प्रदेश में कोरोना वायरस जांच के लिए प्रयोगशाला की मिलेगी सुविधा


जयपुर। प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण एवं उपचार सुविधाओं की उच्च स्तर पर प्रतिदिन सघन मॉनीटरिंग की जा रही है। राज्य में संदिग्ध रोगियों की कोरोना वायरस की जांच के लिए प्रयोगशाला शीघ्र ही उपलब्ध होगी। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री रोहित कुमार सिंह ने गुरूवार को शासन सचिवालय में प्रदेश में कोरोना वायरस पर समीक्षात्मक बैठक ली और उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ हुयी वीडियो कान्फ्रेंस में वर्तमान स्थिति की विस्तत जानकारी दीकेबिनेट सचिव श्री राजीव गोबा एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव श्रीमती प्रीति सदन ने सभी राज्यों के प्रमुख स्वास्थ्य सचिवों के साथ वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से कोरोना वायरस की जानकारी ली। केन्द्रीय स्तर से उपचार के पश्चात् कोरोना रोगियों के लिए डिस्चार्ज प्रोटोकोल शीघ्र ही जारी किया जायेगा। उन्होंने बताया कि काराना वायरस सक्रमण का स्थिातानयत्रण में है और पूरे देश में इस वायरस के कारण कोई मत्य नहीं हुयी है।


अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने _बताया कि राजस्थान में जनवरी माह में चीन से 18 यात्री आये व इनमें से प्रारंभिक लक्षणों वाले 2 यात्रियों की स्क्रीनिंग कर जांच करवायी गयी । इन्हें जयपुर में आईसोलेशन अस्पताल में भर्ती एक रोगी की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आयी और दूसरे के जांच के लिए सैम्पल लेकर पूणे प्रयोगशाला में भिजवाये गये हैं। दोनों भर्ती किये रोगी स्वस्थ्य हैं।


'कोरोना संक्रमण से बचाव आसान': सिंह ने बताया कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा भी विदेशों से विशेशकर चीन से इस साल 15 जनवरी के बाद भारत आये यात्रियों से अपील की गयी है कि वह कम से कम 14 दिनों तक अपने घर पर ही रहें और कोरोना वायरस की जांच आवश्यक रूप से करवाएं । साथ ही अन्य लोगों के सम्पर्क में आने से बचे। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के पहचान लक्षण, बचाव तरीकों तथा उपचार सेवाओं के बारे में आमजन को जानकारी के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।


'कोरोना नियंत्रण हेतु हेल्पलाईन नम्बर': कोरोना वायरस के बारे व्यापक जानकारी एवं अन्य सहयोग के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के हेल्पलाईन नम्बर 011-23978046 एवं राज्यस्तर पर 0141-2225624 एवं टोल-फी नम्बर 104 या 108 पर आमजन हेतु काउंसलिंग सुविधा उपलब्ध है। 'चीनी यात्रियों की पहचान होगी': अतिरिक्त मुख्य सचिव ने चीन से राजस्थान आने वाले सभी यात्रियों की समुचित पहचान करने एवं पुलिस विभाग के सहयोग से विभिन्न होटलों में ठहरने वाले यात्रियों में से चीन के यात्रियों की जानकारी प्राप्त कर उनकी स्वास्थ्य जांच करवाने के निर्देश दिये गए हैं। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गलेरिया, मिशन निदेशक एनएचएम नरेश कुमार ठकराल, निदेशक आरसीएच डॉ. आर.एस. छीपी, अतिरिक्त निदेशक, डॉ. रवि प्रकाश शर्मा, स्टेट नोडल ऑफिसर आईडीएसपी डॉ प्रवीण असवाल, एसएमएस मेडिकल कॉलेज से मेडिसिन डॉ अजीत सिहं, डॉ एसएस राणावत, डॉ भारती मल्होत्रा, ओएसडी मेडिकल एजुकेशन डॉ सुनील भटनागर, पीएसएम विभाग से डॉ अवतार सिंह दुआ, संक्रामक रोग चिकित्सालय के प्रभारी डॉ दिलीप राज एवं संबंधित अधिकारी मौजूद थे।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को