कर्नाटक: जेडीएस का भाजपा को समर्थन देना मसला नहीं, हमारा एजेंडा सभी अयोग्य विधायकों की हारः सिद्धारमैया


मैसूर। कर्नाटक उपचुनाव से ठीक पहले कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने कहा कि हमारा एजेंडा अयोग्य करार दिए गए सभी विधायकों को हराना है। इसी साल 29 जुलाई को 17 बागी विधायकों को विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने अयोग्य करार दे दिया था और इनके मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने तक चुनाव लड़ने पर भी रोक लगा दी थी। इसी महीने सुप्रीम कोर्ट ने विधायकों को अयोग्य करार देने का विधानसभा स्पीकर का फैसला बरकरार रखा, लेकिन कहा कि अयोग्य विधायक चुनाव लड़ सकते हैं। सिद्धारमैया ने कहा- अभी यह मसला नहीं है कि कुमारस्वामी की जनता दल सेकुलर (जेडीएस) हमें समर्थन देती है कि नहीं, या वह भाजपा को समर्थन देती है कि नहीं। अभी हमें यह निश्चित करना है कि अयोग्य करार दिए गए सभी विधायक उपचुनाव में हार जाएं। चुनाव के बाद भाजपा के पास 105 का आंकड़ा है। उन्हें सरकार बचाने के लिए और विधायकों का समर्थन चाहिए होगा। भाजपा को 6 और विधायकों का समर्थन चाहिए होगा: कर्नाटक की 17 सीटों में से 15 पर 5 दिसंबर को उपचुनाव होने हैं। मस्की और राजराजेश्वरी नगर सीटों का मामला अभी हाईकोर्ट में लंबित है इसलिए अभी यहां चुनाव नहीं होंगे। विधानसभा में अभी बहुमत का आंकड़ा 105 है। लेकिन, उपचुनाव के बाद यह 111 हो जाएगा। ऐसे में सरकार बनाने के लिए भाजपा को 6 और विधायकों का समर्थन चाहिए होगा। सर्वोच्च न्यायालय ने स्पीकर के फैसले को सही बताया था: सुप्रीम कोर्ट ने 13 नवंबर को कहा था कि स्पीकर का विधायकों को कर्नाटक विधानसभा के पूरे कार्यकाल के लिए ही अयोग्य ठहराना गलत है। जस्टिस रमना की बेंच ने कहा कि विधायक 5 दिसंबर को होने वाला उपचुनाव लड़ सकते हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ