कोरोना योद्धा:फर्ज-कर्तव्य और देश सेवा का जज्बा

कोरोना योद्धा : फर्ज-कर्तव्य और देश सेवा का जज्बा
                      (गेबाराम चौहान )
सायला 13 मई । कोरोना वायरस जैसी महामारी के बीच इंसानी जीवन की रक्षा के लिये डाक्टर, पुलिसकर्मी, पत्रकार और सफाई कर्मी अपनी जान पर खेलकर ड्यूटी को अंजाम देने में लगे हुए हैं। कोरोना महामारी के खिलाफ इस लड़ाई में ऐसे योद्धा हैं जो देशभक्ति और सेवा का जज्बा लिए अपने कर्तव्यों का निवर्हन करने में पीछे नहीं हैं। जालोर जिला वर्तमान परिस्थिति में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में ऑरेंज जॉन में है। जिले में सप्ताह भर पहले जहाँ कोरोना वायरस का एक भी केस नही था। वही कुछ दिन पहले सायला के वीराना में एक साथ आए दो पोज़िटिव केस ने सबको चिंता में डाल दिया। वही बुधवार को क्षेत्र में ओर तीन केस आ गए। वहीं बात अगर जिले की करें तो एक साथ 4 पोज़िटिव से शुरू हुआ यह सिलसिला जारी है। बुधवार को जिले में एक साथ 28 केस आए। जिससे पूरे प्रशासन में खलबली बचा दी। ऐसे में जालोर जिला अब ऑरेंज जॉन में तेजी से बढ़ रहा है। देश के विभिन्न क्षेत्रों से जिले में आए प्रवासियों के पोज़िटिव पाए जाने से अब खतरा काफी बढ़ गया है। ऐसे में अब सावधानी की सख्त जरूरत है। इन विकट परिस्थितियों में कोरोना योद्धा भी अपने फर्ज-कर्तव्य और सेवा का जज्बा लिए डटकर इस महामारी को हराने में लगे हुए हैं।
ऐसे ही एक योद्धा हैं पोषाणा के सरकारी अध्यापक भैराराम डांगी। जो सायला उपखण्ड क्षेत्र के दुदवा ग्राम में कोरोना योद्धा के रूप में अपनी ड्‍यूटी दे रहे हैं।
जिले में कोरोना के तांडव के बीच हमारे संवाददाता गेबाराम चौहान ने ड़ागी से की खास बातचीत, आप भी पढ़िए बातचीत के कुछ खास अंश-
सवाल - आप एक कोरोना योद्धा के रुप में अपना कर्तव्य निभा रहे है, कभी किसी मुश्किलों का सामना करना पड़ा?
डांगी - शुरू शुरू में थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। अचानक लॉक डाउन हो गया था। लोगों को जानकारी नही थी तो लोग लॉकडाउन में भी बाहर आ जाते थे। लेकिन अब लोग इस बीमारी के बारे में जानने लगे हैं, तो उनको समझाने की जरूरत नहीं पड़ती। लोग स्वतः ही घरों में ही रहते हैं और आवश्यक कार्य से अगर बाहर आते है तो भी सोशल डिस्टनसिंग का पूरा ख्याल रखा जा रहा हैं।
सवाल- आप अपने परिवार और ड्यूटी में सामंजस्य कैसे बनाकर रखते हैं?
डांगी- देश सेवा का जज्बा ही अपने परिवार व ड्यूटी में सामंजस्य बनाए रखता है। परिवार व प्रशासन का पूर्ण सहयोग मिल रहा है। जिससे हमारा हौसला ओर बढ़ रहा हैं।
सवाल- जिस तरह से कोरोना वारियर्स मेहनत कर रहे है उनके लिए आप क्या कहना चाहेंगे ?
डांगी- जिस तरह से कोरोना वारियर्स मेहनत कर रहे है, वो सराहनीय है। इस वैश्विक महामारी में कोरोना वारियर्स एक योद्धा के रूप में कार्य कर रहे हैं। में तो यही कहना चाहूंगा कि अगर देश सेवा के लिए कुछ भी करना पड़े तो हमें तैयार रहना चाहिए।
सवाल- इस लॉकडाउन को और अधिक बढ़ाया जाना सम्भावित है तो आमजन की मुश्किलें और बढ़ जाएगी तो क्या होगा ?
डांगी- हमें सरकार के हर आदेश का पालन करना चाहिए। सरकार के हर फैसले में हमें प्रशासन का साथ देना चाहिए। आमजन को होने वाली आम समस्याओं के समाधान हेतु सरकार भी प्रयासरत है और भामाशाहों का भी सहयोग मिल रहा है। जिससे हर जरूरतमंद परिवार की आवश्यकतानुसार मदद की जा रही है। वैसे अगर देशसेवा के लिए अगर थोड़ी बहुत मुश्किलों का सामना करना भी पड़े तो हंसकर उन मुश्किलों में जीना सीखना चाहिए।
सवाल- एक कोरोना योद्धा के रूप में आप कैसा महसूस कर रहे हैं?
डांगी- मुझे गर्व हो रहा है कि मुझे भी इस वैश्विक महामारी में देशसेवा का अवसर मिला है।
सवाल- एक कोरोना योद्धा होने के नाते संकट के समय में आप आम जनता को क्या संदेश देंगे?
डांगी- मैं आमजन से निवेदन करना चाहूंगा कि आप सभी घर में ही रहे, अतिआवश्यक न होने तक घर से बाहर नहीं निकले। इस संकट के समय में हम सबकी व सरकार की कोरोनो से लड़ने में मदद करें। समस्त कोरोना वारियर्स की मदद करे, उनका सम्मान करें, उनका हौसला अफजाई करे। अपने आस पास का कोई भी परिवार, मूकबधिर पशु, पक्षी भूखा नहीं रहे, उसका विशेष ध्यान रखे। साफ सफाई का विशेष ध्यान रखे। मास्क पहने, यथासंभव जितनी हो सके उतनी मदद करे और इस संकट की घड़ी में देश को उभारने में मदद करे।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

चीन में फैले वायरस से हुई महामारी की भविष्यवाणी सत्य साबित , पूरे विश्व में केवल भारत देश के दिलीप नाहटा ही ऐसे ज्योतिषी बने , जिन्होंने 2020 में चीन में आए वायरस की सबसे बड़ी भविष्यवाणी सटीक रूप से लिखी थी