देवालय बंद, मदिरालय चालू ऐसा क्यों-स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज

 देवालय बंद, मदिरालय चालू, ऐसा क्यों?स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज                                                                                                                                  संत समाज ने सरकार के प्रति किया रोष प्रकट।


पिछले 45 दिन से पूरे देश में लोग डाउन होने की वजह से मंदिर देवालय श्रद्धालुओं के लिए बंद पड़े हैं वहीं दूसरी ओर सरकार के द्वारा आदेश देकर आपने श्रद्धालुओं की आस्था को ठेंगा दिखाते हुए शराब के ठेके नशेड़ीओं के लिए चालू कर दिए। इस बात पर संत समाज ने केंद्र सरकार व राज्य सरकार से नाराजगी जाहिर की है। संत समाज के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं रघुनाथ धाम के पीठाधीश्वर श्री श्री 1008 स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने संतो की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से नाराजगी जाहिर करते हुए रोष प्रकट किया है। महाराज ने बताया की कोरोना जैसी महामारी में आप के आदेश को मानते हुए पिछले 45 दिनों से सभी धर्मगुरुओं ने मंदिरों को श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए और जनता से भी अपील की कि आप घर बैठ कर ही पूजा आराधना करें। लेकिन केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार ने बिना सोचे समझे फैसला लेते हुए नशे के केंद्र शराब के ठेके चालू कर दिए। इस बात पर संत समाज में रोष व्याप्त है संत समाज प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री से अपील करता है कि शराब के इन ठेकों को तुरंत प्रभाव से बंद करने के आदेश दिए जाए अन्यथा जनता के द्वारा 45 दिन तक घरों में जो बैठ के संयमता रखी गई, उनकी उस मेहनत पर पानी फिर जाएगा।                              स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से शराब पर आपके आदेश देने के पश्चात शराब के ठेके खोल दिए गए तथा इसके पश्चात मीडिया के माध्यम से देखा जा रहा है कि जगह जगह नशे के केंद्र शराब की दुकानों के बाहर बहुत भयंकर भीड़ लगी हुई है और शराब खरीदने वालों ने नियमों को ताक में रखकर सरकारी आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए ना ही सोशल डिस्टेंस की पालना की है और ना ही चेहरे पर मास्क लगा रखा है जिससे इस कोरोना वायरस को फैलने में मजबूती मिल रही है। इससे अच्छा तो अगर आप हमें मंदिर खोलने की इजाजत देवें तो हम आपको यह विश्वास भी दिलाते हैं कि हम पूर्ण रूप से सोशल डिस्टेंस का पालन करवाने में आपकी मदद करेंगे। वहीं पिछले 45 दिनों से लोग डाउन होने की वजह से कर्मकांडी विद्वान,ब्राह्मण, पुजारी सहित सेवादारों सहित कई व्यक्तियों का जीविकोपार्जन करना मुश्किल हो रहा है और आप ऐसे गलत फैसले ले रहे हैं इसकी संत समाज निंदा करता है।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

चीन में फैले वायरस से हुई महामारी की भविष्यवाणी सत्य साबित , पूरे विश्व में केवल भारत देश के दिलीप नाहटा ही ऐसे ज्योतिषी बने , जिन्होंने 2020 में चीन में आए वायरस की सबसे बड़ी भविष्यवाणी सटीक रूप से लिखी थी