राजस्थान ब्राह्मण एकता मंच की पुजारियों को जरूरतमंद की श्रेणी में लेने की मांग को मानने पर जयपुर कलेक्टर एवं राज्य सरकार का आभार

   राजस्थान ब्राह्मण एकता मंच की पुजारियों को जरूरतमंद की श्रेणी में लेने की मांग को मानने पर जयपुर कलेक्टर एवं राज्य सरकार का आभार                                                                                            जयपुर 17 मई। सरकार ने पुजारियों पर भी ध्यान दिया, इसके लिए राजस्थान ब्राह्मण एकता मंच की ओर से राजस्थान सरकार एवं जयपुर जिला कलेक्टर बधाई के पात्र हैं। ज्ञात हो कि गत 29 अप्रैल को ब्राह्मण एकता मंच के संयोजक वरिष्ठ पत्रकार उमेंद्र दाधीच ने प्रदेश स्तर पर सरकार का ध्यान पुजारियों पर भी हो को लेकर पत्र के माध्यम से सरकार एवं मीडिया का ध्यान आकर्षित किया था पत्र में लिखा था लॉक  डाउन के चलते काफी दिन हो चुके हैं सरकार और सामाजिक संगठनों द्वारा गरीब परिवारों के लिए मदद का अभियान चलाया जा रहा है। किन्तु समाज में एक ऐसा वर्ग भी है जो मंदिरों में पूजा करके ही अथवा पूजा पाठ करके अपनीआजीविका  चलाता है। लॉक डाउन में सारे मंदिर बंद है। एवं ब्राह्मणों द्वारा यजमान के यहां पूजा पाठ यज्ञ हवन के कार्यक्रम भी नहीं हो पा रहे हैं।अतः पंडितों का एक बहुत बड़ा वर्ग आर्थिक कठिनाइयों के दौर से गुजर रहा है। ना तो वह मजदूरों की श्रेणी में आता है नहीं निर्धन की श्रेणी में आता है। यह वर्ग समाज काएक सम्मानित और प्रणम्य  वर्ग होता है, जिस पर ना तो सामाजिक संगठनों का नहीं शासन प्रशासन का ध्यान जा रहा है। इसलिए यह वर्ग प्रतिष्ठा तथा सम्मान का मारा हुआ होने के कारण किसी के सामने हाथ भी नहीं फैला सकता। इसलिए इस वर्ग की चिंता पूरी गंभीरता के साथ करना चाहिए। तथा इनके सम्मान को बनाए रखते हुए इन्हें मदद की सख्त से सख्त आवश्यकता है, जिम्मेदार इस ओर ध्यान देवें विशेष कर जनप्रतिनिधि और जिला कलेक्टर को इस विषय में जल्द से जल्द सोचना चाहिए।                                                                                           इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए राजस्थान ब्राह्मण एकता मंच के महासचिव डॉ सुरेंद्र शर्मा ने जयपुर जिला कलेक्टर डॉक्टर जोगाराम को 29 अप्रैल रात्रि 11.50 बजे व्हाट्सएप किया, पत्र की गंभीरता को देखते हुए जिला कलेक्टर ने उसी वक्त रात 12.18 बजे महासचिव को सूचित करते हुए लिखा "can we discuss tomorrow"। तदुपरांत वरिष्ठ पत्रकार उमेंद्र दाधीच एवं डॉ सुरेंद्र शर्मा जिला कलेक्टर को सूचना देते रहे। जिसका परिणाम है पंडितों को भी जरूरतमंदों की सूची में डाल कर उन का मान बढ़ाया एवं मंच की प्रमुख मांग को मान कर राजस्थान सरकार ने सहिष्णुता दर्शायी  है।                                          इसके लिए मंच ने सरकार का आभार प्रकट कर राज्य के सभी. मंदिरो, पूजा पाठी व कर्मकांडी ब्रह्मणो, आश्रमो में इस आदेश की पालना कराने का आग्रह कर सरकार के फैसले की सराहना करते हुए प्रशासन को  बधाई का  पात्र बताया  है। जयपुर जिला कलेक्टर डॉक्टर जोगाराम जिन्होंने संघठन की उक्त मांग को आगे बढ़ाकर हम पर उपकार किया।मंच के पदाधिकारियों ने इस आदेश की पालना सही प्रकार से कराने के लिए पंचायत स्तर पर अधिकारियो को जिम्मेदारी सोपने का आग्रह किया है।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा,

डीएसपी हीरालाल सैनी मामले में चार पुलिस अधिकारी नपे