Posts

कोविड के चलते सादगी से निकाली शोभायात्रा

Image
  कोविड के चलते सादगी से निकाली शोभायात्रा   सुरत 29 नवंबर(चंद्र कान्त पुजारी) ।जिले के बारडोली तहसिल के मोता गांव मे हर साल की तरह ईस साल भी प्राचीन मंदिर श्री रामेश्वर महादेव की शोभायात्रा देर रात  भक्त जनों द्वारा भजन कीर्तन करते हुवे  पुरे  गांव मे निकाली गई । विभिन्न क्षेत्रों से  आए बाबा के भक्तोने शोभायात्रा मे रहकर शोभा बडाई और बाबा की पुजा अर्चना की यह शोभायात्रा और यह गांव मे मेला कार्तिक पूर्णिमा के दिन लगता हैं पुरे दिन रात मेला रहता है बाबा पुरे मोता गांव की सैर  करते हैl गौरतलब है कि  यह पालखी शोभायात्रा की परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही हैं उस दिन मोता गांव में श्री रामेश्वर महादेव के मंदिर में एक लाख से अधिक भक्त गण आते है दर्शन करने मगर ईस साल कोविड19 को ध्यान में रखते हुवे सादगीपूर्ण पालखी शोभायात्रा ही निकाली गई और अपने पर लगे कलंक से मुक्त होने के लिए यह शोभायात्रा और मंदिर का महिमा अपरमपार है मंदिर को रंगबे रंगबी इलेक्ट्रिक लाइटों से मंदिर का श्रृंगार किया गया और पालखी को सुगंधित पुष्प से श्रृंगार किया गया था ईस मंदिर और पालखी शोभायात्रा से जुडी कुछ पोराणिक बात हम

मातृभाषा,मातृभूमि और माता-पिता से दूर होती नई पीढ़ी

Image
  मातृभाषा,मातृभूमि और माता-पिता से दूर होती नई पीढ़ी                      प्रोफे. डां. तेजसिंह किराड़                    (वरिष्ठ पत्रकार व शिक्षाविद)  हर काल में ना केवल राष्ट्र की अर्थव्यवस्था में भारी उतार -चढ़ाव देखने को मिलते हैं  वरन समाज की सामाजिक और संस्कारमूल्यों वाली सबसे कीमती विरासती धरोहर भी  ज्यादा प्रभावित देखने को मिलती हैं। महान चाणक्य ने कहा हैं कि देश की अर्थव्यवस्था को देश,काल और परिस्थितियों के अनुरूप संवारा जा सकता हैं परन्तु यदि किसी परिवार,समाज और राष्ट्र का नवनिर्माण करने वाली भावी नौनिहाल  पीढ़ी और युवा वर्ग ही यदि संस्कार और जीवनमूल्यों की सांस्कृतिक धरोहर से वंचित रह जाएगें तो वह परिवार,समाज और राष्ट्र कभी भी प्रगति पथ पर आगे नहीं बढ़ सकता हैं। चाणक्य तात्कालिक समय के सबसे बड़े दूरदृष्टा और महान दार्शनिक भी थे। आज हर एक भारतीय समाज में ऐसी ही मिलती जुलती कहानियां जन्म ले चुकी हैं जो दो पीढ़ियों के बीच एक बड़ी वैचारिक दरार के रूप में और अन्तर द्वंद की मानसिक पीड़ा से गुजर रही हैं। आज के युवाओं को ना मातृभाषा का पूर्ण ज्ञान हैं और ना अपनी मातृभूमि के प्रति त्याग,सेवा

8 महीनों से स्कूल नही खुले, उसके बावजूद पाठ्यक्रम कम करने का खेल रचकर स्कूलों संचालकों को अभिभावकों को लूटने का लाइसेंस बांट रही है सरकार - संयुक्त अभिभावक संघ

Image
8 महीनों से स्कूल नही खुले, उसके बावजूद पाठ्यक्रम कम करने का खेल रचकर स्कूलों संचालकों को अभिभावकों को लूटने का लाइसेंस बांट रही है सरकार - संयुक्त अभिभावक संघ --- संघ का आरोप - " पहले 70 फीसदी, फिर 60 फीसदी और अब 50 फीसदी पाठ्यक्रम कम " अभिभावक स्कूल संचालकों की फीस वसूली से त्रस्त है जिस पर सरकार और प्रशासन अभिभावकों को राहत देने पर ध्यान ही नही दे रही  *संयुक्त अभिभावक संघ  सोमवार से धरने पर* जयपुर 29 नवंबर । कोरोना महामारी जैसी विकट परिस्थिति से पूरा देश गंभीर दौर से गुजर रहा है, इस महामारी का जहां सबसे ज़्यादा असर पढ़ाई पर देखा जा रहा है उससे भी कही अधिक अभिभावकों को इस महामारी का असर देखने को मिल रहा है, पिछले आठ महीनों से इस सीजन की किसी भी तरह की पढ़ाई नही हो पाई है इन आठ महीनों में एक दिन भी बच्चे स्कूल नही गए है मात्र 3 महीनों का इस वर्ष का सीजन बचा है और अभी तक राज्य सरकार और प्रशासन यह तय नही कर पाया है कि इस सीजन में कितनी पढ़ाई होगी। लॉकडाउन समाप्त करने के बाद राज्य सरकार और प्रशासन ने वर्ष 70 फीसदी सिलेबस की घोषणा की जो अब घटते-घटते 50 फीसदी पर आ रही है। जबकि इस सम

सबसे अलग होगी काशी की देव-दीपावली-डॉ नीलकंठ तिवारी

Image
  सबसे अलग होगी काशी की देव-दीपावली-डॉ नीलकंठ तिवारी घाट पर होने वाला भव्य लेजर शो होगा मुख्य आकर्षण वाराणसी, 29 नवंबर: जब पूरा विश्व कोविड संकट से गुजर रहा है तब देश की धार्मिक और सांस्कृतिक राजधानी पूरे विश्व को सकरात्मकता का संदेश देने जा रही है। उत्तर प्रदेश शासन में पर्यटन मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी के अनुसार इस बार की देव दीपावली कई मायनों में अलग होगी और नए कीर्तिमान स्थापित करेगा। देव दीपावली और  प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन की तैयारियों का निरीक्षण करने पहुंचे उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने देव दीपावली की तैयारियों के बारे में बताया, " इस वर्ष देव दीपावली  पर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद  नरेंद मोदी  दीप प्रज्ज्वलित कर इस भव्य कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। यह पहला अवसर होगा कि देव दीपावली पर मां गंगा के दोनों किनारे दीपों से जगमग करेंगे। यही नहीं, देव दीपावली पर इस वर्ष लेजर शो का भी आयोजन होगा। यह लेजर शो चेत सिंह घाट पर आयोजित होगा, जिसका अवलोकन आदरणीय प्रधानमंत्री मां गंगा की गोद मे नौका विहार करते हुए करेंगे। नदी के तट पर सैंड आर्ट्स की

आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये होगी -मुख्यमंत्री

Image
 संक्रमण को छिपाने से घातक हो जाता है कोरोना रोग आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये होगी - मुख्यमंत्री   जयपुर, 28 नवम्बर। मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने कहा है कि कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए आवश्यक है कि इसके संक्रमण को किसी भी स्तर पर छिपाया नहीं जाए, क्योंकि इलाज में देरी से यह रोग घातक हो जाता है। जिन लोगों ने कोरोना वायरस के संक्रमण को छिपाने के लिए समय पर जांच और इलाज नहीं करवाया, उन्हें बाद में गंभीर बीमार होकर अस्पताल में इलाज कराना पड़ा है।  गहलोत शनिवार को राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस) अस्पताल, जयपुर में 70 बेड वाले नए कोविड आईसीयू, 6 जिलों में आरटी-पीसीआर टेस्ट लैब तथा मथुरादास माथुर अस्पताल, जोधपुर में अत्याधुनिक कैंसर उपचार वार्ड तथा अन्य चिकित्सा सुविधाओं के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में निजी लैब में आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये प्रति सैम्पल की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की अधिकाधिक जांच और समुचित इलाज के लिए पूरे राजस्थान में स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत किया गया है और अब हर जिले में आरट

कश्मीर : वनभूमि की लूट करने वालों को कब मिलेगी सजा!

Image
कश्मीर : वनभूमि की लूट करने वालों को कब मिलेगी सजा!                         प्रोफे. डां. तेजसिंह किराड़                 (वरिष्ठ पत्रकार व राजनीति विश्लेषक) रोशनी भूमि घोटाले में फंसें कई बड़े कांग्रेसी नेताओं को अब बाहर निकले का रास्ता नहीं दिखाई दे रहा हैं। फारूख अबदुल्ला से लेकर जो भी बाद में सीएम बनें सबने रोशनी भूमि की फाइलों को केवल दबानें का ही काम किया गया। मनोज सिन्हा के लेफ्टिनेंट गर्वनर बनते ही कांग्रेसियों और अन्य कई दलों की नींद उसी समय उड़ गई थी जिस दिन उन्हें काश्मीर में पूरी तैयारी के साथ भेजा गया था। यह बात बहुत ही कम विश्लेषक जान पाए होगें कि एकाएक काश्मीर में उपराज्यपाल मुर्मूजी को क्यों बदला गया था? कई सच अभी सामने आने बाकी हैं। जम्मू काश्मीर में डीडीसी के चुनाव होना हैं ऐसे में कोई भी पार्टी भाजपा पर हावी ना हो सकें उसके हर तोड़ के भ्रष्टाचारों से जुड़े सारे ब्ल्यू प्रिंट पहले ही बनाकर तैयार कर लिए गए हैं। अब तो केवल बड़ी कानूनी सख्त कार्रवाही होना शेष हैं। क्योंकि देश तो यही कह रहा हैं कि देश के अंदर और बाहर बड़े फैसलों के लिए मोदीजी हैं तो सब संभव हैं !  ----------

संविधान दिवस पर मंसूरी समाज सम्मानित

Image
         संविधान दिवस पर  मंसूरी समाज  सम्मानित इस्लाम में मानवता की सेवा ही सर्वोपरि  - शाहिद मंसूरी  भारतीय संविधान दिवस के मौके पर संत रविदास गुजराती सूर्यवंशी समाज के द्वारा राष्ट्रीय मंसूरी समाज को कोरोना योद्धा रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। प्रदेश संयोजक शाहिद मंसूरी ने सम्मान पत्र लेते हुए कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर कि अध्यक्षता में रचित संविधान हमारे देश की आत्मा है और राष्ट्रीय मंसूरी समाज का हर मेंबर भारतीय संविधान को सर्वोपरि मानता है। प्रदेश अध्यक्ष सलीम मंसूरी ने कहा कि इस्लाम और भारतीय संविधान सभी को समानता का अधिकार देता है और इसलिए हमें धर्म जाति पंथ संप्रदाय सभी से ऊपर उठकर सेवा करना चाहिए। ज्ञात रहे कि कोरोना काल में राष्ट्रीय अध्यक्ष यूनुस मंसूरी के आव्हान पर राष्ट्रीय मंसूरी समाज ने पूरे भारत में "मिशन हेल्प" के तहत मास्क, सैनिटाइजर, पका हुआ खाना, अनाज धान, मुफ्त चिकित्सा शिविर, काढा वितरण व जागरूकता अभियान आदि आयोजित किए व 5000 से ज्यादा कोरोना योद्धाओं को संपूर्ण भारत में सम्मानित भी किया इन्हीं सभी सेवाओं को देखते हुए राष्ट्रीय मंसूरी समाज को आज संविध