ब्रेस्ट कैंसर पर इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस की शुरूआत एक नजर मां का टेस्ट पॉजिटिव तो, बेटी में पहले ही पता लगेगा ब्रेस्ट कैंसर


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। अगर मां को ब्रेस्ट कैंसर हो चुका है तो अत्याधुनिक जीन टेस्टिंग से बेटी में संभावित ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को पहले ही मालूम कर लिया जाएगा। इसके लिए नई जीन टेस्टिंग बीआरसीए टेस्ट तकनीक आई है जिससे मरीज की बेटी को ब्रेस्ट कैंसर के बारे में पहले ही आगाह किया जा सकता है।


यूरोपियन सोसायटी ऑफ सर्जिकल ऑन्कोलॉजी और सीतादेवी हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वाधान में यहां गुरूवार से ललित होटल में शुरू हुई तीन दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन्कोप्लास्टी ब्रेस्ट सर्जरी में ऐसी ही नई तकनीकों पर चर्चा हुई। कॉन्फ्रेंस के आयोजन सचिव डॉउत्तम सोनी ने बताया कि कॉन्फ्रेंस में दुनियाभर से 100 से अधिक ब्रेस्ट कैंसर एक्सपर्ट शामिल हुए हैं जो ब्रेस्ट कैंसर के इलाज और निदान में आई अत्याधुनिक तकनीकों के बारे में जानकारी देंगेपहले दिन ब्रेस्ट सर्जरी में मस्टेक्टॉमी, नोडजुवेंट थेरेपीसर्जरी फॉर यग वूमेन विथ ब्रेस्ट कैंसर जैसे विषयों की जानकारी दी सहित और कुछ जटिल केसों पर चर्चा की गई। कॉन्फ्रेंस में इंग्लैंड की डॉलिंडा वाइल्ड, बेल्जियम के डॉफिलिप पोरमैन, टिबोर कोवैक्स सहित अन्य विशेषज्ञों ने विभिन्न सत्रों में जानकारी दी।


सत्रों में जानकारी दी। बेटी में टल सकता है कैंसर का खतराः इंग्लैंड से आए डॉ. आशुतोष कोठारी ने बताया कि मरीज को कैंसर अग्रेसिव या नॉर्मल है, इन सब बातों का ध्यान रखते हुए उसकी बीआरसीए नामक जीन टेस्ट किया जाता है। अगर यह पॉजिटिव आता है तो मरीज की बेटी का भी समान टेस्ट किया जाता है। यदि बेटी को भी यह टेस्ट पॉजिटिव आता है तो एक्सपर्ट उन्हें पहले से ब्रेस्ट रिमूवल सर्जरी की सलाह देंगे जिससे उन्हें भविष्य में होने वाले ब्रेस्ट कैंसर से बचाया जा सके।


कम उम्र के मरीजों के लिए नीयोड्जुवेंट थेरेपी: डॉ. फीयोना मैक्नील ने बताया कि अगर महिला को कम उम्र में ही ब्रेस्ट कैंसर हो गया है और ट्यूमर का आकार बड़ा है तो उसका ब्रेस्ट बचाने के लिए नीयोड्जुवेंट थेरेपी आ गई है। इसके जरिये पहले दवाओं और रेडियोथेरेपी द्वारा ट्यूमर का आकार छोटा किया जाता है, उसके बाद ही ट्यूमर की सर्जरी की जाती हैइससे महिला का बेस्ट बचाया जा सकता है।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को