गर्भवती महिलाओं को पोषणयुक्त आहार के लिए किया जागरूक

गर्भवती महिलाओं को पोषणयुक्त आहार के लिए किया जागरूक


जयपुर ,24 सितम्बर- जयपुर द्वितीय- जिले में प्रसूति नियोजन दिवस पर गर्भवती महिलाओं की नियमित जांच के साथ उन्हें “पोषणयुक्त आहार” लेने के लिए जागरूक किया गया. गौरतलब है कि सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में आयोजित किया जा रहा है l


सीएमएचओ डॉ. हंसराज भदालिया ने बताया कि सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है. जिले में प्रत्येक चौथे गुरूवार को उपकेंद्रों पर आयोजित हो रहे प्रसूति नियोजन दिवस पर लाभार्थी महिलाओं की नियमित जांच के साथ ही उन्हें पोषण सबंधी जानकारी देकर गर्भावस्था के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के साथ नियमित रूप से पोषक आहार लेने के लिए प्रेरित किया गया. महिलाओं को पोषण आहार में विटामिन, मिनरलस, भोजन में पोषक तत्वों के साथ बच्चे के जन्म के बाद समय पर स्तनपान करवाने व पूरक आहार के बारे में भी जानकारी दी गई. इस दौरान मास्क और सेनेटाइजर का उपयोग करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य सभी महत्वपूर्ण गाईडलाईन का पालन किया गया l


उन्होंने बताया कि पोषण माह में गाँवों एवं चिकित्सा संस्थानों पर पोषण सम्बन्धी गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है. इसी कड़ी में प्रत्येक गुरुवारको चिकित्सा संस्थानों में मातृ, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस, तीसरे और चौथे शुक्रवार को सुरक्षित मातृत्व दिवस, प्रत्येक चौथे गुरूवार को प्रसूति नियोजन दिवस और प्रत्येक माह की नौ तारीख को सुरक्षित मातृत्व अभियान में गर्भवती महिलाओं की नियमित जांच और उपचार के साथ ही उन्हें पोषण युक्त आहार नियमित रूप सेलेने सम्बन्धी जानकारी प्रदान की जा रही है. पोषणयुक्त आहार लेने के लिए जागरूक करने के साथ ही गर्भवती महिलाओं, प्रसुताओं एवं उनके परिजनों को शिशु के बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्तनपान के महत्त्व को समझाते हुए नियमित स्तनपान के प्रति जागरूक किया जा रहा है. गर्भवती एवं धात्री माताओं को जन्म के उपरान्त एक घंटे के भीतर शिशु को स्तनपान कराने, छह माह की आयु तक शिशु को केवल स्तनपान कराने और छह माह के उपरान्त पूरक आहार के साथ स्तनपान कराए जाने के प्रति जागरूक किया जा रहा है l


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को

*दहेज लोभियों ने ली नवविवाहिता की बलि*