जनता से पहले डिस्कॉम को आपत्तियों का करंट', बिजली दर में बढ़ोत्तरी के प्रस्ताव पर जयपुर में जनसुनवाई


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। प्रदेश में बिजली के दाम बढ़ाने के राजस्थान डिस्कॉम के प्रस्ताव को लेकर राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग ने जनसुनवाई शुरू कर दी है। जोधपुर और अजमेर के बाद बुधवार से जयपुर मुख्यालय पर जनसुनवाई का आगाज हुआ। करीब छह घंटे चली जनसुनवाई में जनता से पहले डिस्कॉम को आपत्तियों का करंट झेलना पड़ा। डिस्कॉम के प्रस्ताव को लेकर कई पॉवर एक्सपर्ट और एनजीओ ने सवाल खड़े किए। बिजली दर बढ़ोत्तरी के प्रस्ताव को लेकर जोधपुर और अजमेर में जनसुनवाई के बाद राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग की पीठ आज जयपुर में मौजूद रही। दुर्गापुरा में कृषि अनुसंधान केन्द्र के ऑडिटोरियम में आयोग के चेयरमेन श्रीमत पांडे और अन्य दो सदस्य सचिव की उपस्थिति में जनसुनवाई शुरू हुई। में विस्तार से बताया। साथ ही ये इस दौरान सबसे पहले जयपुर भी आयोग को जानकारी दी कि डिस्कॉम एमडी ए के गुप्ता ने टेरिफ आखिर दरों में बढ़ोत्तरी के प्रस्ताव याचिका के प्रमुख बिन्दुओं के बारे के पीछे की क्या वजह है


आपत्तियों से पहले यूंदी डिस्कॉम ने सफाई बिजली कम्पनियों की वित्तीय स्थिति चिंताजनक है। कम्पनियों का घाटा 89 हजार करोड़ को पार कर गया है। ऐसे हालात में बिजली के दाम नहीं बढ़ाए गए तो हालात बिगड़ सकते है। . हालांकि, प्रस्ताव ने कमजोर वर्ग को ध्यान में रखते हए औसतन 18.82 प्रतिशत विद्युत दर बढ़ोत्तरी की मांग की गई है। इस प्रस्ताव को शतप्रतिशत मंजूरी मिलने के बावजूद सालाना 1812 करोड़ रुपए का घाटा डिस्कॉम को झेलना होगा। प्रस्ताव में 50 यूनिट तक बिजली उपभोग करने वालों को रखा गया किसी भी बढ़ोत्तरी से बाहर। 14 लाख किसानों पर भी बिजली दर बढ़ोत्तरी का नहीं आएगा भार, इस श्रेणी की बढ़ी बिजली दर सरकार करेगी वहन।


बिजली बिल में ये है प्रस्तावित करंट डिस्कॉम ने ताजा प्रस्ताव में पहली और दूसरी स्लैब यानी 150 यूनिट तक के बिजली उपभोग पर एक ही दर 5.75 रुपए प्रति यूनिट की है। 151 से 300 यूनिट तक की मौजूदा दर 6.40 रुपए प्रति यूनिट को बढ़ाकर 7.35 रुपए प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव किया है। 301 से 500 यूनिट तक की मौजूदा दर 6.70 रुपए प्रति यूनिट को बढ़ाकर 7.65 रुपए प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव किया है। यदि किसी उपभोक्ता ने 500 यूनिट से अधिक बिजली एक माह में खर्च की तो उसे ताजा प्रस्ताव में नीचे की सभी स्लैब की सस्ती बिजली के फायदे से महरूम रखा जाएगा। डिस्कॉम के प्रस्ताव के मुताबिक ऐसे उपभोक्ता को पूरी बिजली खपत का चार्ज 7.95 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से ही करना होगा।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को