कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमित गुप्ता ने दिए डॉक्टर्स को दिए टिप्स हार्ट अटैक के मरीज को आवश्यक है बेहतर प्राइमरी टीटमेंट


निजी संवाददाता 


किशनगढ़। हार्ट अटैक के मरीज को अगर पास के सेंटर पर ले जाया जाए तो उसे जल्दी सेजल्दी से प्राइमरी टीटमेंट देने से बड़े सेंटर तक पहुंचने में उसकी स्थिति को स्थिर रखा जा सकता है। छोटे सेंटर पर अच्छे से ट्रीटमेंट न मिल पाने पर कई केसों में मरीज की रास्ते में ही मौत हो जाती है या बड़े सेंटर में पहुंचने तक उसकी गंभीर स्थिति हो जाती है। यह बात जयपुर के सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमित गुप्ता ने बताई। किशनगढ़ के होटल जेनएक्स में शैल्बी हॉस्पिटल की ओर से आयोजित सीएमई कार्यक्रम में डॉ. अमित ने शहर के डॉक्टर्स को कार्डियोलॉजी में आए नए एडवांसमेंट के बारे में जानकारी दी। मरीज को जरूर दें डिस्प्रिन टैबलेटः डॉ. अमित गुप्ता ने बताया कि हार्ट अटैक के मरीज को आवश्यक रूप से डिस्प्रिन दवा दी जानी चाहिए। कई बार इसकी जगह ईकोस्प्रिन दे दी जाती है जोकि ठीक नहीं है। डिस्प्रिन दवा मरीज के मुंह में रखते ही घुल जाती है और अपना असर दिखाना शुरू कर देती है। इसके अलावा उन्होंने प्राइमरी स्टेज पर दी जाने वाली कुछ नई दवाओं के बारे में जानकारी दी। इस दौरान वरिष्ठ श्वास रोग विशेषज्ञ डॉ. पंकज गुलाटी ने थोरेकोस्कापी के बारे जानकारी दी। सीएमई में 60 से अधिक डॉक्टर्स शामिल हुए।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को