Posts

दिसंबर तक सभी देशवासियों को लगेगी वैक्सीन

Image
  दिसंबर तक सभी देशवासियों को लगेगी वैक्सीन  सरकार का 216 करोड़ डोज का प्लान नई दिल्ली। देश में कोविड-19 वैक्सीन की किल्लत के बीच अच्छी खबर है। कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख डॉक्टर विनोद कुमार पॉल ने कहा है कि दिसंबर तक सभी नागरिकों को टीका लगाने के लिए देश के पास पर्याप्त वैक्सीन होगी। गुरुवार को उन्होंने कहा है कि अगस्त से दिसंबर के बीच 216 करोड़ डोज उपलब्ध होंगे. पॉल ने कहा इस लिहाज से हर भारतीय को टीका लगने के बाद भी पर्याप्त डोज बाकी होंगे।  गुरुवार को प्रेस ब्रीफिंग के दौरान डॉक्टर वीके पॉल ने कहा 'भारत और भारतीय के लिए अगस्त से दिसंबर के बीच कुल मिलाकर 216 करोड़ डोज का निर्माण किया जाएगा. इस बात में कोई संदेह नहीं है कि जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते जाएंगे, वैक्सीन सभी के लिए उपलब्ध होगी.' सरकारी डेटा के अनुसार, गुरुवार सुबह तक देश में 25 लाख 70 हजार 537 सत्रों में 17.72 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं।  जनवरी में भारत ने भारतीय बायोटेक की कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड को मंजूरी दी थी. बीते महीने रूस की स्पूतनिक 5 को भारत में आपातकालीन उपयोग की अनु

विचित्र जन्तु जो बगैर पानी पीये जिंदगी भर रह सकता है।

Image
विचित्र जन्तु जो बगैर पानी पीये जिंदगी भर रह सकता है।  सभी पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं की जिंदा रहने के लिए पानी की जरूरत होती है. क्या आप सोच सकते हैं कि कोई जंतु ऐसा भी होगा, जो जिंदगीभर बगैर पानी पिये रह सकता है लेकिन एक ऐसा विचित्र जंतु जरूर जो ऐसा कर सकता है. शायद वो दुनिया में इस तरह का अकेला जंतु होगा।  ये विचित्र जंतु उत्तरी अमेरिका के रेगिस्तानों में मिलता है. इसे कंगारू रैट कहते हैं. इसकी टांगें और पूंछ आस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले कंगारू से मिलती जुलती है. इसके गालों के बाहर की ओर थैलियों भी होती हैं. इन थैलियों में ये खाने का सामान लाता है. फिर इसे अपने बिलों में इकट्ठा करता है।  इसकी इसी हरकत और शारीरिक थैली के कारण इसे कंगारू की तरह माना जाता है और इसका नाम कंगारू रैट रखा गया. ये कंगारू की तरह ही लंबी छलांगें लगाता है. रेगिस्तान में उगने वाले कैक्टस के पौधों को आसानी से कूदकर पार कर सकता है।  कगारू रैट रेगिस्तानी जीवन का एक खास हिस्सा होता है. ये बेशक पानी नहीं पीता लेकिन इसके शरीर में पानी की मात्रा ज्यादा होने के कारण दूसरे जानवर इसे खा जाते हैं. ये बहुत तेजी से भाग सकता

एसडीएम ने बोगस ग्राहक बनकर की कार्रवाई।

Image
   अवैध ब्रांच खोलकर बेची जा रही थी शराब।  एसडीएम ने बोगस ग्राहक बनकर की कार्रवाई।  अवैध शराब के जखीरे के साथ एक को पकड़ा  दो फरार आरोपियों की तलाश जारी। नीमकाथाना। गांवडी में शराब की अवैध ब्रांच में शो-रूम की तरह सजाकर बेची जा रही शराब के मामले में एसडीएम बृजेश कुमार ने बोगस ग्राहक बनकर मामले का खुलासा किया। टीम में शामिल सदर सीआई कस्तुर निशांत ने अवैध शराब के जखीरे सहित एक आरोपी को पकड़ा है। कार्रवाई के दौरान दो आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने करीब 80 हजार रूपएं की अवैध शराब के साथ गांवडी की ढ़ाणी टीबावाली निवासी विक्रम सैनी पुत्र मदनलाल को गिरफ्तार किया है। गांवडी में अवैध ब्रांच खोलकर शराब बिक्री के मामले में लगातार शिकायतें मिल रही थी।  मामला सामने आने पर कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम बृजेश कुमार ने कार्रवाई कर मामले का खुलासा किया। गांवडी में शराब का अवैध शो-रूम सजाकर धडल्ले से शराब बेची जा रही थी। दो-तीन जगहों पर अवैध ब्रांच खोलने के मामले में ग्रामीण लगातार शिकायतें कर रहे थे। एसडीएम बृजेश कुमार खुद बोगस ग्राहक बनकर शराब की अवैध ब्रांच पर गए। दुकान पर बैठे युवक से बीयर व शराब मा

निर्जीव पत्नी को देखने साइकिल से 13 घंटे में 130 किमी सफर कर पहुंचा पति

Image
निर्जीव पत्नी को देखने साइकिल से 13 घंटे में 130 किमी सफर कर पहुंचा पति   इन्दौर । कोरोना महामारी के चलते लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं, जो आने वाली परेशानियों का बड़े साहस के साथ मुकाबला कर रहे हैं. ऐसा ही एक मामला गत दिवस सामना आया. पत्नि की मौत की खबर सुनने के बाद 130 किलोमीटर दूर रहने वाले पति को आगर आने के लिए कोई साधन न मिला तो वह पौने 13 घंटे में आगर आकर पत्नि के अस्थी संचय कार्यक्रम में शामिल हो गया।  इंदौर से 10 किलोमीटर दूर ग्राम तलावली में रहने वाले रवि शंकर पंवार की शादी सन 1986 में मालीपुरा आगर निवासी स्व. बंशीलाल बनासिया की बेटी सुमन से हुई थी. मानसिक रोगी होने के कारण कुछ समय से सुमन मायके में ही रह रही थी। गत दिनों पैर फिसल जाने के कारण सुमन की हालत और नाजुक हो गई और 8 मई को सुमन का निधन हो गया. सुमन के परिजनों ने रवि शंकर को शोक संदेश पहुंचा दिया, लेकिन रवि शंकर आने में इसलिए असमर्थ थे कि भाभी का उस दिन दसवां था. भाभी का उत्तराकर्म पूरा करवाने के बाद रवि शंकर ने आगर आने के लिए साधन ढूंढ़ा तो नही मिला।  ऐसे में प्लम्बर का कार्य

पति को बचाने अस्पताल में शारीरिक शोषण सहती रही

Image
पति को बचाने अस्पताल में शारीरिक शोषण सहती रही  मौत के बाद बयां की दर्द भरी दास्तां   भागलपुर।  पूरे देश में महामारी  (CORONA CASES) के इस दौर में इनदिनों पूरे देश की व्यवस्था तहस नहस हो गई है इसी बिच भागलपुर से एक शर्मनाक( SHAMELESS)  घटना सामने आ रही है रुचि रोशन पर गमों का पहाड़ टूट कर गिर पड़ा है। रुचि रोशन अपने पति रोशन चंद्र दास को प्यार से बाबू कहकर बुलाती थी। भागलपुर से पटना तक चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से रुचि का बाबू का साथ छूट गया। 10 दिन बाद दोनों की शादी की सालगिरह थी। सालगिरह घर पर ही मनाने का प्लान बनाया था। चिकित्सकों की एक लापरवाही ने सारे सपने को एक झटके में धराशाई कर दिया।   आपको बता दे आइसीयू वार्ड में रूचि का पति एडमिट था जहाँ उसे कोई देखने वाला नहीं था। रुचि ने कहा कि स्वर हॉस्पिटल के सीनियर डॉ. अखिलेश भी गलत नजर से देखता था। आइसीयू में आने जाने के क्रम में चिकित्सक शरीर को टच करता था। ऐसे में काफी गुस्सा आता था और चप्पल खोल कर मारने का मन करता था, लेकिन पति आइसीयू में भर्ती और हालत गंभीर होने के कारण वह चुप रही। जानकारी के लिए बता दे महिला ने आरोप लगाते हुए क

पुलिस ने रुठे प्रेमी जोड़े को मिलवाया, फिर थाना परिसर में ही करवाई शादी

Image
पुलिस ने रुठे प्रेमी जोड़े को मिलवाया,  फिर थाना परिसर में ही करवाई शादी कोटा। हाड़ौती संभाग के कोटा जिले की रामगंजमंडी में लॉकडाउन में बेहद सुखद नजारा देखने को मिला है. यहां पुलिस ने अनोखी पहल करते हुए न केवल रूठे प्रेमी युगल को आपस में मिलाया बल्कि थाना परिसर में ही उनकी शादी करवाकर आशीर्वाद भी दिया. उसके बाद दंपति बना प्रेमी-युगल जोड़ा मोटरसाइकिल पर बैठकर विदा हो गया. यहां बिना बैंड और बिना बाराती के प्रेमी युगल ने थाने में एक दूसरे के गले में वरमाला डाली।  जानकारी के अनुसार रामगंजमंडी के मारुति नगर निवासी 22 वर्षीय युवती व मोतीलाल आपस में प्रेम करते थे। लेकिन इन दिनों दोनों में मतभेद के चलते युवती ने प्रेमी के खिलाफ थाने में शिकायत की। इस पर पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज नहीं करके समझाइश से मामला निपटाने का आश्वासन दिया।  पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाया पुलिस ने सोमवार को प्रेमी युवक और दोनों के परिजनों को थाने बुलाया. दोनों पक्षों में आपसी समझाइस के बाद थाना परिसर में ही स्थित मंदिर के सामने प्रेमी प्रेमिका को मिलवा दिया. दोनों ने मंदिर के सामने साथ-साथ जीने-मरने की कसमें खाकर शादी कर

देश के जूनियर डॉक्टरों की भी इस समय अग्निपरीक्षा

Image
देश के जूनियर डॉक्टरों की भी इस समय अग्निपरीक्षा -एलिस इवांस डॉक्टर पंक्ति पंड्या की उम्र महज़ 22 साल है. उनकी डॉक्टरी की पढ़ाई इसी साल 26 फ़रवरी को ख़त्म हुई है।  "हमें एक महीने में बहुत कुछ तेज़ी से सीखना पड़ा है... फ्रेशर्स और इंटर्न के तौर पर हमें संकट की स्थिति में झोंक दिया गया है." ये अक्सर कहा जाता है कि नई नौकरी शुरू करने का सबसे अच्छी तरीक़ा ये होता है कि आप गहराई में उतर जाएँ।  कोरोना संकट से जूझ रही भारत की स्वास्थ्य व्यवस्था में मेडिकल कॉलेजों से ताज़ा-ताज़ा निकले इन जूनियर डॉक्टरों के लिए ये डूबने और तैरने जैसा अनुभव है।  डॉक्टर पंक्ति पंड्या की उम्र महज़ 22 साल है. उनकी डॉक्टरी की पढ़ाई का आख़िरी साल इसी 26 फ़रवरी को ख़त्म हुआ है।  उन्होंने एमबीबीएस की तालीम अपने गृह राज्य गुजरात में ही ली है।  जिस दिन उनका कोर्स पूरा हुआ, उस दिन गुजरात में कोरोना संक्रमण के 424 मामले रिपोर्ट हुए थे।  22 मार्च तक रोज़ दर्ज होने वाला ये आंकड़ा बढ़कर 1580 हो गया था। इसी दिन आणंद ज़िले के श्री कृष्ण हॉस्पिटल में डॉक्टर पंक्ति ने अपनी इंटर्नशिप शुरू की थी।  आधिकारिक रूप से डॉक्टर ब