स्वर्गीय बेटे के जन्म दिन पर पीपीई किट्स भेंट किये

 स्वर्गीय  बेटे के जन्मदिन पर पीपीई  किट्स भेंट किये
भुवन जोशी 
नई दिल्ली, 26 अप्रैल । जब कोख से जन्मी सन्तान की राक्षस रूपी कैंसर से अकाल मृत्यु 14 वर्ष की आयु में ही हो जाये तो उस समय खासकर जन्म देने वाली माँ का दिल किस स्थिति में होता है , इसकी कल्पना मात्र से ही जहन सिहर उठता है । इसी प्रकार की अनहोनी एमटीएनएल दिल्ली (टीवाई), जीएम कार्यालय में पीए के पद पर कार्यरत श्रीमती विजय लक्ष्मी के साथ भी विगत चार वर्ष पूर्व घटी थी, लेकिन उन्होने बताया कि वह हर सम्भव अपने स्वर्गवासी बेटे की याद में उनके जन्मदिवस पर नेक कार्य करती रहती हैं ।
चूँकि वर्तमान में कोरोना जैसे भयंकर वायरस ने पूरे विश्व को अपने क्रूर हाथों में जकड़ रखा है और भारत में भी इस समय आम जनजीवन को जटिल समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । लोग बेरोजगारी, भुखमरी के कगार पर हैं, सरकारी-गैर सरकारी मशीनरी हर सम्भव अपने देश की जनमानस की किसी न किसी रूप से सेवा में लगी हुई है । इसी क्रम में विजय लक्ष्मी भी अपने स्वर्गवासी बेटे की याद में कोरोना जैसी महामारी में देश की सेवा कर रहे स्वास्थ विभाग के कर्मचारियो के लिये 150 पीपीई किट दान की हैं। उन्होने ये किट अपनी सैलरी के पैसों से अपने स्वर्गवासी पुत्र के जन्मदिवस पर दान की हैं। हालांकि उन्होंने यह भी बताया कि उनको यथासमय अभी सैलरी नही मिल रही है लेकिन अपनी जमा पूंजी से ही वह ये नेक कार्य कर रही हैं ।
उन्होंने बताया कि ये किट उन्होंने राजीव गाँधी कैंसर अस्पताल, दिलशाद गार्डन, दिल्ली के कोविड स्पेशल सेल में स्टोर इंचार्ज को प्रदान की हैं । इसके साथ ही उन्होंने बताया है वह सप्ताह में दो दिन दिल्ली पुलिस के जवानों को जो इस भरी गर्मी में हमारी सेवा में तत्परता से डटे हैं उनको रोड पर कोल्ड ड्रिंक की बोतलें भी प्रदान करने का बेहतर कार्य कर रही हैं । इसके साथ ही उनका यह भी कहना है कि वो गायों और अन्य पशुओं की सेवा भी करती हैं। उनके इस संकट के समय देश सेवा के लिए  बेहतरीन कार्य करने की सोच दूसरों के लिये भी वास्तव में एक प्रेरणादायी सोच है।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ