नारी तू नारायणी': अब '1090' नंबर बनेगा हर महिला का हथियार

नारी तू नारायणी': अब '1090' नंबर बनेगा हर महिला का हथियार


जयपुर। पुलिस कमिशनरेट, जयपुर  के तत्वाधान में महिला सशक्तिकरण के मुद्दे पर टॉक शो का आयोजन हुआ। कार्यक्रम पूर्व न्यायाधीश उदय चंद की अध्यक्षता में हुआ जबकि मुख्य अतिथि पूर्व न्यायधीश एच सी गनेशिया रहे। उन्होंने बताया कि आज हमारी बेटियां किसी से कम नहीं है, महिलाएं शक्ति का रूप होती हैं जिन्हें किसी को भी कमजोर नहीं समझना चाहिए अगर उन्हें मौका मिले तो वो हम मुश्किल लक्ष्य को पाने की क्षमता रखती हैं।कार्यक्रम में मौजूद सभी वक्ताओं ने महिला सशक्तिकरण के मुद्दे पर अपनी राय रखी, साथ ही वर्तमान परिपेक्ष्य और भविष्य में महिलाओं की उन्नति के लिेए और संभावनाएं तलाशने पर विचार रखे। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सुनीता मीना ने महिला सुरक्षा से जुड़े कानूनों और पुलिस द्वारा महिला सुरक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों के बारे में लोगों को जागरूक किया, सुनीता मीना ने कहा की महिलाओं के लिेए विशेष हैल्पलाइन नंबर 1090 जारी किए गए हैं, महिला प्रताड़ना, शोषण, छेड़छाड़ जैसे मामलों में इस नंबर पर कोई भी महिला या लड़की शिकायत दर्ज करवा सकती है, इस पर तुरंत कारवाई होगी, सबसे अच्छी बात ये है की शिकायतकर्ता की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।                   


                                                                                   वहीं कार्यक्रम में मौजूद अर्चना सुराणा ने कहा वर्तमान में महिला और पुरूष दोनों को सशक्त करने की जरूरत है, जो पीड़ित है उसकी सुनवाई होनी चाहिए। वहीं  डॉ. अनामिका पापड़ीवाल ने महिलाओं के मानसिक पीढ़ा को कम करने पर अपनी राय रखी, कैसे स्ट्रैस कम किया जा सकता है ये उन्होंने बताया। कार्यक्रम में उपस्थित पत्रकार और मोटिवेटर कृपा शंकर शर्मा ने कहा हमें ये समझना होगा की आखिर सशक्तिरण की जरूरत किसे है आज भी बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जो मुलभूत सुविधाओं से भी वंचित हैं ऐसी महिलाओं को समाज में बराबर सम्मान और सुविधाओं दिलवाना बेहद जरूरी है, अगर देश का हर नागरिक जो सक्षम है अगर वो ये संकल्प ले की वो एक अनाथ बच्ची या गरीब महिला को रोजगार या शिक्षा सो जोड़ेगा, तभी जाकर समग्र स्थिती में सुधार होनी की संभावनाएं बनेंगी , वहीं पत्रकार और साहित्यकार तसनीम खान ने महिला और पुरूष में भेदभाव की मानसिकता का खंडन करने पर जोर दिया, उन्होंने कहा समाज में बदलाव तभी संभव है जब दोहरी मानसिकता को त्यागा जाएगा और सबको समान समझा जाएगा। पं. मुकेश भारद्वाज और डॉ. पूनम मदान ने महिला शिक्षा और रोजगार जैसे अनिवार्य विषय पर अपनी राय रखी।  गिरिजा शर्मा, नितेश दाधीच और वेद खण्डेलवाल का कहना था की महिलाओं से जुड़े मुद्दे पर समाज को और अधिक खुली मानसिकता अपनानी चाहिए ताकि बेटे और बेटी का भेद कभी ना हो, इस कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य भी यही था कि महिलाओें को ज्यादा से ज्याद जागरूक किया जा सके और उनके हक, महिला सुरक्षा से जुड़े कानूनों की जानकारी मिल पाए। इस दौरान कार्यक्रम का मंच संचालन सेलिब्रिटी एंकर अंकित खण्डेलवाल ने किया साथ ही खास मेहमानों के रूप में डॉ. स्नेहलता भारद्वाज, मिस्टर एंड मिस इंडिया ग्लैम ऑर्गनाइजेशन के ऑर्गनाइजर पवन टांक, अनूप चौधरी, डायरेक्टर, टेकओवर ग्रुप्स, मुस्कान कामदार, मिस्टर एंड मिस इंडिया ग्लैम-2021, पूजा राणावत, डायरेक्टर, पूजा एंटरप्राइजेज़, दीपक संकित, , सुबोध दाधीच, अध्यक्ष, श्री दाधीच समाज जयपुर, टीना लोढ़ा, पुष्पा जोशी, संजय सरदाना, अल्पना शर्मा, अभिषेक आसोपा, संजय खंडेलवाल, निशा हल्दिया, उमेंद्र दाधीच, हर्षित नैय्यर, शालिनी माथुर, स्वीटी दाधीच, आरती चौपड़ा, अमित शर्मा, श्वेता खुराना, भावना सुगंधा, ज्योतिषाचार्य सोनवी, पं. विष्णु दाधीच, राजेश भारद्वाज आदि ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई ।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ