कोटा : अधीक्षण खनिज अभियंता ने मांगी दो लाख रुपए की रिश्वत, एक लाख लेते रंगे हाथों गिरफ्तार


निजी संवाददाता


कोटा। शहर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए खनन विभाग में कार्यरत अधीक्षण खनिज अभियंता (एसएमई) को 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई डीएसपी तरूणकांत सोमानी के निर्देशन में एसीबी की टीम ने की। एसीबी ने यह कार्रवाई आरोपी एमएसई के आरकेपुरम, जैन मंदिर के पास. कोटा शहर स्थित आवास पर की। वहां एसीबी ने नोट गिनने की मशीन भी मंगवाई। माना जा रहा है कि तलाशी के दौरान मीणा के घर पर काफी जमा धन मिल सकता है। डीएसपी तरूणकांत सोमानी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी पन्नालाल मीणा (54) है। वह भीलवाड़ा में बिजौलिया तहसील में गांव थड़ोदा के रहने वाले है। वे कोटा शहर में खान एवं भूविज्ञान विभाग में अधीक्षण खनिज अभियंता है। इसी कार्यालय के समीप आरोपी पन्नालाल का सरकारी आवास भी है। इसके खिलाफ केशोरायपाटन जिला बूंदी हाल कैथूनीपोल, कोटा निवासी राजेंद्र कुमार शर्मा ने एसीबी में 22 दिसंबर को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि परिवादी राजेंद्र के पास लाडपुरा तहसील, कोटा रेवेन्यू क्षेत्र में खनिज सेंड स्टोन व मेसेनरी स्टोन का अधिक अधिशुल्क संग्रहण का ठेका था। जिसकी अवधि 31 मार्च 2019 को समाप्त होने के बाद परिवादी के ठेके की धरोहर राशि व बैंक गारंटी की अलग अलग एफडीआर रिलीज करवाने के लिए राजेंद्र कुमार ने आरोपी पन्नालाल मीणा से मुलाकात की। तब एसएमई पन्नालाल ने एफडीआर रिलीज करने की एवज में दो लाख रूपए की रिश्वत की मांग की। जिस पर 22 दिसंबर को सत्यापन करवाया तो आरोपी पन्नालाल एक लाख रूपए लेने पर सहमत हो गया। रिश्वत की यह रकम बुधवार, 25 दिसंबबर को लेना तय हुआ। जिसमें परिवादी राजेंद्र शर्मा रिश्वत की रकम लेकर पन्नालाल मीणा के सरकारी आवास पर पहुंचा। जहां रिश्वत लेते ही ईशारा मिलने पर एसीबी टीम ने एसएमई पन्नालाल मीणा को ट्रेप कर लिया।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ