टाइटन ग्रुप के प्रबंध निदेशक होंगे 'जेजेएस 2019' के चीफ पोस्ट


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। जैम्स एवं ज्वैलरी क्षेत्र में देश के नंबर वन बी2बी एवं बी2सी शो - 'जयपुर ज्वेलरी शो' (जेजेएस) में इस वर्ष टाइटन ग्रुप के प्रबंध निदेशक, सी.के. वेंकटरमण चीफ गेस्ट होंगे। आज यह जानकारी जेजेएस चेयरमेन, विमल चन्द सुराणा ने दी। सुराणा ने आगे बताया कि गत 15 वर्षों से जेजेएस के मुख्य अतिथि रत्न एवं आभूषण क्षेत्र के विशिष्ठ शख्सियत होते हैं। इस वर्ष शुक्रवार 20 दिसम्बर को सीतापुरा स्थित जेईसीसी में प्रातः 10 बजे आयोजित जेजेएस के उद्घाटन सत्र में टाइटन ग्रुप के प्रबंध निदेशक ना केवल चीफ गेस्ट के तौर पर शिरकत करेंगे बल्कि इस सेक्टर से जुड़े सभी लोगों को अपने ज्ञान एवं विचारों से अवगत करायेंगे। इस अवसर पर जैम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) के चेयरमेन, श्री प्रमोद अग्रवाल और ऑल इंडिया जैम एंड ज्वेलरी डोमेस्टिक काउंसिल (जीजेसी) के चेयरमेन, श्री अनंत पद्मनाभन 'गेस्ट ऑफ ऑनर' भी शामिल होंगे। जेजेएस सचिव राजीव जैन ने बताया कि इस वर्ष 'इनस्पायर टू क्रीएट अ फैशन स्टेटमेंट' थीम के साथ आयोजित जेजेएस दिसंबर शो के रूप में दुनिया भर में अपनी खास पहचान बना चुका है, जिसमें शीर्ष जवाहरात कारोबारी अपनी नयी डिजायन और बेहतरीन कारीगरी को प्रदर्शित करते हैं और देश- विदेश के सालाना कलैण्डर में जेजेएस को स्थान दिया जाता है। जेजेएस सचिव राजीव जैन ने आगे बताया कि इस वर्ष जेजेएस में 800 से अधिक बूथ लगाए जाएंगे। इनमें से 188 बूथ्स जैमस्टोन्स की होंगी जबकि 535 बूथ्स पर ज्वैलरी प्रदर्शित की जायेंगी। इसी प्रकार अलाईड मशीनरी, कास्ट्यूम ज्वैलरी एवं आर्टिफैक्टस की 62 बूथ्स होंगी। जेजेएस मीडिया प्रवक्ता अजय काला के अनुसार जेजेएस में बूथ्स की संख्या के साथ-साथ एरिया में भी बढ़ोतरी यह स्पष्ट दर्शाती है कि जेजेएस में ना केवल पुराने एग्जीबिटर्स लगातार जुड़े हुए हैं, बल्कि नए एग्जीबिटर्स भी जयपुर के इस ब्रान्ड में भाग लेने में गहरी रुचि दिखा रहे हैं। जेजेएस-2019 में लगभग 100 नए एक्जीबीटर्स भाग लेगे। अब जेजेएस को एमएसएमई द्वारा भी अनुमोदित किया गया है। एमएसएमई द्वारा रजिस्टर्ड एग्जीबिटर्स एमएसएमई के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ