उपभोक्ता अधिकार सेवा एवं सहायता केंद्र का आसलपुर गांव पंचायत  क्षेत्र में कार्यालय खोला गया।


उपभोक्ता को एक ही छत के नीचे शिकायत होने से पहले वस्तु एवं सेवा खरीदने की जानकारी देने के लिए व शिकायत होने पर उसका निराकरण करने के लिए उपभोक्ता सेवा उपभोक्ता अधिकार सेवा एवं सहायता केंद्र की स्थापना गांव आसलपुर के मेन  जोबनेर रोड पर की गई है।
 उपरोक्त जानकारी देते हुए श्री जयपाल कुमावत तहसील प्रभारी ने बताया कि इस केंद्र का इंचार्ज श्री संतोष कुमार प्रजापत को बनाया गया है।



 उद्घाटन के अवसर पर अखिल राजस्थान उपभोक्ता संगठन महासंघ के अध्यक्ष श्री विजेंद्र प्रकाश हलचल ने उपभोक्ता संरक्षण के विषय में विस्तार से चर्चा कर उपस्थित जनसमुदाय को उनके अधिकारों वह उपभोक्ता अधिकार सेवा एवं सहायता केंद्र की महत्ता के विषय में बताया।
 उन्होंने बताया उपभोक्ता को हर क्षेत्र में आज शोषण का सामना करना पड़ रहा है चाहे बैंक, बीमा, रेल ,बस   सेवा हो या खाद्यान्न से संबंधित सेवा हो  दैनिक उपभोग की वस्तुएं हो उपभोक्ता शोषण का शिकार होते आसानी से देखा जा सकता है। ऐसे माहौल में  बचाव ही  एकमात्र रास्ता नजर आता है। जिससे उपभोक्ता अपनी खरी कमाई का पैसा सही जगह पर देकर सही वस्तु व सेवा कर सकता है।



 श्री गौरी शंकर सैनी निदेशक उपभोक्ता अधिकार सेवा एवं सहायता केंद्र ने बताया कि उपभोक्ता बाजार का राजा होता है उसको कोई भी वस्तु एवं सेवा खरीदने पर बिल की मांग अवश्य करनी चाहिए बिल लेना उसका अधिकार है। बिल लेने से ही वस्तु खरीदने का साक्ष्य बन पाता है।



 इस अवसर पर पंचायत समिति सदस्य श्री शोजी राम ने भी पंचायत स्तर पर इस तरीके के उपभोक्ता सेवा एवं सहायता केंद्र खुलने का स्वागत किया और ग्रामीणों को सेवा मिलने के लिए आश्वस्त किया।
 इस अवसर पर श्रीमती सावित्री देवी ,श्रीमती केसर देवी, श्री कजोड़ मल  प्रजापत, श्री राम दयाल कुमावत, श्री रमेश चंद्र गुर्जर, श्री देवनारायण गुर्जर, श्री गोविंद प्रसाद सारस्वत, श्री हनुमान प्रसाद वर्मा, श्री मोहनलाल कुमावत, श्री भोमाराम कुमावत, श्री राम दयाल कुमावत, श्री लोकेश सैनी एवं विभिन्न गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन