जज्बे को सलाम...


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। जयपुर में जगह जगह स्थित झुग्गी झोंपड़ियों में अपना समय व्यतीत कर रहे बच्चों को करीब 20 दिन से भी ज्यादा समय से निरन्तर खुद की और से एवं अन्य बहुत से दानदाताओं से उपलब्ध गर्म कपड़े और खाने पीने की चीजें जगह-जगह निवास कर रहे बच्चों को उपलब्ध करवाई जा रही हैं। धर्म के इस काम को अंजाम दे रही हैं सामाजिक कार्यकर्ता अंतिमा इन्दौरिया। इस समाजसेवा का काम बिना किसी लोभ-लालच और स्वार्थ के कार्य करने के जज्बे को सलाम। अंतिमा इन्दौरिया का कहना है कि मेरा ज्यादा से ज्यादा समय इन बच्चों के लिए जगह जगह से गर्म कपड़े और भोजन की व्यवस्था करने में बीतता है, लेकिन सच कहूं तो मुझे इस काम को करने में दिली खुशी मिलती है।. मैं चाहती हूँ कि मेरे साथ ऐसा काम करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोग जुडें ताकि इन बच्चों के चेहरे पर हमारी वजह से एक मुस्कुराहट आ सके। इस नेक कार्य के लिए सभी धर्म और समाज के लोगों द्वारा सहयोग किया जा रहा है और मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करती हूँ। आज उन सभी की वजह से मुझमें एक हिम्मत और जुनून है जो मैं इन असहायों के लिए कुछ करने का प्रयत्न कर पा रही हूँ।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को