विचारों की आजादी का उत्सव 'जयरंगम'


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। गाँधीजी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष में गांधी जी को समर्पित होगा जयरंगम उत्सवश्री गुरु नानक देव जी के 550 वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष में प्रथम दिन के प्रथम सत्र में उन्हें समर्पित नाटक सतनाम वाहेगुरु की कृष्णायन, जेकेके में होगी विशेष प्रस्तुति। इस बार का जयरंगम सुप्रसिद्ध रंगकर्मी व कलाविद स्वर्गीय गिरीश कर्नाड को भी समर्पित किया गया है। गुरुवार को गुलाबी नगरी जयपुर में कल से शुरू होने वाले सुप्रसिद्ध जयरंगम उत्सव के संदर्भ में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की गई जिसमें सुप्रसिद्ध व वरिष्ठ रंगकर्मी, लेखक, फिन्सटा निर्देशक भानु भारती जी मुख्य अतिथि थे और उनके साथ दिपक गैरा जी मंचासीन थे। जयरंगम उत्सव की सचीव रुचि भार्गव नरूला व दिपक गैरा जी ने आठ दिवसीय जयरंगम उत्सव के दैनिक कार्यक्रमों व आयोजनों से अवगत करवाया साथ ही बताया कि इस बार जयरंगम में सभी विषयों व मुद्दों से सम्बंधित नाटकों की प्रस्तुति होगी। भानु भारती जी ने जयरंगम उत्सव की प्रशंसा करते हुए कहा कि जयपुर थिऐटर गतिविधियों का हब बनता जा रहा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में दीपक गैरा जी ने बताया कि 22 को गिरीश कर्नाड द्वारा लिखित व भानु भारती द्वारा निर्देशित नाटक 'तुग़लक़' की विशेष स्क्रीनिंग के आगाज होगा। 22-29 नवंबर आठ साथ इस उत्सव का आगाज होगा। 22-29 नवंबर आठ दिवसीय आयोजन कुल 25 नाटकों की प्रस्तुति होगी।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ