प्रकृति के साथ ही जीवन जीकर बचा जा सकता है: शर्मा

प्रकृति के साथ ही जीवन जीकर बचा जा सकता है: शर्मा


ग्राम आलीसर की श्मशान भूमि में लगाए 151 पौधे 



 चौमू। प्रकृति के साथ ही जीवन को बचाया जा सकता है l जब जब प्रकृति के साथ छेड़छाड़ हुई है तब तक इसका खामियाजा हम सब को भुगतना पड़ा है इसलिए अधिक से अधिक पेड़ लगाएं व प्रकृति के साथ जीवनयापन करें यह बात ग्राम आलीसर पोधारोपण कार्यक्रम में कहींl इस मोके पर विभिन्न प्रकार के 151 छायादार वृक्ष लगाए गए व इनकी सुरक्षा व पालन पोषण की जिम्मेदारी ली l विधायक ने उप सरपंच पुष्पा पारीक को श्मशान भूमि को समतल करवाने व बालाजी नवयुवक मंडल को धन्यवाद दिया साथ ही ग्रामीण रामपाल पारीक की ओर से श्मशान भूमि में पानी की व्यवस्था की मांग पर विधायक शर्मा ने श्मशान भूमि में एक बोरिंग लगाने व टंकी बनवाने की घोषणा कीl सरपंच प्रभूदयाल यादव ने बोरिंग का बिल पंचायत की ओर से जमा कराने का आश्वासन दिया l गौरतलब है कि गांव की शमशान भूमि में हाल ही में उपसरपंच पारीक की ओर से भूमि को समतल करवा कर युवाओं की मदद से पौधारोपण के लिए तैयार करवाई l इस अवसर पर कालाडेरा मंडल अध्यक्ष बनवारीलाल शर्मा युवा मोर्चा अध्यक्ष रीछपाल कुमावत पूर्व सरपंच मूलचंद मीणा पूर्व सरपंच बाबूलाल जडवाल महेंद्र यादव मोतलाल प्रधान अनिरुद्ध पारीक संदीप पारीक जयप्रकाश पारीक अर्जुनलाल कुमावत राधेश्याम शर्मा बालाजी नवयुवक मंडल के सदस्य उपस्थित थेl


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

चीन में फैले वायरस से हुई महामारी की भविष्यवाणी सत्य साबित , पूरे विश्व में केवल भारत देश के दिलीप नाहटा ही ऐसे ज्योतिषी बने , जिन्होंने 2020 में चीन में आए वायरस की सबसे बड़ी भविष्यवाणी सटीक रूप से लिखी थी