भाजपा के राजेंद्र गहलोत, ओंकार सिंह व कांग्रेस के वेणुगोपाल और नीरज डांगी ने पर्चा भरा, भाजपा ने दो उम्मीदवार उतारकर चौंकाया


कार्यालय संवाददाता


जयपुर। भाजपा ने अंतिम क्षणों में चौंकाते हुए राज्यसभा के लिए राजेंद्र गहलोत के साथ ही ओंकार सिंह लाखावत को भी चुनाव मैदान में उतार दिया। भाजपा की तरफ से दो उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारने से मुकाबला अब रोचक हो गया है। वहीं, भाजपा के उम्मीदवारों लाखावत और राजेंद्र गहलोत के साथ कांग्रेस के दोनों उम्मीदवार केसी वेणुगोपाल और युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नीरज डांगी ने शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल कर दिया। कांग्रेस के वेणुगोपाल और डांगी के नामांकन दाखिल करने के समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, सह प्रभारी विवेक बंसल समेत मंत्री व कई विधायक मौजूद थे। वहीं लाखावत और राजेंद्र गहलोत के पर्चा भरने के समय भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया सहित कई विधायक मौजूद रहे। भाजपा ने बुधवार को राजेंद्र गहलोत नाम का ऐलान किया था। इसके बाद कांग्रेस ने गुरुवार देर शाम को अपने प्रत्याशियों की घोषणा की। लेकिन अंतिम समय में भाजपा ने ओकार सिंह लाखावत नाम की घोषणा कर दी।राजस्थान में तीन सीटों पर राज्यसभा चुनाव की वोटिंग 26 सूत्रों के अनुसार डांगी के नाम को लेकर कांग्रेस में एकराय नहीं बन रही थी। सिरोही जिले की रेवदर विधानसभा सीट से तीन बार चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन वे हर बार हारे। ओबीसी से आने वाले डांगी मुख्यमंत्री गहलोत के बेहद करीबी माने जाते हैं।


अब क्या होगा राजस्थान में तीन सीटों के लिए चुनाव होना है। आंकड़ों के हिसाब से कांग्रेस के दो और भाजपा का एक उम्मीदवार चुना जाना तय माना जा रहा था। भाजपा के लाखावत को डमी उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतारने से मुकाबला रोचक हो गया है। नामांकन से नाम वापसी की आखिर तारीख 18 है। अगर 18 मार्च तक लाखावत नाम वापिस नहीं लेते हैं तो चुनाव होना तय है। लाखावत को चुनाव मैदान में उतारने का फैसला भाजपा की विधायक दल की बैठक में किया गया था। लाखावत पहले भी राज्यसभा सांसद रह चुके हैं।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को