पुलिस ने कोर्ट में सीसीटीवी फुटेज, 100 गवाहों के बयान पेश किए, कहा... सीएए पर प्रदर्शन के दौरान शर्जील ने हिंसा भड़काई


नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जामिया इलाके में हिंसा के मामले में पुलिस ने मंगलवार को चार्जशीट पेश की। दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में सीसीटीवी फुटेज, कॉल डिटेल और 100 गवाहों के बयान पेश किए। पुलिस ने चार्जशीट में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शील इमाम और मुस्लिम संगठन पॉपुलर फंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) को हिंसा भड़काने का आरोपी बनाया है।


पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 (हत्या की कोशिश), धारा 147(दंगा भड़काना), धारा 186 (सरकारी कर्मचारियों को काम करने से रोकना), 353 (मारपीट) और धारा 427 के तहत आरोप तय किए हैं। चार्जशीट में हिंसा के दिन के सीसीटीवी फुटेज, कॉल डिटेल और 100 से ज्यादा गवाहों के बयान हैं। हिंसा के दौरान 3.2 मिमी कैलिबर की पिस्टल की गोली का खाली कॉट्रिज भी मिला है। र


चार्जशीट में जामिया के किसी छात्र का नाम नहीं 


इस मामले में अब तक 17 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इसमें से 9 न्यू पेंडस कॉलोनी और 8 जामिया नगर के हैं। चार्जशीट में जामिया मिलिया विश्वविद्यालय के किसी छात्र का नाम नहीं है। कोर्ट ने सोमवार को हुई सुनवाई के बाद जामिया हिंसा मामले में इमाम को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया था। अब इमाम को मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ