97 साल की महिला बनी सरपंच,विकास की सोच


सीकर/ जिले के  नीम का थाना की पुराना बास ग्राम पंचायत से विद्या देवी 97 साल की उम्र में सरपंच का चुनाव लड़ कर सरपंच बनी गांव की बुजुर्ग महिलाओं के पास बैठकर विकास का मॉडल बताया।  स्वच्छता, स्वच्छ पानी एवं विधवा पेंशन जैसे मुद्दों पर विद्या देवी चुनाव मैदान में  रही है. इस दौरान उन्होंने बताया कि गांव के रास्ते साफ होने चाहिए, लोगों को पीने का पानी मिले, विधवा व बुजुर्ग महिलाओं को पेंशन मिले. बता दें कि उनके पति स्व.मेजर शिवराम सिंह 55 साल पहले निर्विरोध सरपंच चुने गए थे.पति और ससुर दोनों रह चुके सरपंच
वहीं सरपंच उम्मीदवार विद्या देवी ने बताया कि गांव में ब्याह कर आई तब से राजनीति देखी है. उनके ससुर सूबेदार सेडूराम 20 साल सरपंच रहे. अब पौता मोंटू वार्ड 25 से जिला पार्षद है. वह प्रदेश की पहली ऐसी महिला है जो उम्र के इस दौर में विकास का सपना लेकर चुनावी दंगल में हैं.। विद्या देवी के विजयी होने पर कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह था।
97 वर्ष की उम्र में यह जीत दर्ज की है।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को