बाल विवाहिता का सहारा बनी डॉ कृति भारती

           बाल विवाहिता का सहारा बनी डॉ कृति भारती 

 सारथी ट्रस्ट की  मदद से कोर्ट में निरस्त का वाद दायर 


जोधपुर। समता ने महज ढाई साल की मासूम उम्र में बाल विवाह के बंधन में बंधने के बाद 17 साल तक दंश झेला। वहीं अब  बालिका वधु समता ने सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ. कृति  भारती का संबल पाकर जोधपुर के पारिवारिक न्यायालय -1में बाल विवाह निरस्त करने के लिए दस्तक दी है। पारिवारिक न्यायालय -1 के न्यायाधीश  महेंद्र कुमार सिंघल ने समता के तथाकथित पति को समन जारी किया है।

तिंवरी तहसील निवासी करीब बीस वर्षीय समता का वर्ष 2003 में बाल विवाह ओसियां तहसील निवासी के साथ करवा दिया गया था। बाल विवाह के समय समता की उम्र महज ढाई साल की ही थी।

गौने के लिए दबाव

बालिका वधु समता के ससुराल वाले लगातार गौना कर विदा करने का दबाव बनाए हुए है। जबकि समता व इसके परिजनों ने काफी समय पहले ही ससुरालवालों को बाल विवाह मानने से इंकार कर दिया था। फिर भी ससुराल वालों द्वारा दबाव बनाया जा रहा है। वहीं कई तरह की धमकियां भी दी जा रही है।

सारथी का संबल, कोर्ट में दस्तक

इस बीच समता को सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ. कृति  भारती की बाल विवाह निरस्त की मुहिम के बारे में जानकारी मिली। समता  ने बाल विवाह निरस्त के लिए डॉ. कृति भारती से सम्पर्क किया। सारथी ट्रस्ट की डॉ. कृति भारती की मदद से समता ने जोधपुर पारिवारिक न्यायालय -1 में बाल विवाह निरस्त के लिए वाद दायर किया है।

पति को नोटिस जारी

प्रारंभिक सुनवाई के बाद पारिवारिक न्यायालय -1 के न्यायाधीश महेंद्र कुमार सिंघल ने समता के तथाकथित पति को समन जारी किया है।

सारथी ट्रस्ट निरस्त में सिरमौर

गौरतलब है कि बाल विवाह निरस्त की अनूठी मुहिम में जुटे सारथी ट्रस्ट की कृति भारती ने ही देश का पहला बाल विवाह निरस्त करवाया था और उसके बाद अब तक 40 बाल विवाह निरस्त और 1400 से अधिक बाल विवाह रुकवाए है। वही  2015 में तीन दिन में दो बाल विवाह निरस्त करवाकर भी इतिहास रचा था। जिसके लिए कृति भारती का नाम वल्र्ड रिकाॅड्र्स इंडिया और लिम्का बुक आॅफ वल्र्ड रिकाॅर्ड सहित कई रिकाॅर्ड्स में दर्ज किया गया। सीबीएसई ने भी कक्षा 11 के पाठ्यक्रम में सारथी की मुहिम को शामिल किया था।  कृति भारती को बीबीसी हिंदी की 100 वीमेन सूची और लंदन की टैफेड मैगज़ीन की विश्व के टॉप 10 एक्टिविस्ट सहित कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजा जा चुका है।

इनका कहना है
- मुझे यह बाल विवाह बिल्कुल मंजूर नहीं है। मैं बाल विवाह को नहीं मानती। मैं पढ-लिखकर भविष्य संवारना चाहती हूं। बाल विवाह निरस्त के लिए कृति दीदी की मदद से वाद दायर किया है। अब मुझे जल्दी ही न्याय मिलने की उम्मीद हैं। - समता, बाल विवाह पीडिता।

- समता का बाल विवाह निरस्त के लिए न्यायालय में वाद दायर किया है। बाल विवाह निरस्त एवं बेहतर पुनर्वास के प्रयास किए जा रहे हैं। -डॉ. कृति  भारती, मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक, सारथी ट्रस्ट, जोधपुर।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ