इंडियन ऑयल के मैनेजर की पत्नी और बच्चे की हत्या


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। राजधानी की पॉश सोसाइटी यूनिक टॉवर में रहने वाले इंडियन ऑयल कारपोरेशन (आईओसी) के मैनेजर रोहित तिवारी के फ्लैट में घुसकर मंगलवार को पत्नी श्वेता की हत्या कर दी गई। बदमाशों ने उनके बेटे श्रीयम (21 महीने) को अगवा कर लिया। रोहित का दावा है कि अपहरणकर्ताओं ने बेटे को छोड़ने के एवज में 30 लाख रुपए फिरौती मांगी थी। वारदात के बाद 100 पुलिसकर्मियों की टीम बच्चे को बचाने की कोशिश में जुटी थी। लेकिन बुधवार दोपहर उसका शव सोसाइटी के पीछे जंगल में मिला। इसबीच, श्वेता के पिता ने बेटी और नाती की मौत के लिए रोहित को जिम्मेदार ठहराया। उनका आरोप है कि रोहित दहेज को लेकर बेटी के साथ मारपीट करता था। श्वेता की हत्या के बाद बदमाश उसका मोबाइल भी साथ ले गए। रोहित के मुताबिक, इसी फोन से उसे फिरौती के लिए मैसेज भेजा गया था। इसके बाद उसने कॉल बैक कर अपहरणकर्ताओं से कहा- मैं 30 लाख रु. देने को तैयार हूं। एक बार बच्चे की शक्ल दिखा दो। लेकिन बदमाशों ने इससे इनकार करते हुए कहा था कि परसों तक गांधीनगर रुपए लेकर आ जाना। हालांकि, पैसे किस जगह आकर देने हैं, ये नहीं बताया और फोन काट दिया।


श्वेता के पिता ने रोहित पर गंभीर आरोप लगाएकानपुर की रहने वाली श्वेता और रोहित (दिल्ली) की शादी जनवरी 2011 में हुई थी। इसके 7 साल बाद उनका बेटा हुआ, दंपति ने उसका नाम श्रीयम रखा। वारदात की जानकारी मिलने के बाद जयपुर पहुंचे श्वेता के पिता सुरेश मिश्रा का आरोप है कि शादी के बाद दहेज को लेकर रोहित और श्वेता के बीच मनमुटाव शुरू हो गया था। उन्होंने बेटी और नाती की मौत के लिए रोहित को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने दावा किया कि 5 जनवरी को रोहित ने श्वेता से मारपीट की और रात को फोनकर हत्या करने की बात कही थी। इसके बाद श्वेता ने पिता से पुलिस को शिकायत देने की बात कही थी।


श्वेता के सिर पर मूसली से सिर वार किया, चाकू से गला रेता पुलिस के मुताबिक, महिला के शव के पास अदरक कूटने की मूसली मिली, जिस पर खून के निशान हैं। इससे महिला के सिर पर ताबड़तोड़ वार किए गए। एक चाकू भी बरामद किया गया है, जो शव से कुछ दूर ही पड़ा था। माना जा रहा है कि इसी चाकू से महिला की गर्दन रेती गई। पुलिस को शक है कि किसी करीबी ने वारदात को अंजाम दिया।


मोबाइल में पैटर्न लॉक था, करीबी ने फिरौती का मैसेज भेजा! श्वेता के मोबाइल पर पैटर्न लॉक था। ऐसे में पुलिस का मानना है कि वारदात में कोई नजदीकी शामिल है। अब इस दिशा में जांच हो रही कि जब बदमाशों को फिरौती के लिए बच्चे का अपहरण करना था तो श्वेता की हत्या क्यों की? ऐसे में पुलिस मान रही है कि या तो श्वेता ने अपहरणकर्ताओं को पहचान लिया था या फिर बदमाश हत्या करने की नीयत से ही आए थे। फ्लैट में रखा सारा सामान सुरक्षित है और श्वेता से संघर्ष भी नहीं हुआ।


सीसीटीवी खंगाले, डॉग स्क्वॉयड संघ रहा गुनाह की गंध यूनिक टॉवर कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए हैं। एक कैमरा उसी फ्लोर पर भी था, लेकिन उसे लिफ्ट में शिफ्ट कर दिया गया था। आशंका है कि हत्यारा सीढ़ियों से ही ऊपर आया होगा। मुख्य गेट पर लगे कैमरे काम कर रहे हैं। ऐसे में अब पुलिस टीमें इनकी जांच कर रही हैं। पुलिस को एक संदिग्ध कार के नंबर भी मिले हैं, जिसकी जांच कर रही है। डॉग स्क्वॉयड ने भी सोसायटी में खड़ी एक कार के चार बार चक्कर काटे, पुलिस ने उसकी भी पड़ताल की।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को