अपने फिल्मी करियर को लेकर आथिया बोलींमुझे कोई जल्दबाजी नहीं है


बॉलीवुड में लगभग तीन फिल्में कर चुकी अभिनेत्री आथिया शेट्टी फिल्म इंडस्ट्री को अच्छी तरह जान चुकी हैं। शायद इसलिए भी क्योंकि उनके पिता सुनील शेट्टी भी इस इंडस्ट्री के उन लोगों में से एक हैं, जिन्होंने इस इंडस्ट्री को कई बेहतरीन फिल्में दी हैं। 'हीरो' (2015) जैसी मसाला फिल्म से अपने अभिनय की शुरूआत करने के बाद, 27 वर्षीय आथिया ने फिल्म 'मुबारकां' (2017) में अभिनय कियाइसके दो साल के बाद, वह हाल ही में रिलीज हुई फिल्म 'मोतीचूर चकनाचूर' में अभिनेता नवाजद्दीन सिद्दीकी के साथ स्क्रीन साझा करती नजर आईं। जब उनसे अन्य युवा अभिनेताओं के विपरीत इतने लंबे समय के बाद फिल्म करने के बारे में पूछा गया, तो आथिया ने कहा, ह्यसच कहूं, तो मुझे वह काम नहीं मिल रहा था, जो मैं करना चाह रही थी। जो किरदार मुझे मिल रहे थे, उनमें से कोई भी ऐसा नहीं था, जिन्होंने मुझे उत्साहित किया हो। मुझे लगता है कि अकसर हम भूल जाते हैं कि इस इंडस्ट्री में हमें धैर्य रखने की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। यह चीज एक कलाकार के लिए काफी कारगर होती है। मैं इस बात को समझती हूं, इसलिए यह चीज मुझे कभी परेशान नहीं करती कि अन्य लोग एक वर्ष में एक से अधिक फिल्में कर रहे हैं, जो मैंने अपने पूरे करियर में अब तक की। बकौल आथिया, 'हर किसी की यात्रा अलग-अलग होती है, हर किसी का अपना समय और स्थान होता है। मैं धीमी गति से आगे बढ़ने में विश्वास रखती हूं। मैं ऐसी भूमिकाएं करना चाहती हूं, जो मुझे चुनौती दें और मुझे एक कलाकार के रूप में विकसित होने में मदद करें। किसी के पीछे भागने में मेरी दिलचस्पी नहीं है। मेरा व्यक्तित्व ऐसा नहीं है। जब मैं अपने काम पर जाती हूं, तो मैं चाहती हूं कि मैं उसे करते हुई खुशी महसूस करूं।' अपनी पहली दो फिल्मों में आथिया ने ग्लैमरस भूमिकाएं निभाई थीं। इसलिए इस बार उन्होंने अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ आई फिल्म 'मोतीचूर चकनाचूर' में ग्लैमर विहीन भूमिका निभाई। इस बारे में वह कहती हैं, 'मैं बहुत सहज थी कि मैं ग्लैमरस नहीं हूं। जब आप एक किरदार निभा रहे होते हैं, तो ये चीजें मायने नहीं रखतीं। मेरा किरदार फैशनेबल था, लेकिन उसमें मैं ग्लैमर या मेकअप को लेकर एकदम चिंतित नहीं थी।'


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ