Posts

24 स्थानों पर एक साथ हुआ गंगाजली पूजन

Image
  24 स्थानों पर एक साथ हुआ गंगाजली पूजन                                                                                                        जयपुर। अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से कुम्भ महापर्व और शांतिकुंज की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में चलाए जा रहे आपके द्वार पहुंचा हरिद्वार अभियान के अंतर्गत मालवीय नगर रविवार को 24 स्थानों पर एक ही समय देवस्थापना कराकर गंगाजली पूजन द्वारा तीर्थ स्थापना कराई गई। गायत्री शक्तिपीठ व्यवस्थापक रणवीर सिंह चौधरी ने बताया कि गायत्री परिवार जयपुर के समन्वयक ओम प्रकाश अग्रवाल के नेतृत्व में सभी यजमान औऱ आचार्य रामजीपुरा के राधा मोहन जी मंदिर  एकत्रित हुए।  नगर निगम वार्ड 125 के पार्षद रामप्रसाद शर्मा आचार्य और यजमानों का दुपट्टा डालकर स्वागत किया। राजरानी चौहान, रत्ना राजपुरोहित, सरोज कंवर  हरि इच्छा शर्मा , अन्नू  संगीता सविता शुक्ला, विमला, मंजू सहल चंद्रकांता, गायत्री कचोलिया, दामोदर शर्मा, सरदार सिंह, हनुमान सिंह, रेवती प्रसाद, रविन्द्र सिंह ने  कार्यक्रम में सहयोग किया। नवीन सहल  ने कुंभ के साथ कुंभ के गंगाजल का महत्त्व सुंदर तरीके से प्रस्तुत किया।

*नाभि में तेल लगाने से मिलते हैं असाधारण लाभ*

Image
  नाभि में तेल लगाने से मिलते हैं असाधारण लाभ                   लेखिका- गरिमा सिंह अजमेर बचपन से ही नाभि पर साधारण देसी घी/सरसों तेल/ हींग या लौंग वाला देसी घी लगाते हमने देखा है। हमारे यहां इसका इस्तेमाल पीढ़ियों से चला आ रहा है और यह बेहद असरदार साबित होता रहा है।  *नाभि का महत्व:-* जब हम कुंडलिनी, नाड़ी तंत्र और क्लासिकल हट योग की बात करते हैं तब आपकी नाभि को ऊर्जा के सबसे महत्वपूर्ण केंद्र के रूप में देखा जाता है। नाभि को प्राण की उत्पत्ति या बीज के रूप में भी देखा जाता है क्योंकि मां से गर्भ में पल रहे बच्चे को सारे पोषक तत्व नाभि (umbilical cord) से ही प्राप्त होते हैं। कुंडलिनी के संदर्भ में नाभि के स्थान को *मणिपुर चक्र* (एनर्जी चैनल) के रूप में देखा जाता है इसे सोलर पलक्स …जो शरीर में ऊर्जा को बनाए रखता है…शरीर में वात पित्त और कफ जैसे दोषों को सुचारू रूप से संचालित करने में सबसे महत्वपूर्ण केंद्र है। हमारे शरीर में अपानवायु और प्राणवायु को लेकर जा रही लगभग 72,000 नाड़ियों का समन्वय यहां होता है जो आपके शरीर के विभिन्न प्रकार की ऊर्जा केंद्रों से जुड़ी होती है। *लाभ:-* नाभि मु

यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी का प्रथम दीक्षांत समारोह

Image
  यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी का प्रथम दीक्षांत समारोह विद्यार्थी और बुद्धिजीवी आधुनिक भारत के निर्माण में अहम भूमिका निभाएं-पूर्व राष्ट्रपति सफलता के लिए देश और समाज में स्वस्थ प्रतिस्पर्धात्मक माहौल तैयार करे-जलदाय मंत्री जयपुर, 20 फरवरी। पूर्व राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने विद्यार्थियों व बुद्धिजीवियों का आह्वान किया है कि वे देश् के विकास के साथ ही आधुनिक भारत के निर्माण में अपनी अहम् भूमिका निभाएं, उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ सामाजिक दायित्व निभाना भी हमारा कर्तव्य है। श्रीमती पाटिल शनिवार को जयपुर में यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी, वाटिका के प्रथम दीक्षांत समारोह को वर्चुअल माध्यम से मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रही थी। श्रीमती पाटिल ने विद्यार्थिर्यों को देश का भविष्य बताते हुए कहा कि संस्थान उनको अच्छे संस्कार और मानवीय मूल्यों से परिपूर्ण शैक्षणिक माहौल दें ताकि वे इनको आत्मसात कर अपने कॅरियर में ऊंचाईयां तय करते हुए देश की साख बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकारें महत्वपूर्ण कदम उठा रही हैं। नि

भारत - डेनमार्क ने की एक नये युग की शुरुआत

Image
भारत - डेनमार्क ने की एक नये युग की शुरुआत                                                                                                      कोलकाता , 19 फरवरी : भारत और डेनमार्क ने आपस में मौखिक तौर पर आंशिक रुप से ग्रीन स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप के जरिये एक नए युग की शुरुआत की है, जो दोनों देशों के लिए कई मुद्दों पर स्थायी समाधान के लिए मददगार साबित होगा। ग्रीन स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप, राजनीतिक सहयोग को आगे बढ़ाने, आर्थिक संबंधों और हरित विकास का विस्तार करने, रोजगार सृजित करने और पेरिस समझौते के अलावा संयुक्त राष्ट्र के कई लक्ष्यों के महत्वाकांक्षी कार्यान्वयन पर ध्यान केंद्रित करने के साथ वैश्विक चुनौतियों और अवसरों पर आपसी सहयोग को मजबूत करने के लिए पारस्परिक रूप से लाभप्रद साबित होगा। भविष्य की कई चुनौतियों और महत्वाकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए डेनमार्क के प्रधानमंत्री एच. ई. मेटे फ्रेडरिकसन एवं भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आपसी दृष्टि के अनुरूप 28 सितंबर, 2020 को आयोजित एक वर्चुअल शिखर सम्मेलन के दौरान ग्रीन स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप पर सहमति जताई। इस पार्टनरशिप के

कलाकार को नदी के समान बहते रहना चाहिए–किरण कुमार

Image
कलाकार को नदी के समान बहते रहना चाहिए–किरण कुमार जयपुर। अपने जमाने के मशहूर अभिनेता किरण कुमार ने कहा है कि कोई भी कलाकार एक नदी के समान होता है, जो हमेशा बहता रहता है, मतलब उसे विभिन्न फिल्मों के मुताबिक अलग-अलग किरदार निभाने  पड़ते हैं और जिस तरह नदी हमेशा बहती रहती है, ठीक उसी तरह अभिनेता को भी फिल्मों के अनुरूप ही अपने रोल निभाते हुए बहते रहना चाहिए और नदी की तरह बहते रहने का नाम ही जिंदगी है। ये कहना है अपने जमाने के मशहूर अभिनेता किरण कुमार का, जो कि बॉलीवुड की नई मूवी बल्ली वर्सेज बिरजू के प्रमोशन को लेकर शुक्रवार को जयपुर में पत्रकारों से मुखातिब हुए। इस फ़िल्म में बल्ली के रूप में मुख्य भूमिका निभा रहे फ़िल्म के मुख्य कलाकार किरण कुमार ने कहा कि जयपुर में आकर बहुत ही अच्छा लगा है, क्योंकि जयपुर में फ़िल्म की शूटिंग के लिए उनको देव कॉलेज ग्रुप से पूरा सहयोग मिला है।वहीं देव ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के चेयरमैन एवं इस फ़िल्म के जरिये फ़िल्म प्रोड्यूसर के रूप में कदम रख देव डॉ. दामोदर गुर्जर ने कहा है कि उन्हें बहुत ही खुशी महसूस हो रही है कि बॉलीवुड के इतने ख्यातिनाम कलाकारों ने अपनी फिल्म की

वृंदावन से जयपुर में पधारे राधा मदन मोहन जी

Image
  जयपुर वासियों का सपना हुआ पूरा वृंदावन से जयपुर में पधारे राधा मदन मोहन जी  जयपुर ।गुलाबी नगरी के भक्तों का वर्षो पुराना सपना साकार हो गया है, जयपुर के आराध्य श्री गोविंद देव मंदिर के पास में ही श्री राधा मदन मोहन जी के मंदिर की स्थापना भी हो गई है ।मठ व्यवस्थापक सुन्दर गोपाल प्रभु ने बताया कि कृष्ण के प्रपौत्र वज्रनाभ ने भगवान कृष्ण के दर्शन करने के  लिए सर्वप्रथम इस  धरा धाम पर विग्रह प्रकट किए। उन्होंने सर्वप्रथम जो विग्रह बनाएं उनके चरण कमल भगवान कृष्ण से मिलते थे उनका नाम हुआ राधा मदन मोहन। उसके पश्चात उन्होंने दूसरे विग्रह बनवाएं जिनके  जिनका  वक्षस्थल भगवान से मिलता था उनका नाम हुआ राधा गोपीनाथ तत्पश्चात उन्होंने फिर तीसरे विग्रह बनवाएं तो उनका मुखारविंद भगवान कृष्ण से मिलता था उनका नाम हुआ  राधा गोविंद देव जैसे ही उनकी परदादी ने उनके दर्शन किए उन्होंने घूंघट ले लिया तो ब्रजनाथ जी समझ गए कि भगवान कृष्ण का मुखारविंद ऐसा ही दिखता था  शास्त्रों के अनुसार कहा जाता है की एक ही दिन में सूर्य अस्त से पहले अगर कोई राधा मदन मोहन राधा गोपीनाथ राधा गोविंद देव के दर्शन करता है तो उसे भगवा

सीआरपीएफ ने लोगों को बांटे मास्क, सैनिटाइजर, हैंड वॉश

Image
  सीआरपीएफ ने लोगों को बांटे मास्क, सैनिटाइजर, हैंड वॉश                                                                                       जयपुर। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल राजस्थान सेक्टर के पुलिस महानिरीक्षक विक्रम सहगल के निर्देशन में राजस्थान सेक्टर की - 246 वी  वाहिनी द्वारा गुरुवार को सेंट्रल पार्क जयपुर के गेट नंबर 3 पर सिविक एक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।                                                               इस आयोजन में 246 वी वाहिनी एवं 83 द्रुत  कार्यबल एवं सेंट्रल पार्क के पदाधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम आयोजन करने से पूर्व आस पास के लोगों को कोविड-19 फैलने - बचाव  आदि के बारे में विस्तार से बताया गया। इसके बाद चिकित्सा अधिकारी एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा कोरोना महामारी के बारे में विस्तार से बताया गया तथा वैक्सीन लगने के बाद  भी बरतने वाली सावधानियों के बारे में आमजन को जागरूक किया गया l                                                                                     इस कार्यक्रम में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के राम चंद्र-२४६ बटा.,  सुरेश कुमार-८३,द्रुत