वकालत से सियासत तक का सफर गोविंद सिंह डोटासरा

वकालत से सियासत तक का सफर गोविंद सिंह डोटासरा                                                                                    जयपुर । राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर आये सियासी संकट के बीच 14 जुलाई 2020 को सबसे बड़ा घटनाक्रम हुआ है। सचिन पायलट को राजस्थान के उप मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष  पद से हटा दिया है। सचिन पायलट की जगह शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है । सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद होने के साथ ही उनके समर्थक मंत्री विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा से भी मंत्री पद छीन लिया गया है। इनको तीन दिन मनाने की तमाम कोशिशें फेल होने के बाद आखिरकार पार्टी ने एक्शन लिया है।                             आइए जानते हैं कौन हैं गोविंद सिंह डोटासरा :-              सीकर में लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले हैं डोटासरा , ज्ञात हो कि गोविंद सिंह डोटासरा राजस्थान के सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ से विधायक हैं । 1 अक्टूबर 1964 को लक्ष्मणगढ़ की कृपा राम की ढाणी के मोहन सिंह डोटासरा के घर में गोविंद सिंह डोटासरा का जन्म हुआ मोहन सिंह डोटासरा सरकारी शिक्षक थे गोविंद सिंह डोटासरा ने राजस्थान विश्वविद्यालय से बीकॉम एलएलबी की डिग्री हासिल की।  4 मार्च 1984 को सुनीता देवी से शादी की इनके दो बेटे हैं। सुनीता देवी सरकारी अध्यापिका है ।                                                          गोविंद सिंह डोटासरा सीकर में करते थे वकालत:-                 14 जुलाई 2020 को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष बनने वाले गोविंद सिंह डोटासरा ने वकालत से सियासत तक का सफर तय किया है। राजस्थान विश्वविद्यालय से पढ़ाई पूरी करने के बाद गोविंद सिंह डोटासरा ने सीकर कोर्ट में वकालत शुरू की और करीब 20 साल तक वकालत की । वक्त के साथ-साथ डोटासरा ने कांग्रेस  संगठन मैं भी काम करना शुरू किया। युवक कांग्रेस में विभिन्न पदों पर रहे वर्तमान में राजस्थान के शिक्षा मंत्री हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेहद करीबी माने जाते हैं। गोविंद सिंह डोटासरा राजस्थान  कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नारायण सिंह को अपना राजनीतिक गुरु मानते हैं।  वर्ष 2005 में उन्हें कांग्रेस की टिकट पर लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति सदस्य के  चुनाव में गोविंद सिंह विजयी हुए। लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के प्रधान भी चुने गए । इसके बाद तो डोटासरा का राजनीतिक जीवन लगातार बुलंदियों पर जाने लगा।डोटासरा लगातार 7 साल तक सीकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहे व प्रदेश कांग्रेस कमेटी में सचिव और राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में मीडिया समिति के अध्यक्ष भी रहे। राजस्थान के दिग्गज जाट नेता गोविंद सिंह डोटासरा वर्तमान में सीकर जिला मुख्यालय के नवलगढ़ रोड इलाके में रहते हैं। यह लक्ष्मणगढ़ से तीन बार विधायक बन चुके हैं । वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में डोटासरा को पहली बार कांग्रेस ने टिकट दिया था तब इन्होंने दिनेश जोशी को हराया था। फिर 2013 में सुभाष महरिया और दो हजार अट्ठारह में दिनेश जोशी को हराकर विधायक बने।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

चीन में फैले वायरस से हुई महामारी की भविष्यवाणी सत्य साबित , पूरे विश्व में केवल भारत देश के दिलीप नाहटा ही ऐसे ज्योतिषी बने , जिन्होंने 2020 में चीन में आए वायरस की सबसे बड़ी भविष्यवाणी सटीक रूप से लिखी थी