कांग्रेस का आरोप...भाजपा ने महाराष्ट्र: शिवसेना विधायक दूसरे होटल शिफ्ट होंगे विधायकों 50-50 करोड़ ऑफर किए


एजेंसी मुंबई।


शिवसेना विधायकों को करीब बांद्रा के रंग शारदा होटल से करीब 24 घंटे बाद शुक्रवार को दूसरे होटल में शिफ्ट किया जाएगा। पार्टी ने अभी यह कदम उठाए जाने की वजह नहीं बताई है। इस बीच, कांग्रेस ने भाजपा पर हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय वडेट्टीवार ने कहा कि भाजपा ने शिवसेना विधायकों को खरीदने के लिए 50-50 करोड़ रुपए का ऑफर दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कुछ कांग्रेस विधायकों से भी बात की थी। हॉर्स ट्रेडिंग के आरोपों पर भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा- कांग्रेस और राकांपा ने हम पर आरोप लगाए हैं। वे 48 घंटे के भीतर आरोपों को साबित करें, या फिर महाराष्ट्र की जनता के सामने माफी मांगें। राज्य की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल कल (9 नवंबर) खत्म हो रहा है। फिलहाल, ऐसे में सरकार गठन को लेकर चल रहे प्रयासों का आज अंतिम दिन माना जा रहा है। राउत ने कहा... भाजपा से किसी भी तरह की बात नहीं हुई शुक्रवार को शिवेसना सांसद संजय राउत ने कहा, "अगर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगता है तो यह जनादेश का अपमान होगा। महाराष्ट्र न तो झुक रहा है. न दिल्ली के सामने कभी झुकेगा। भाजपा से किसी भी तरह से कोई बात नहीं हुई है।' इस बीच, शिवसेना ने सभी जिलों के अध्यक्षों की बैठक बुलाई है। शिवसेना भवन में हो रही इस बैठक में उद्धव भी पहुंचे हैं। इसमें पार्टी के कुछ वरिष्ठ सांसद और विधायक भी मौजूद हैं। सियासी संकट के बीच पद से दिया इस्तीफा, राज्यपाल ने किया मंजर महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना में खींचतान जारी है। महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर इंतजार और लंबा होता जा रहा है, जहां भाजपा ने अब तक सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है, वहीं शिवसेना बार-बार मुख्यमंत्री पद की साझेदारी पर अड़ी है। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के हवाले से कहा गया कि भाजपा उनसे तभी संपर्क साधे जब मुख्यमंत्री पद शिवसेना को देने के लिए तैयार हो। उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार को घंटे भर तक चली शिवसेना के नये विधायकों की बैठक की अध्यक्षता की जिस दौरान विधायकों ने दोहराया कि लोकसभा चुनाव से पहले पदों और जिम्मेदारियों के समान बंटवारे के जिस विचार पर सहमति बनी थी, उसे लागू किया जाना चाहिए। महाराष्ट्र में सरकार गठन की समयसीमा जैसे-जैसे खत्म होती जा रही है, वैसे ही राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होने के संकेतों को बल मिलता दिख रहा है। बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो रहा है। 


उद्धव ने कहा था-गठबंधन तोड़ने का इरादा नहीं गुरुवार को उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में पार्टी विधायकों की बैठक के बाद सभी विधायकों को होटल भेज दिया गया। एक घंटे तक चली इस बैठक में शिवसेना विधायक सत्ता भागीदारी के 50-50 फॉर्मूला पर अड़े रहे। उद्धव ने कहा कि हम भाजपा से गठबंधन तोड़ने का इरादा नहीं रखते हैं, लेकिन भाजपा को उस समझौते पर बने रहना होगा, जो लोकसभा चुनाव से पहले किया गया था।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को