मेरे पिता और सौतेले पिता ने जीवन के प्रति मेरी समझ को प्रभावित किया : दीया मिर्जा


अभिनेत्री दीया मिर्जा ने अपने माता-पिता के अलगाव के दौर को याद किया, जब वह काफी छोटी थी और दुखी भी थी। हालांकि उनका कहना है कि उनके सौतेले पिता 'एक उदाहरण पेश करने वाले इंसान' थे, जिन्हें अच्छे से पता था कि परिस्थिति को कैसे संभालना है। अभिनेत्री ने पिंकविला डॉट कॉम से कहा, एक बच्चे के रूप में मुझे याद है कि मेरे माता-पिता दोनों किस तरह के संघर्ष से गुजर रहे थे और एक साथ न रहने के विचार में ही समाधान खोज रहे थे। वे एकदूसरे की बहुत देखभाल करते थे, वे एक-दूसरे से प्यार करते थे। वे बस एक साथ नहीं रह सकते थे, क्योंकि वे जिंदगी से अलग चीजें चाहते थे और कभी-कभी, ऐसा होता है। ___ अपने सौतेले पिता के बारे में दीया ने कहा, रमेरे सौतेले पिता उदाहरण पेश करे वाले इंसानों में से थे। उन्हें अपने पिता के रूप में स्वीकार करने में मुझे बहुत समय लगा। लेकिन उन्होंने समझदारी दिखाते हुए मेरे साथ दोस्ती की थी। 18 साल की उम्र में हैदराबाद छोड़ने और उनकी देखभाल से दूर आने से ज्यादा किसी चीज ने मेरा दिल नहीं तोड़ा। मैंने जन्म देने वाले पिता को तब खो दिया जब मैं कुछ भी नहीं थी और मैंने 23 साल की उम्र में अपने सौतेले पिता को भी खो दिया। दोनों पुरुषों ने जीवन के प्रति मेरी समझ को काफी प्रभावित किया।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को