राजस्थान में 30 वर्ष से कम उम्र की 7 महिलाएं बनीं अध्यक्ष, 49 निकायों में से 20 पर महिलाएं काबिज


जयपुर। प्रदेश के 49 निकायों में कांग्रेस ने 37 में को जारी हुए। तीन निकायों रूपवास, मकराना और अपना बोर्ड बना लिया। भाजपा महज 12 शहरों में निम्बाहेड़ा में कांग्रेस के अध्यक्ष पहले ही निर्विरोध सिमट गई। इसमें खास बात यह है कि 49 में से 20 निर्वाचित हो चुके थे। मंगलवार को जिन 46 पदों पर महिलाएं निर्वाचित हुई हैं। इनमें भी 7 महिलाएं निकायों के रिजल्ट जारी हुए उनमें से 22 में सत्ता 30 वर्ष से कम आयु की हैं। तीन नगर की चाबी निर्दलीय पार्षदों के पास थी। निगमों में से उदयपुर और बीकानेर में मतदान में अधिकांश निर्दलीय सदस्यों भाजपा के मेयर बने तो भरतपुर में ने कांग्रेस के बोर्ड बनवाने में अहम कांग्रेस का। साल 2014 के चुनाव से भूमिका निभाई। सरकारी रिकॉर्ड में यूं तुलना की जाए तो भाजपा को इस बार तो भरतपुर की रूपवास नगर पालिका 28 निकायों का घाटा हुआ है, जबकि से भाजपा की बबीता तथा जैसलमेर कांग्रेस को 31 निकायों का फायदा झुंझुनूं नगर परिषद नगर परिषद से निर्दलीय हरवल्लभ हुआ है। 2014 में हुए 46 निकायों के अध्यक्ष नगमा बानो। कल्ला जीते हैं, लेकिन इन दोनों ने परिणामों में से भाजपा 40 बोर्ड पर काबिज हुई थी। जीतने के तुरंत बाद ही कांग्रेस ज्वाइन कर ली। ऐसे प्रदेश के 49 निकायों में से 46 के परिणाम मंगलवार में कांग्रेस का आंकड़ा 37 तक पहुंचा है।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ