Posts

एनसीसी कैडेट्स के लिए राजभवन में "एट होम"कार्यक्रम

Image
  गणतंत्र दिवस- 2023 में राजस्थान का नाम ऊंचा करने वाले  एनसीसी कैडेट्स के लिए राजभवन में "एट होम"कार्यक्रम   जयपुर। राष्ट्रीय कैडेट कोर संगठन अपनी पूरी क्षमता के साथ देश सेवा के लिए महत्वपूर्ण कार्य में लगा हुआ है । एन सी सी कैडेट एकता ,अनुशासन ,कड़ी मेहनत, समर्पण ,टीमवर्क के प्रति उनकी कटिबद्धता के पोषित गुणों को आत्मसात करते हुए निस्वार्थ सेवा और नेतृत्व की भावना रखते हैं इतना ही नहीं देश में प्राकृतिक आपदाओं के समय में भी इन कैडेटो द्वारा  सराहनीय भूमिका निभाई जाती है । नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय गणतंत्र दिवस 2023 में अपनी सहभागिता कर उत्कृष्ट प्रदर्शन से राजस्थान का नाम ऊंचा कर भाग लेकर आए 167 एनसीसी कैडेट्स (जिसमें 51 कैडेट्स बिरला बालिका विद्यापीठ पिलानी की गर्ल्स बैंड भी सम्मिलित है )के लिए  2 फरवरी को गांधीनगर स्टेट एनसीसी कंपलेक्स जयपुर में अभिनंदन समारोह एवं राजभवन मैं जलपान के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया।  राजभवन में आयोजित समारोह में राजस्थान के  शिक्षा मंत्री ,मुख्य सचिव, सहित सशस्त्र सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। एन सी सी कंपलेक्स गांधी नगर में

हृदय रोग संबंधी बीमारियों के लिए ओपीडी का आयोजन

Image
  हृदय रोग संबंधी बीमारियों के लिए ओपीडी का आयोजन   नारनौल।  हृदय संबंधी रोग के मामले इन दिनों बढ़ते जा रहे हैं। पिछले कुछ दशकों में भारत में हृदय रोगों के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है। आंकड़ों के मुताबिक भारत में साल 1990 में हृदय रोगों से हर साल 2.26 मिलियन (22.6 लाख) की मौत होती थी, यह आंकड़ा साल 2025 तक बढ़कर 5.23 मिलियन (52.3 लाख) होने की आशंका है ग्रामीण आबादी में हृदय रोगों के मामले 1.6 से बढ़कर 7.4 फीसदी जबकि शहरी आबादी में 1 से बढ़कर 13.2 फीसदी तक पहुंच गए हैं। कई हृदय रोग ऐसे होते हैं, जो या तो जन्म के समय मौजूद होते हैं या उम्र के साथ या संक्रमण से हो जाते हैं जिनको ठीक करने के लिए ऑपरेशन की आवश्यकता होती है और उसके बाद बहुत सी सावधानियां बरतनी पड़ती है। हृदय से संबंधित कई प्रकार की समस्याएं आती हैं जैसे सीने में दर्द, भारीपन, घुटन अथवा दबाव सांस फूलना, अत्याधिक पसीना आना एवं थकान, उच्च ब्लड प्रेशर एवं असामान्य धड़कन, पैरो में सूजन व वजन बढ़ना, लगातार खाँसी खासकर रात को, जन्मजात हृदय रोग लक्षण पहचानते ही इनका इलाज कराना बहुत आवश्यक है। हृदय से संबंधित रोगों के मामले नारनौल

हनी ट्रेप में युवती सहित दो गिरफ़्तार

Image
                  हनी ट्रेप में युवती सहित दो गिरफ़्तार  दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर 15 लाख की मांग की चित्तौड़गढ़। हनी ट्रेप कर  एक युवक को फंसाकर 15 लाख रूपये मांगे जाने के मामले में कोतवाली चित्तौड़गढ़ थाना पुलिस ने अजमेर निवासी एक युवती व एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार युवती युवक को दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर 15 लाख रूपये की मांग कर रही थी।        पुलिस अधीक्षक  राजन दुष्यंत ने बताया कि शहर चित्तौड़गढ़ निवासी एक युवक को एक युवती द्वारा इन्स्टाग्राम पर मैसेज भेज कर बातो ही बातो में उलझा कर दोस्ती की तथा स्वयं को मुसीबत में फंसा बताकर युवक से 21 जनवरी को 5 हजार रूपये पेटीएम के द्वारा ले लिए। उसके बाद निरंतर मैसेज करती रही। युवक के किसी काम से अजमेर जाने पर उसकी मुलाकात आशा माली नामक लडकी से 28 जनवरी को पहली बार हुई। जहां वह उसे उसके फ्लेट पर उसके माता-पिता व परिवार से मिलाने लेकर गई। जहां उसने चाय में नशीला पदार्थ मिला कर उसे बेहोश कर दिया। उसने उसके साथ क्या किया उसे पता नही। लगभग तीन घन्टे बाद उसे होश आया तो वह उसे अस्पताल ले जाने की बात क

नागौर में नाहटा द्वारा बनाई हस्तरेखा मशीन का बजा डंका

Image
  नागौर में नाहटा द्वारा बनाई हस्तरेखा मशीन का बजा डंका    नागौर। नागौर जिले के डेह गांव में आयोजित हनुमान मंदिर प्रतिष्ठा कार्यक्रम में राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित ब्यावर शहर के एस्ट्रोलॉजर एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ दिलीप नाहटा द्वारा 22 जनवरी से लेकर 26 जनवरी 2023  तक लगातार 05 दिनों तक 259 लोगों को अपनी ओर से बिल्कुल निशुल्क सेवाएं प्रधान की गई।  ज्ञात रहे कि नागौर से 20 किलोमीटर दूर डेह गांव में आयोजित इस हस्तरेखा शिविर में देशभर से आए सैकड़ों लोग नाहटा की हस्तरेखा मशीन की सटीक भविष्यवाणीयों के कारण न केवल दीवाने बनें , अपितु कई लोगों ने मांस एवं मदिरा का सेवन जीवन भर के लिए बंद कर दिया । इस हस्तरेखा शिविर में नाहटा द्वारा लगातार 05 दिनों तक 259 लोगों को देखा गया और जिसमें से केवल 233 लोगों का हस्तरेखा मशीन के बारे में फीडबैक लिया गया ।  जिसमें से बकायदा लोगों ने रजिस्टर में अपने कमेंट लिखें एवं लोगों ने अपने अपने अंक देकर अपने अपने सिग्नेचर भी किए , जिसमें से हस्तरेखा मशीन की सटीकता से प्रभावित होकर 233 लोगों में से 207 लोगों ने 10 में से 10 अंक हस्तरेखा मशीन को दिए एवं 233 लोगों

राजस्थान में ओले-बारिश का कहर

Image
                 राजस्थान में ओले-बारिश का कहर          फसलें चौपट, सड़क पर बिछी सफेद चादर                           23 जिलों में अलर्ट जयपुर । राजस्थान में देर रात से बदले मौसम ने कहर बरपा दिया है। उदयपुर, सिरोही समेत प्रदेश के कई इलाकों में भारी मात्रा में ओले गिरने से किसानों की फसल चौपट हो गई है। सड़कों पर ओलों की वजह से सफेद चादर बिछ गई है। वहीं जयपुर में भी रुक-रुककर बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की वजह से मौसम में बदलाव हुआ है। आज रविवार को दिन भर जयपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, जोधपुर और बीकानेर संभागों में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहने की संभावना है। इसके साथ ही कहीं-कहीं जगहों पर ओलावृष्टि और हो सकती है। जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि 30 जनवरी को उत्तर और उत्तर-पूर्वी भागों में बारिश होने की संभावना है। इससे पहले शनिवार शाम करीब 6:30 बजे के बाद बाद मौसम पलट गया। बादल घिरने के साथ कई जगहों पर बिजली चमकने के साथ देर रात तेज बारिश हुई। यहां हुई अच्छी बारिश डूंगरपुर, बूंदी, अलवर, चित्तौड़गढ़, टोंक, जयपुर, अजमे

नंदपुरी विकास समिति ने मनाया गणतंत्र दिवस

Image
        नंदपुरी विकास समिति ने मनाया गणतंत्र दिवस  जयपुर । नंदपुरी विकास समिति की ओर से भी  26 जनवरी को वार्ड नंबर 48 में नंदपुरी कॉलोनी  स्थित नंदेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण मे झंडा फहराया गया। जिसमे मुख्य अतिथि  करण सिंह  खाचरियावास रहे । इस अवसर पर  के के शिशोदीया, वार्ड अध्यक्ष मनीष यादव, तरुण डांगी, मुकुट बिहारी , रमेश शर्मा, नरेश पल , पंकज जिंदल, राहुल अग्रवाल ,सतीश पराशर  एवम् अन्य लोग उपस्थित थे।

“ लोकतंत्र में लोक संवेदना व अभिव्यक्ति “ विषयक विचार गोष्ठी

Image
“ लोकतंत्र में लोक संवेदना व अभिव्यक्ति “ विषयक विचार गोष्ठी  लोकतंत्र में जनता की संवेदनाओं को समझना बहुत ज़रूरी है - डी. एस. चोपड़ा  जयपुर , 26 जनवरी ।” लोकतंत्र में जनता की संवेदनाओं को समझना बहुत ज़रूरी है ।जनता की संवेदनाओं को नज़रअंदाज़ करने से देश कमजोर होता है ।” उक्त विचार आज समर्पण संस्था द्वारा गणतंत्र दिवस पर आयोजित विचार गोष्ठी में मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त आईआरएस  डी. एस. चोपड़ा ने व्यक्त किये । उन्होंने कहा कि “हमारे लोकतंत्र में संविधान को ही सर्वोच्च माना गया है । लोकतंत्र के तीनों स्तम्भों न्यायपालिका, विधायिका व कार्यपालिका में टकराव नहीं होना चाहिये । साथ ही चौथे स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया को जनता की आवाज़ का ध्यान रखना चाहिये ।”    उन्होंने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि “ बोलने की स्वतंत्रता में पक्षपात ठीक नहीं है ।अभिव्यक्ति में लक्ष्मण रेखा का ध्यान भी जरूरी है । इससे पूर्व संस्था कार्यालय के सामने मुख्य अतिथि  डी. एस. चौपडा ने  अन्य अतिथि व पदाधिकारियों के साथ ध्वजारोहण  किया। तत्पश्चात विचार गोष्ठी की शुरुआत  दीप प्रज्जवलन के साथ