15 बागी विधायक भाजपा में शामिल, सुप्रीम कोर्ट ने एक दिन पहले ही चुनाव लड़ने की अनुमति दी थी


एजेंसी


बेंगलुरु| कांग्रेस और जेडीएस के 15 बागी विधायक कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की मौजूदगी में बेंगलुरु में भाजपा में शामिल हो गए। 17 विधायकों को कर्नाटक के पूर्व स्पीकर केआर रमेश कुमार ने अयोग्य घोषित कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सभी विधायकों को चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी थी। चलते चुनाव आयोग ने मतदान की सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में तारीखों को 5 दिसंबर तक टाल दिया था। स्पीकर के उस आदेश को गलत ठहराया, कर्नाटक में सीटों का गणितः जिसमें उन्होंने विधायकों को कर्नाटक कर्नाटक में कुल 224 सीटें हैं। 17 विधानसभा के पूरे कार्यकाल के लिए ही विधायकों को अयोग्य ठहराने के बाद अयोग्य ठहरा दिया था। जस्टिस एनवी विधानसभा सीटें 207 रह गईं। इस रमना की बेंच ने कहा कि विधायक पांच लिहाज से बहुमत के लिए 104 सीटों की दिसंबर को होने वाला उपचुनाव लड़ जरूरत थी। भाजपा (105) ने एक सकते हैं। अगर वे जीतते हैं तो मंत्री भी निर्दलीय के समर्थन से सरकार बना बन सकते हैं। जस्टिस रमना ने यह भी ली।15 सीटों पर 5 दिसंबर को उपचुनाव कहा कि लोगों को स्थायी सरकार से कराए जाएंगे। दो सीटों मस्की और वंचित नहीं किया जा सकता। राजराजेश्वरी नगर पर कर्नाटक हाईकोर्ट में 5 दिसंबर को रिक्त सीटों पर मामला लंबित है, लिहाजा यहां चुनाव नहीं उपचुनावः अयोग्य करार दिए गए 17 होंगे। 15 सीटों पर चुनाव होने के बाद विधायकों में से 15 सीटों पर 5 दिसंबर विधानसभा में 222 सीटें हो जाएंगी। उस को चुनाव होना है। पहले इन 15 सीटों पर स्थिति में बहुमत का आंकड़ा 111 हो 21 अक्टूबर को चुनाव होना था, लेकिन जाएगा। भाजपा को सत्ता में बने रहने के विधायकों को अयोग्य करार देने से जुड़ा लिए कम से कम 6 सीटों की जरूरत मामला हाईकोर्ट कोर्ट में लंबित था। इसके होगी।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन