'थप्पड़' की 'कबीर सिंह' से तुलना बेमानी : तापसी


अभिनेत्री तापसी पन्नू का मानना है कि लोगों को रिश्ते में थोड़ी-बहुत हिंसा होती रहती है। देने के लिए यह फिल्म बनाई है। 'कबीर सिह' के उनकी आने वाली फिल्म 'थप्पड़' की तुलना शाहिद वहीं अनुभव सिन्हा निर्देशित फिल्म 'थप्पड़' रिलीज होने से पहले फिल्म की कहानी लिखी जा कपूर की ब्लॉकबस्टर फिल्म 'कबीर सिह' से नहीं में घरेलू हिंसा जैसे गंभीर मुद्दे को दिखाया गयाचुकी थी। मेरे ख्याल से थप्पड़ बस एक ट्रिगर है, करनी चाहिए। अभिनेत्री ने यह भी कहा कि उनकी है, जिसके आधार पर तलाक और ऐसी ही कई लेकिन फिल्म में हमने रिलेशनशिप को लेकर कई आगामी फिल्म में एक महिला को थप्पड़ मारने के घटनाओं पर ध्यान केंद्रित किया गया है। सीधे शब्दों सारी चीजें दिखाई गई हैं।' अलावा भी बहुत सी चीजें दिखाई गई हैं। सोशल में कहें तो इसमें भले ही बस एक थप्पड़ है, लेकिन उन्होंने आगे कहा, 'मैं स्वीकार करती हूं कि मीडिया पर तापसी पन्नू स्टारर फिल्म 'थप्पड़' के है तो घरेलू हिंसा ही। वहीं तापसी ने अपनी फिल्म 'कबीर सिह' में एक उदाहरण था, लेकिन वह ट्रेलर के जारी होते ही फिल्म 'कबीर सिह' तुलना की तुलना 'कबीर सिह' से करने को गलत ठहराया। हमारी फिल्म के विचारधारा से नहीं मिलता है, की जाने लगी है। 'कबीर सिह' में हीरो की प्रवृत्ति मुंबई में फिल्म एक प्रमोशनल इवेंट में तापसी लेकिन क्या ऐसा पहली की फिल्मों में नहीं हुआ गुस्से वाली होती है और वह हीरोइन को थप्पड़ मार ने कहा, 'ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि हमने 'कबीर है? ऐसी हजारों फिल्म हैं जिसमें पुरुष महिला देता है और एक दृश्य में हीरोइन भी हीरो को थप्पड़ सिह' को दिमाग में रखकर यह फिल्म बनाई है। को थप्पड़ मारता है, इसमें नया क्या है? ऐसे में मारती है। इस फिल्म के निर्देशक संदीप रेड्डी वांगा मुझे बहुत दुख होता है, जब मैं लोगों को यह कहते 'थप्पड़' की तुलना 'कबीर सिह' से करना फिल्म ने इस थप्पड़ के बचाव में कहा था कि किसी भी सुनती हूं कि 'हमने एक दूसरी फिल्म को जवाब को महत्वहीन करने जैसा है।'


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ