गुस्साई भीड़ व पुलिस में लाठी भाटा जंग


टोंक। जिले के निवाई पुलिस थानान्तर्गत झिलाय पुलिया के पास बुधवार को मोटरसाईकिल के बजरी के डंपर ने टक्कर मार दी जिसमे नला निवासी पिता व पुत्री की दर्दनाक मौत हो गई वही बाईक चालक की पत्नी घायल हो गई जिसको ईलाज के लिए निवाई से टोंक रैफर किया गया है। जिसकी इत्तला मिलते ही लोगो की भीड़ जमा हो गई जिन्होंने जाम लगा दिया वही गुस्साई भीड़ ने शव को लेकर प्रदर्शन किया। इतना ही नही गुस्साई भीड़ ने पुलिस वाहन में भी तोड़फोड़ की व पथराव किया जिससे डिप्टी अंजुम कायल सहित कई पुलिस कर्मियों के चोंटे आयी है। मामला बिगड़ता देख पुलिस ने बल प्रयोग करके भीड़ को खदेड़ा। बाद में आपसी समझाईश बाद शवो का पोस्टमार्टम कराया गया। 



प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार को नला निवासी रामजस पुत्र रामजी लाल बैरवा( 22 वर्ष )अर्पिता पुत्री रामजस (2 वर्ष ) आरती पत्नी रामजस (22 वर्ष) अपनी मोटरसाईकिल से जयपुर से गांव जा रहे थे जिस दौरान तेज गति से आ रहे बजरी के डंपर ने बाइक के टक्कर मार दी जिससे रामजस व उसकी डेढ वर्षीय हर्षिता की मोत हो गई वही डंपर सहित चालक भाग छटा। जिसकी सूचना मिलते ही भारी भीड जमा हो गई जिन्होंने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। जिनका आरोप था कि पुलिस की मिलीभगत से बजरी के वाहन चल रहे है जिससे हादसे हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि ट्रक ड्राइवर तेज आवाज में टेप बजाता हुआ आ रहा था जो सामने पुलिस की चेकपोस्ट को देख करके हडबडाहट में टकको भगा करके ले जा रहा था जिससे सामने मोटरसाइकिल सवार चपेट में आ गया जिससे रामजस व उसकी पुत्री अर्पिता की ही मौत हो गई तथा मृतक रामजस की पत्नी को गंभीर हालत में राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय निवाई भर्ती कराया गया जहां से चिंताजनक हालत में इलाज के लिए टोंक के सआदत अस्पताल में किया हैं।


आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया सड़क दुर्घटना की सूचना के बाद निवाई एसडीएम जगदीश प्रसाद बैरवा भी पहुंच गए वहीं निवाई वृताधिकारी अंजुम कायल निवाई थाना प्रभारी नरेन्द्र मीणा भी पहुंच गये लेकिन पुलिस के देरी से पहुंचने पर आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया वहीं एसडीएम की गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए तथा पथराव में कई पुलिसकर्मियों सहित थाना प्रभारी को भी चोट आई इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करके भीड़ को खदेडा। टक्कर लगने के बाद पिता और पत्री की तो मौत हो गई एवं घायल अवस्था में मृतक की पत्नी आरती करीब एक घंटे तक दर्द से तड़पती रही लेकिन समय पर पुलिस नहीं पहुंची बाद में लोगों ने एंबुलेंस की सहायता घायल आरती देवी बैरवा को अस्पताल पहुंचाया।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा,

डीएसपी हीरालाल सैनी मामले में चार पुलिस अधिकारी नपे