सरयू आरती में उत्सव जैसा माहौल हिंदुओं ने कहा... मस्जिद बनाने के लिए - हम भी चंदा देंगे


एजेंसी अयोध्या।


134 साल पुराने अयोध्या केस पर फैसले के दूसरे दिन रविवार शाम सरयू आरती में उत्सव जैसा माहौल नजर आया। आम दिनों से अधिक भीड़ आरती में पहुंची। घाटों के पास चाय की दुकानों पर फैसले की चर्चा हो रही थी। राममंदिर निर्माण के लिए तो हिंदुओं में उत्साह था ही, उन्होंने यह भी कहा कि मस्जिद निर्माण के लिए भी हम चंदा देंगे। लोगों ने कहा कि अब अयोध्या राजनीति से दूर होगी और यहां विकास होगा। रविवार की शाम सरयू के घाटों पर फैसले की चर्चा शाम के 5.30 बज रहे थे और सरयू आरती का समय हो रहा था। घाट के पास ही चाय की दुकान पर कुछ लोग फैसले पर चर्चा कर रहे थे। जितेंद्र पांडेय ने कहा- इससे बढ़िया फैसला कुछ नहीं हो सकता है। अब हमें अपना फर्ज निभाना है। मैं मस्जिद की तामीर के लिए रविवार शाम सरयू आरती में सामान्य दिन से ज्यादा भीड़ दिखाई पड़ी। विकल्प त्रिपाठी ने कहा- मुझे उत्सुकता थी कि शाम को सरयू की आरती कैसे होगी? उसकी भव्यता क्या होगी? क्या-क्या तैयारियां होंगी? मैं अवध विश्वविद्यालय का एमटीए (मास्टर ऑफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन) का छात्र हूं। मेरे साथ साथी भी आए आरती देखने आए थे। सरयू की आरती तैयारी की अहम जिम्मेदारी निभाने वाले आंज्नेय सेवा समिति के अध्यक्ष महंत शशिकांत का कहना था- सुबह से ही लोग आरती के समय की जानकारी हमसे पूछ रहे थे कि शाम की आरती तय समय पर होगी या कुछ समय बदला है? भीड़ सामान्य दिनों से ज्यादा थी, ऐसे तो मेला और अन्य उत्सव में देखने को मिलता था। चंदा दूंगा। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला संयोजक कासिफ शेख ने ऐलान किया कि मंदिर निर्माण के लिए 1.51 लाख रु. चंदा दूंगा। फैसला के बाद अब क्या सोचते हैं? इस सवाल पर लोगों ने कहाअयोध्या अब राजनीति से अब दूर हो गई है। अब यहां विकास होगा और अयोध्या वासियों के लिए बहुत ही सुखद दिन आ गए हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ