सबसे अलग होगी काशी की देव-दीपावली-डॉ नीलकंठ तिवारी

 सबसे अलग होगी काशी की देव-दीपावली-डॉ नीलकंठ तिवारी


घाट पर होने वाला भव्य लेजर शो होगा मुख्य आकर्षण

वाराणसी, 29 नवंबर: जब पूरा विश्व कोविड संकट से गुजर रहा है तब देश की धार्मिक और सांस्कृतिक राजधानी पूरे विश्व को सकरात्मकता का संदेश देने जा रही है। उत्तर प्रदेश शासन में पर्यटन मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी के अनुसार इस बार की देव दीपावली कई मायनों में अलग होगी और नए कीर्तिमान स्थापित करेगा।


देव दीपावली और  प्रधानमंत्री के वाराणसी आगमन की तैयारियों का निरीक्षण करने पहुंचे उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने देव दीपावली की तैयारियों के बारे में बताया, " इस वर्ष देव दीपावली  पर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद  नरेंद मोदी  दीप प्रज्ज्वलित कर इस भव्य कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। यह पहला अवसर होगा कि देव दीपावली पर मां गंगा के दोनों किनारे दीपों से जगमग करेंगे। यही नहीं, देव दीपावली पर इस वर्ष लेजर शो का भी आयोजन होगा। यह लेजर शो चेत सिंह घाट पर आयोजित होगा, जिसका अवलोकन आदरणीय प्रधानमंत्री मां गंगा की गोद मे नौका विहार करते हुए करेंगे। नदी के तट पर सैंड आर्ट्स की कृतियां भी बनाई गई हैं।


डॉ नीलकंठ तिवारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ  स्वयं भी इन तैयारियों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री  के निर्देश पर राजघाट से रविदास घाट तक 15 लाख से अधिक दिए प्रज्ज्वलित होंगे। दियों के प्रज्ज्वलन के लिए जिला प्रशासन की तरफ से भी सहयोग किया जा रहा है। घाट पर आयोजकों को दिए और तेल की आपूर्ति की गई है। इस देव दीपावली पूरे वाराणसी में रोशनी से सजावट की गई है। साथ ही सेल्फी पॉइंट्स की व्यवस्था भी की गई है।


नौका विहार के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर जाकर श्री काशी विश्वनाथ जी के भी दर्शन करेंगे। प्रधानमंत्री  का नौका विहार संत रविदास घाट पर समाप्त होगा, जहां से वे सारनाथ पहुंचेंगे। वे वहां भगवान बुद्ध पर बने लाइट एंड साउंड प्रोग्राम का अवलोकन करेंगे।


डॉ नीलकंठ तिवारी ने बताया कि प्रधानमंत्री  नहींऔर मुख्यमंत्री  द्वारा वाराणसी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं, जिसका परिणाम यह है कि वाराणसी में पर्यटन से सम्बंधित रोजगार में लगातार वृद्धि हो रही है। वाराणसी आने वाले हवाई यात्रियों की संख्या में कई गुना वृद्धि हुई है। इसका सीधा फायदा यहां के व्यवसायियों को मिल रहा है और रोजगार के लगातार वृद्धि हुई है।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ