अमेरिकी राष्ट्रपति ने 13 बार मोदी का नाम लिया, कहा... सत्ता संभालने के बाद से पाकिस्तान से आतंकवाद के खात्मे के लिए जुटा


एजेंसी


अहमदाबाद। अमेरिका का राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को परिवार समेत अहमदाबाद पहुंचे। 22 किमी का रोड शो किया और साबरमती आश्रम भी गए। मोटेरा स्टेडियम में 'नमस्ते ट्रम्प' कार्यक्रम में 27 मिनट का भाषण दिया। इसमें उन्होंने __ 13 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जिक्र किया। मोदी की तारीफ में 2.30 मिनट बोले। ट्रम्प ने कहा कि भारत और अमेरिका दोनों ही आतंकवाद और उसकी विचारधारा को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। जब से मैंने राष्ट्रपति पद संभाला है, तब से मेरी सरकार पाकिस्तान की जमीन से आतंकवाद खत्म करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा, "हम 8 हजार मील की


उन्होंने कहा, "हम 8 हजार मील की दूरी तय करने के बाद यह बताने आए हैं कि अमेरिकियों को भारत से प्यार है। 5 महीने पहले अमेरिका ने आपके महान प्रधानमंत्री का स्वागत किया था। आज भारत ने हमारा दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में स्वागत किया है। खूबसूरत और नए मोटेरा स्टेडियम में आकर संबोधित करना मेरे लिए गर्व की बात है।" उन्होंने कहा, "भारत का हमेशा हमारे दिल में विशेष स्थान रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जीवन इस महान देश की यात्रा को भी रेखांकित करता है। वे उनके पिता के साथ चाय बेचते थे। वे इसी शहर में एक कैफेटेरिया में काम करते थे। दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक चुनाव में वे जीतकर आए हैं। आप सिर्फ गुजरात के लिए गर्व नहीं हैं, बल्कि आप इस बात के प्रतीक हैं कि भारतीय जो चाहें, उसे कैसे भी पूरा सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कहानी असाधारण तरीके से तरक्की करने की है। यही भारत की भी कहानी है। भारत दुनियाभर में इंसानियत के लिए एक उम्मीद है। यह दुनिया का सबसे नायाब देश है।" 'भारत-अमेरिका दो अलग देश, लेकिन आत्मा एक जैसी' "मोदी से हर कोई प्यार करता है, लेकिन मैं आपको बता रहा हूं कि वे बहुत टफ हैं। जो देश अपने लोगों को सभी बंधनों से मुक्त रखता है और उन्हें उनके सपने पूरे करने देता है, वही देश महान होता है। भारत ऐसे देशों में से एक है। प्रधानमंत्री यह अच्छी बात है। हमारे दो देशों के बीच कुछ फर्क है, लेकिन हमारी आत्मा एक जैसी है। स्वामी विवेकानंद ने इसका एक बार जिक्र किया था। इसी आत्मबल के साथ भारत के लोग हिम्मत बनाए रखते हैं और पूरी दुनिया को एक नई रोशनी दिखाते हैं।" है। 


"यहां का बॉलीवुड क्रिएटिविटी का उदाहरण है। भांगड़ा, रोमांस, ड्रामा और क्लासिक का उदाहरण 'शोले' और दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' फिल्म है। सचिन तेंडुलकर से लेकर विराट कोहली तक भारत महान खिलाड़ियों का देश है। सरदार पटेल को इस देश ने ऊंची स्टैच्यू बनाकर श्रद्धांजलि दी है। दिवाली को इस देश के लोग बुराई पर अच्छाई के जीत के पर्व के रूप में मनाते हैं। रंगों का खूबसूरत त्योहार होली है। भारत हर व्यक्ति की गरिमा का सम्मान करने वाला देश है। यहां करोड़ों हिंदू-मुस्लिम, सिख, जैन, ईसाई और बौद्ध एकसाथ रहते हैं।"


ट्रम्प ने चरखा चलाया, फिर विजिटर बुक में लिखा- माय ग्रेट फंड मोदी, बैंक यू! नई दिल्ली/अहमदाबाद. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को अहमदाबाद पहुंचे। एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रम्प को गले लगाकर स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेता रोड शो करते हुए साबरमती आश्रम पहुंचे। यहां करीब 20 मिनट रुके। ट्रम्प और मोदी ने बापू की तस्वीर पर सूत की माला चढ़ाई। राष्ट्रपति और पत्नी मेलानिया ने चरखा चलाया और गांधी के तीन बंदरों वाली थ्योरी समझी। इसके बाद ट्रम्प ने विजिटर बुक में लिखा'मायग्रेट फंड मोदी, बँक यू।' ट्रम्प का बतौर राष्ट्रपति यह पहला भारत दौरा है। आमतौर पर साबरमती आश्रम आने वाले विदेशी नेता विजिटर बुक में महात्मा गांधी के बारे में कछ लिखते हैं, लेकिन ट्रम्प ने यहां महात्मा गांधी का जिक्र करने की बजाय प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद कहा। इसे लेकर ट्रम्प सोशल मीडिया पर ट्रोल भी हो रहे हैं। हालांकि मोदी सरकार में साबरमती आश्रम आए चार अन्य विदेशी राष्ट्राध्यक्षों में से जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने भी महात्मा गांधी का कोई जिक्र नहीं किया था। आबे ने विजिटर बुक में अपने हस्ताक्षर के साथ महज लव एंड बैंक्यू लिखा था। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे सितंबर 2017 में पत्नी अकई समेत 2 दिनों के दौरे पर अहमदाबाद पहुंचे थे। उन्होंने मोदी के साथ 8 किमी लंबा रोड शो भी किया था।


आगरा दौरा: ताजमहल देखने पहुंचे ट्रम्प, 3000 कलाकारों ने किया स्वागत आगरा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प परिवार साथ सोमवार शाम को अहमदाबाद से आगरा पहुंचे। वे यहां ताजमहल का दीदार कर रहे हैं। ट्रम्प ने पली मेलानिया के साथ ताजमहल के कैंपस में वॉक किया और फोटो सेशन कराया। टूरिस्ट गाइड ने ट्रम्प और फर्स्ट लेडी को ताजमहल से जुड़े किस्सों की जानकारी दी। इससे पहले आगरा पहुंचने पर एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी ने ट्रम्पको रिसीव किया। वहां कलाकारों लोकनृत्य करके ट्रम्पका स्वागत किया। इस दौरान करीब 7-8 मिनट तक ट्रम्प परिवार ने कलाकारों का नृत्य देखा और उसे सराहा। ट्रम्प की यात्रा को खास बनाने के लिए एयरपोर्ट से ताजमहल तक के रास्ते में 21 जगहों पर 3000 कलाकार भारतीय कला और संस्कृति से उन्हें रूबरू कराया। ट्रम्प के दौरे के चलते सोमवार दोपहर 12 बजे से ताजमहल आम पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था। आगरा के मेयर नवीन जैन ट्रम्पको 600 ग्राम वजनी और 12 इंच लंबी चांदी की चाबी, संगमरमर से बना ताजमहल का मॉडल और जरदोजी से तैयार मोर कृति भेंट करेंगे। शहर के मेयर उन्हें आगरा के मुखिया होने के तौर पर प्रतीक स्वरूप चाबी सौंपेगे। ट्रम्प 2 घंटे आगरा रहेंगे। शाम 6.45 बजे वह दिल्ली के लिए निकल जाएंगे।


3 घंटे में मोदी-ट्रम्प 7 बार गले मिले, 9 बार हाथ मिलाया, ट्रम्प ने भाषण में 50 बार इंडिया और मोदी ने 29 बार अमेरिका बोला एजेंसी नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे के पहले दिन उनके और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच केमिस्ट्री देखने को मिली। दोनों नेता 5 महीने पहले हाउडी मोदी कार्यक्रम में मिले थे और इस बार अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में नमस्ते ट्रम्प कार्यक्रम में। ट्रम्पका विमान एयरफोर्स वन सोमवार सुबह 11 बजकर 36 मिनट पर अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंच गया था। यहां प्रधानमंत्री मोदी ने उनका स्वागत किया। टम्प और फर्स्ट लेडी मेलानिया 3 घंटे तक अहमदाबाद में रहे। इन तीन घंटों में मोदी-ट्रम्प 7 बार गले मिले और 9 बार हाथ मिलाया। 6 बार गले मिले, 5 बार हाथ मिलायाः अहमदाबाद उतरते ही मोदी-ट्रम्प पहले गले मिले और फिर हाथ मिलाया। उसके बाद ट्रम्प साबरमती आश्रम पहुंचे। यहां भी मोदी ट्रम्प से पहले ही पहुंच गए थे। 11 मिनट तक ट्रम्प-मेलानिया यहां रुके, लेकिन इस बीच मोदी-टम्प ने न ही हाथ मिलाया और न ही गले मिले। इसके बाद मोदी-ट्रम्प अलग-अलग मोटेरा स्टेडियम में आयोजित 'नमस्ते ट्रम्प कार्यक्रम में पहुंचे। इस कार्यक्रम में मोदी-ट्रम्प 6 बार गले मिले. 5 बार हाथ मिलाया। उसके बाद ट्रम्प अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से वे आगरा के लिए निकल गए। भाषण के 7 पॉइंट्स


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को