सरेआम उड़ रही है नियमों की धज्जियां


कार्यालय संवाददाता


रामगंजमंडी। उपखण्ड क्षेत्र में पेट्रोलियम पदार्थ की बिक्री के मामले में नियमों का उल्लंघन बेरोक-टोक किया जा रहा है। दे रहा है। आप को बता दे की पेट्रोलियम पदार्थों को लेकर नियम है कि अधिकृत पेट्रोल पंपों के अलावा कहीं पेट्रोल नहीं बिक सकता। साथ ही इसे केवल गाड़ियों के टैंक में ही भरा जा सकता है, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं दिखता है। जहां एक ओर आम वाहन चालकों से सख्ती बरती जा रही है और बगैर हेलमेट के पेट्रोल भी नहीं दिया जा रहा है। वहीं पेट्रोलियम पदार्थों के काला बाजारी के लिए नियमों को ताक पर रख दिया गया है। पम्प से ज्यादा कीमत पर बिकते तेल की बिक्री को रोकने वाला कोई नहीं: दरअसल क्षेत्र में पेट्रोलियम पदार्थ की बिक्री के मामले में नियमों का उल्लंघन दे रहा है। इस ओर कोई ध्यान नहीं किया जा रहा है। और इसमें प्रशासन अपनी आंखें बंद किए बैठा है। जो डीजल-पेट्रोल केवल पंपों पर ही बेचा जा सकता है, उसकी क्षेत्र में दुकाने चल रही है। पंप से ज्यादा कीमत पर बिकते इस तेल की बिक्री को रोकने वाला कोई नहीं है। गांवो में अधिकतर यह काला बाजारी परचून व अन्य दुकानों पर देखने को मिल रही है।


दुकानदार राजस्व को लगा रहे चुनाः यह सबकुछ आम लोगों के सामने ही बिकता है, लेकिन पुलिस-प्रशासन द्वारा इस मामले पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती। वहीं थोड़ी सी कमाई के लिए दुकान में बेचे जाने वाले इस तेल से लोगों की जान को भी खतरा रहता है। दुकानदार न केवल राजस्व को चूना लगा रहे बल्कि एक बड़े हादसे को दावत दे रहे हैं। फिर इसके खिलाफ किसी तरह का एक्शन नहीं लिया जा रहा है। पैट्रोल पंप से केन में लाए तेल के गोरखधंधे से जहां वाहनों की सेहत खराब हो रही तो ग्राहकों की जेब भी ढीली हो रही है। समय नहीं होने या फिर पेट्रोल पंप दूर होने की स्थिति में लोग यहां से पेट्रोल खरीदते हैं। ये दुकानें आवासीय क्षेत्र में किसी बारुद से कम नहीं हैं। यहां सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है। दरों में अंतर और मिलावटः क्षेत्र में पैट्रोल का मूल्य एक निर्धारित मूल्य के हिसाब से प्रति लीटर है। जो खेत में दुकानों में 90 से 100 रुपए तक बिक रहा हैजबकि पेट्रोल का मूल्य इतना अधिक नहीं है। लोगों की मानें तो केरोसिन मिलावट होने से इंकार नहीं कर सकते। वाहन को नुकसान होने के साथ आर्थिक और मानसिक परेशानी होती है।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ