मालपुरा के गांवों में झोला छाप डाक्टरों का जाल

निजी संवाददाता


मालपुरा। मालपुरा क्षेत्र में सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली के चलने दर्जनो से भी अधिक गांवों में झोलाछाप डाक्टर रोगियों का उपचार कर के उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इन कथित चिकित्सकों के कई अस्पताल में प्रतिबंधित दवाईया रखने की जानकारी मिली है विशेषकर ग्रामीण गांवों में रहने वाले रोगियों के स्वास्थ्य से हो रहे खिलवाड़ को रोकने में संविधत विभाग नाकाम रहा है ओर हर गांवों में जाल फैला हुआ है झोलाछाप डाक्टरों का ओर सरकार द्वारा कई गांवों में उप स्वास्थ्य केंद्र संचालित किए हुए है लेकिन इन स्वास्थ्य केन्द्रों पर सुविधा ओ के अभाव में मरीजों को लाभ नहीं मिल पाता है। सूत्रों के अनुसार यह भी जानकारी सामने आईं कि कुछ सरकारी चिकित्सा कमियों से पर्दे के पीछे इन झोलाछाप डाक्टरों की सांठ गांठ रहती हैं ओर एक वजह यहे की मरीज इनकी कलीनिको पर लगे प्रदर्शन बोडें पर अनजान डिग्री वाले अशिक्षित चिकित्सकों के नाम देखकर भी रोगी भ्रमित होते हैं इन झोलाछाप डाक्टर के पास जाने वाले रोगी से फिस वसूलने का पैमाना रोगी के लगने वाले इंजेक्शन ग्लुकोज बोतल अन्य दवाईयों पर निर्भर होता है उपचार का चिकित्सा पत्र भी रोगियों को नहीं दिया जाता है ओर बेखोफ हो कर अपनी दुकानें घेडलले से चला रहे हैं इन गांवों में पेचवर व लावा, डिग्गी नुकड व सोडा व लाबाहसिहं व सांस, कचोलिया व हर गांवों व ढाणीयो में क्लिनिके चला रहे हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ