पुलिस थाने में जानकारी लेते समय मिली नजरें और हो गया प्यार वैलेंटाइन डे स्पेशल


कार्यालय संवाददाता


करौली। 14 फरवरी यानि वेलेंटाइन-डे. प्यार के नाम पर मनाया जाने वाला एक दिन वैलेंटाइन डे के मौके पर दुनिया भर में लोग प्यार की बातें कर रहे हैं. सोशल साइट से लेकर टीवी चैनलों पर प्यार करने वालों की किस्से कहानियों की चर्चा है. ऐसे में करौली जिले से एक ऐसी लव स्टोरी सामने आई है जो शायद आपके दिल को भी छू जाए. एक पत्रकार और पुलिस में तैनात पुलिसकर्मी के बीच पनपे प्यार की यह कहानी. प्यार का क्या एक ही रंग होता है...इस सवाल के जवाब में यहां लव स्टोरी से लेकर शादी तक कि अपनी कहानी बता रहा हैं.यह कपल्स. इनकी यह कहानी प्यार के एक रंग को बयां कर रही है.


हम एक-दूसरे के दिल में रहते हैं तभी तो 11 साल से साथ हैं: पुष्पेंद्र लवानिया अंकिता शर्मा की शादी 29 जुन 2009 में हुई. वेलेंटाइन डे के मौके पर अपनी लंबी शादी शुदा जिंदगी के बारे में पुष्पेंद्र लवानिया ने बताया कि-शादी से पहले गांव मासलपुर कस्बे में रहते थे और अंकिता मासलपुर थाने में पुलिस कांस्टेबल के पद पर तैनात थी. दैनिक नवज्योति अखबार मे उस समय रिपोर्टर के पद पर काम करता था.तभी न्यूज़ के चक्कर में थाने में आना जाना रहता था.न जाने क्यो थाने मे अंकिता पर उनकी नजर टीकी रहती थी.पहले तो दिल मे घबराहट थी,लेकिन एक दिन हिम्मत करके बात की तो मामला आगे बढा. धीरे-धीरे हमारे प्यार की नजदीकियां बढ़ने लगी. फिर उसी समय वैलेंटाइन डे आया तो मैंने अंकिता को गुलाब का फूल देकर अपने प्यार का इजहार किया.उन्होंने हंसी खुशी से मेरे प्यार को स्वीकार कर लिया उसके बाद हमारा प्यार परवान पर चढ़ने लगा. परिवार वालों से एक दूसरे की शादी करने की बात कही तो सामाजिक बंधन सामने आने पर परिवार वाले राजी नहीं हुए. पुष्पेंद्र ने बताया कि दोनों एक ही समाज के थे समाज के अंदर रीति-रिवाजों के अनुसार चार लोग. ग्रामीण परिवेश में इन बातों को ज्यादा तरजीह नहीं देते थे. लेकिन हमने ठान लिया था कि जीना है तो. मरना है तो एक दूसरे के साथ. जब परिवार वालों ने साथ नहीं दिया तो दोनों ने मिलकर कोर्ट मैरिज करने का निश्चय किया और 29 जून 2009 को कोर्ट में जाकर शादी कर ली. उसके बाद से हम एक दूसरे के साथ रहने लगे.हालांकि इस बीच में सामाजिक बंधनों का काफी सामना करना पड़ा. लेकिन रहना तो साथ था. फिर करौली में आकर रहने लग गएहमारी शादी को 11 साल हो गए.हम एक दूसरे से शादी करके बहुत खुश हैं एक लड़का और एक लङकी है. अंकिता ने बताया कि अपने जीवन की सारी बातें बता दी थी. साथ ही पुष्पेंद्र ने भी अंकिता को बता दिया था कि वह एक दूसरे से ही शादी करेंगे. अंकिता ने बताया कि दुनिया में जिस किसी को भी प्यार है वे खुलकर इसका इजहार करें उन्होंने यह भी कहा कि प्यार का इजहार करने में इस बात का ख्याल जरूर रखें कि इससे सामने वाले को कोई कष्ट न पहुंचेआज हम हंसी खुशी के साथ रहते है. इसलिए आज तक हम साथ हैं.एक दूसरे की बीमारी, दुख-सुख सब में साथ. रही बात एक-दूसरे के लिए कुछ करने की तो मुझे नहीं लगता है हमने ऐसा किया है क्योंकि ये मुझमें में है मैं इन में हूं


पुष्पेंद्र लवानिया का मानना है कि वेलेंटाइन -डे तो एक दिन आता है लेकिन ये तो हर दिन अपने साथी के लिए प्यार, जिम्मेदारीसमर्पण, कर्तव्य, सहयोग और सबसे महत्वपूर्ण उनके साथ हर कदम पर होने का एहसास कराते हैं


प्रेम विवाह से बढ़ती है एक दुसरे मे नजदीकियां अंकिता शर्मा का मानना है कि आज के समय में ज्यादातर यह देखने में मिलता है कि लड़कियां और लड़की एक दूसरे को समझ नहीं पाते हैं परिवार वालों के दबाव में वह शादी कर लेते हैं और समझ नहीं पाने के कारण वह एक दूसरे के साथ हंसी-खुशी जीवन नहीं बिता पाते या फिर एक-दूसरे दूसरे से अलग हो जाते हैं. मेरा मानना है कि अगर लड़की लायक लडके को पंसद करके शादी करे तो.आज के कल्चर मे उत्पन्न हो रही परेशानियों से बचा जा सकता है.


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ