अब ग्लैमरस किरदारों को नहीं करना चाहतीं करिश्मा


टीवी शो 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' से चर्चा में आईं करिश्मा तन्ना ने कई शोज में काम किया है। यह अलग बात है कि सभी में उनका किरदार काफी ग्लैमरस रहा। अब वह अपनी इस छवि को बदलने के लिए तैयार हैं। करिश्मा ने कहा, 'मुझे अब कुछ अलग और चुनौतीपूर्ण काम करने का मन है-जैसे पुलिस या किसी विकलांग व्यक्ति की भूमिका या एक ऐसी प्रेम कहानी, जिसमें मेरा किरदार ग्लैमरस न हो। अब आगे मैं ग्लैमरस किरदार नहीं निभाना चाहती।' __35 वर्षीय करिश्मा तन्ना ने लंबे समय तक चलने वाले धारावाहिकों में काम किया है। वह कहती हैं, 'मेरा आखिरी शो 'कयामत की रात' था। मुझे पता था कि यह एक ऐसी सिरीज थी, जिसे सिर्फ 10 महीने तक प्रसारित होना था। तभी मैंने उसमें काम किया। यह कोई डेली सोप नहीं था, लिहाजा यह एक एक्टर या दर्शक के लिए बोरियत भरा नहीं था। अब मैं वेब सिरीज में काम करना चाहती हूं।' करिश्मा मानती हैं कि अब टीवी एक्टर के लिए अलग-अलग माध्यमों में काम करना आसान है। वह कहती हैं, 'टीवी के कलाकारों को अब फिल्म और वेब सिरीज में खूब काम मिल रहा है। पहले ऐसा नहीं था। अब एक ऐसे दौर में जब हॉलीवुड के कलाकार भी हर तरह के माध्यम के लिए काम कर रहे हैं तो भारत कैसे इससे अछूता रहता।' तो क्या करिश्मा यह सोचती हैं कि डिजिटल माध्यम फिल्मों और टीवी पर भारी पड़ने वाला है? इस सवाल के जवाब में वह कहती हैं, 'हां, इसका फलक बड़ा है लेकिन अभी टीयर-2 और टीयर-3 शहरों में यह उतना बड़ा माध्यम नहीं बना है। वेब अभी मेट्रो शहरों में ही ज्यादा चर्चित है। छोटे शहरों के लोग अभी भी टीवी ज्यादा देखना चाहते हैं। मैं अब भी यह महसूस करती हूं कि टीवी, वेब से कहीं ज्यादा बड़ा है।' वह मानती हैं कि बहुत से निर्देशक, एक्टर और लेखक भी रचनात्मक स्वतंत्रता के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म की ओर मुड़ रहे हैं। वह कहती हैं कि टीवी में आज भी आप किसिंग सीन्स नहीं दिखा सकते, क्रूरता नहीं दर्शा सकते, जबकि वेब में इन चीजों को लेकर ज्यादा स्वतंत्रता है। यही वजह है कि अब रचनात्मक आजादी के लिए ज्यादा से ज्यादा लोग वेब माध्यम की तरफ मुड़ रहे हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ