कोरोना के लक्षणों व बचाव के तरीकों की मिली जानकारी पूर्णिमा यूनिवर्सिटी में कोविड 19 पर आयोजित किया गया अवेयरनेस सैशन


जयपुर, 7 मार्च। दुनियाभर में कोरोना वायरस (कोविड 19) के बढ़ते खतरे से स्टूडेंट्स को जागरूक करने के उद्देश्य से पूर्णिमा यूनिवर्सिटी में शनिवार को 'कोविड 19 — फैक्ट्स एंड फिक्शन : द करंट सिचुएशन इन इंडिया' विषय पर अवेयरनेस सैशन आयोजित किया गया। इसमें जोधपुर स्कूल आॅफ पब्लिक हैल्थ के ग्लोबल पब्लिक हैल्थ के प्रोफेसर डॉ. दीपांजन सुजित रॉय ने स्टूडेंट्स व फैकल्टी मेंबर्स को कोराना से जुड़े तथ्यों की जानकारी दी।


डॉ. दीपांजन ने बताया कि खासी, सांस लेने में तकलीफ व लगातार बुखार रहना कोरोना के सामान्य लक्षण हैं। उन्होंने ये लक्षण पाए जाने पर तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करने की सलाह दी। उन्होंने इसकी रोकथाम के संभावित तरीके बताते हुए कहा कि कोरोना एक संक्रामक रोग है, इसलिए इससे संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचना चाहिए। उन्होंने लोगों को मास्क व अल्कोहल वाले हैंड वॉश का उपयोग करने, खांसते व छींकते समय मुंह और नाक को ढकने और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने की सलाह भी दी।


डॉ. दीपांजन ने कहा कि कच्चे व बिना पके हुए एनिमल प्रोडक्ट्स के सेवन से भी बचना चाहिए। अंत में उन्होंने सैशन के सभी पतिभागियों को सुरक्षित व स्वस्थ जीवनशैली अपनाने व इस घातक वायरस से मुकाबला करने के लिए अन्य लोगों में जागरूकता फैलाने की महत्ता को भी रेखांकित किया। सैशन के पश्चात क्वेश्चन—आसंर राउंड हुआ, जिसमें प्रतिभागियों ने डॉ. दीपांजन सुजित रॉय से सवाल पूछकर अपनी जिज्ञासा को शांत किया।


इस अवसर पर यूनिवर्सिटी के प्रेसीडेंट डॉ. सुरेश चंद्र पाधे, डायरेक्टर (फाइनेंस एंड एडमिन) एमकेएम शाह एवं डायरेक्टर राहुल सिंघी भी उपस्थित थे।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को