खन्डित होते समाज की ताजा तस्वीर

खन्डित होते समाज की ताजा तस्वीर 


 तीजा नगर बी पांच्यावाला सिरसी रोड में रहने वाले सोम कुमार सैनी व मुकेश सैनी के परिवार पर पडोसी द्वारा  जानलेवा हथियारों से हमला,,


 आरोपी सुकांत जैन,गोल्डी जैन ,विकास जैन 

विशाल जैन हमले में शामिल,

 मेडिकल होने के बावजूद करणी विहार थाने की अब तक की सुस्त कार्रवाई से पीड़ित परिवार  खफा,,



जयपुर। 21वीं सदी में जहां समाज समृद्ध होना चाहिए वहां हर रोज समाज का विद्रूप चेहरा देखने को मिलता है ।

ऐसा ही मामला तीजा नगर बी पांच्यावाला सिरसी रोड का है । जहां के निवासी सोम कुमार सैनी व उनके भाई मुकेश सैनी के परिवार के साथ जानलेवा हथियारों से लैस होकर हमला बोला गया । पीडित सोम सैनी  व मुकेश सैनी ने मीडिया को बताया कि पड़ोस में रहने वाले सुकांत, गोल्डी , विशाल जैन, विकास जैन परिवार सहित कुछ लोगों के साथ शाम को मामूली सी कहासुनी के बाद आए और बरछी, सरिया, लोहे की रॉड आदि से हमारे पूरे परिवार  पर ताबड़तोड़ हमला बोल दिया ।

इस हमले में मुकेश की पत्नी के सिर पर गंभीर चोट आई। सोम के सिर पर गंभीर चोट आई और मुकेश बीच बचाव करने आया तो उसके हाथ में फैक्चर हो गया सोम की पत्नी के ऊपर भी पीठ पर  सरिए से वार  हुए,मुकेश सैनी की पत्नी का सर धारदार हथियार से फोड़ दिया गया और बड़े शर्म की बात है कि सोम कुमार सैनी की जवान बेटी के साथ बदसलूकी की गई उसकी टी-शर्ट फाड़ने की कोशिश की गई।

सोम कुमार सैनी ने  पड़ोस में रहने वाले सुकांत जैन, गोल्डी जैन विशाल जैन परिवार पर हमले में शामिल होने की बात कही। 

 उन्होंने बताया कि बात इतनी गंभीर भी नहीं थी। मामला था कि मेरे छोटे भाई मुकेश सैनी की पडोसी जैन के घर के सामने दुकानें हैं रोड क्रॉस कर कर 40 फीट रोड पर उसकी छत से बरसात का पानी आ रहा था इस बीच उन्होंने पुलिस बुलाई और फिर समझाइस की गई और पुलिस वाले ने भी यह कहा कि बरसात का पानी है इसे को रोका नहीं जा सकता इस सड़क पर आया है वह बह के चला जाएगा ।

लेकिन पता नहीं ना जाने क्या उस सुकांत जैन के परिवार के मन में थी और शाम को वह जैसा कि पीड़ित मुकेश सैनी ने बताया बरछी सरिया लोहे की रॉड आदि के साथ एक साथ पांच 10 लोग आए और चाय पी रहे हमारे परिवार के ऊपर ताबड़तोड़ हमले कर दिया दो साल से यह परिवार हमको परेशान कर रहा है। ऐसी कोई बड़ी रंजिश भी नहीं है हम जब उनके घर के पास मंदिर है वहां पूजा करने जाते हैं तो वह हमारे से उलझने की हमेशा उनकी कोशिश रहती है। हम सीधे रास्ते जाते हैं सीधे आते हैं ।

हमने उसी दिन करणी विहार थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मेडिकल करा लिया है लेकिन करणी विहार थाने का रुख अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ है। पांच दिन हो गए जिस दिन f.i.r. दिये हुए। सिर्फ उसी दिन वहां के पुलिसकर्मी अजीत सिंह यादव पधारे थे हम मेडिकल कराने गए थे हमारे कोई बयान नहीं हुए। पीछे से वह किस से क्या पूछ कर गए हमें नहीं पता उसके बाद हम लगातार चार दिन से फोन कर रहे हैं लेकिन करणी विहार थाने से अभी तक कोई संतुष्ट जवाब नहीं मिला है। और ना हीं सुकांत जैन के परिवार को पाबंद किया गया है ना ही कोई गिरफ्तारी हुई है।

 अगर कोई आगे हादसा होता है हमारे साथ तो उसके जिम्मेदार कौन होगा यह आप स्वयं समझ ले।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को