आयुर्वेद कर्मियों पर दोहरे नियम क्यो लागू -डॉ कटारा

आयुर्वेद कर्मियों पर दोहरे नियम क्यो लागू -डॉ कटारा


जयपुर (श्रीराम इंदौरिया): वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी संघ, राजस्थान की ओर से मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत को ईमेल द्वारा मांगपत्र भेजा है।


संगठन के प्रदेशाध्यक्ष डॉ विमलेश विनोद कटारा ने बताया कि आयुर्वेद विभाग के कर्मियों पर दोहरे नियम लागू किए जा रहे हैं, जबकि राज्य के चिकित्सा एवम् स्वास्थ्य ग्रुप 4 के नियम उपनियमों से शासित है और इसी के अनुसार नियुक्ति,स्थानांतरण आदि विगत वर्षों से संचालित हैं। लेकिन सरकार चिकित्सा विभाग और आयुर्वेद विभाग में हमेशा दोहरा व्यवहार करती है।


डॉ कटारा ने बताया कि कोविड महामारी में चिकित्सा विभाग में कर्मचारियों की कमी के कारण आयुर्वेद कर्मी आज दिन तक सहयोग कर रहे हैं,अति आवश्यक सेवाएं मान कर सरकार के आदेश की पालना करते हुए आज दिन तक महामारी के रोकथाम में सभी कार्य करने में आयुर्वेद कर्मी सहयोगी बने हुए हैं। दूसरी तरफ सरकार ने अति आवश्यक सेवाओं में न मानते हुए वेतन कटौती, सहयोग राशि से आयुर्वेद कर्मियों को वंचित रखा गया।


संगठन ने सरकार से मांग की है कि उन्हें अति आवश्यक सेवाओं में मानते हुए चिकित्सा विभाग के कर्मियों की तरह परिलाभ दिए जाए और उन पर वही आदेश लागू हो जो चिकित्सा विभाग के कर्मियों पर लागू किए जाते है।


दोहरा मापदंड न किया जाए।


Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को