्तर भारत में भीषण सर्दी से कुछ राहत मिली है, लेकिन मैदानी इलाकों में पारा गिरा है। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कई हिस्सों में ओले और बारिश से ठिठुरन बढ़ी है। फसलों को भी नुकसान हुआ है। राजस्थान में शीतलहर चल रही है। झारखंड में सर्दी की वजह से स्कूलों में छुट्टियां कर दी गई हैं। जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी से जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-लेह हाईवे बंद हो गया है। इस पर हजारों यात्रियों के फंसने की भी सूचना है। दिल्ली में 2 हफ्ते की कड़क सर्दी के बाद पारा कुछ ऊपर चढ़ा है। शुक्रवार सुबह यहां औसत न्यूनतम तापमान 8ए रहा। उधर, गुजरात में अगले 48 घंटों तक बादल छाए रहने और सर्दी बढ़ने के आसार हैं।


और लेह से संपर्क कटा:  भूस्खलन के चलते शुक्रवार को श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर यातायात थम गया। हाईवे पर ट्रक ड्राइवरों समेत करीब 10,000 यात्री काजीगुंड से जवाहर सुरंग के बीच फंस गए। ये वाहन बुधवार को श्रीनगर से जम्मू के लिए रवाना हुए थे, लेकिन डिगडोल में भूस्खलन के बाद पहाड़ी का एक हिस्सा टूटकर सड़क पर गिर गया। ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, 'नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने सड़क पर यातायात शुरू करने के लिए जरूरी मशीनों के साथ अमला भेजा है। सड़क की मरम्मत होने के बाद केवल फंसे हुए वाहनों को जाने दिया जाएगा। श्रीनगर और जम्मू की तरफ से किसी भी नए वाहन को सड़क पर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।' जोजिला दर्रे पर बर्फबारी के कारण श्रीनगर-लेह राष्टीय राजमार्ग पर भी यातायात बंद है। कश्मीर को लद्दाख से जोड़ने वाली इस 86 किमी लंबी एकमात्र सड़क को पिछले 24 दिन से भारी बर्फबारी और फिसलन की वजह से बंद रखा गया है। पुंछ और राजौरी को शोपियां से जोड़ने वाला मुगल रोड भी बंद है। मौसम विभाग के अनुसार, जम्मूकश्मीर के कुछ हिस्सों में 7 जनवरी तक बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ