देव उठनी एकादशी पर तुलसी विवाह के साथ साथ सम्पन्न हुए सैकड़ों विवाह


एच के शर्मा


देव उठनी एकादशी को क्षीर सागर में विश्राम कर रहे विष्णु भगवान् को शंख और घंटों की ध्वनि के साथ जगाया गया तथा सालिगराम जी के साथ माता तुलसी के विवाह के साथ साथ सैकड़ों अबूझ शादियाँ भी संपन्न हुई |


गोविन्द देवजी के मंदिर में भी सालिग्राम जी का विशेष श्रंगार कर माता तुलसी के साथ विवाह कराया गया |सांगानेर स्थित सिली बेरी मंदिर में भी भगवान् सालिग्राम की बरात गाजे बाजे के साथ कुंदन नगर पहुची जहाँ तुलसीजी के साथ उनका विवाह संपन्न कराया गया |


इसके अतिरिक्त सभी श्रद्धालुओं ने अपने अपने घरों में माता तुलसी व सालिग्राम जी के विवाह का आयोजन कर तुलसी आरती का गायन किया और अपनी परम्परा को निभाया |


Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे

18 जून को सुविख्यात ज्योतिषी दिलीप नाहटा पिंकसिटी में जयपुर वासियों को देंगे निशुल्क सेवा