15 से 19 जनवरी 2021 को होने जा रहा है जिफ का ऑनलाइन आगाज़

जिफ के लिये नामांकित फिल्मों की दूसरी सूची जारी


सूची में 20 देशों की 101 फिल्मों का हुआ है चयन

18 देशों के 30 ज्यूरी सदस्यों ने चुनी है फ़िल्में

 15 से 19 जनवरी 2021 को होने जा रहा है जिफ का ऑनलाइन आगाज़

जयपुर। कोरोना का दौर सभी के लिए सावधानियों का दौर है। इन्ही सतर्कताओं के साथ जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल - जिफ का आयोजन होने जा रहा है। यह आयोजन 15 से 19 जनवरी 2021 तक ऑनलाइन होगा  [फेस्टीवल ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा, यदि सरकारी दिशा निर्देश थिएटर स्क्रीनिंग की अनुमति नहीं देते हैं ]।  आयोजन जनवरी तक भारत और जयपुर में कोरोना हालातों और सरकारी दिशा निर्देशों पर भी निर्भर करेगा। यह जिफ का लगातार 13 वां एडिशन होगा।   

गौरतलब है की जिफ फिक्शन फिल्मों की श्रेणी में विश्व के सबसे बड़े कॉम्पिटिटिव फिल्म फेस्टिवल के रूप में अपनी पहचान बना चुका है।

जिफ के फाउंडर हनु रोज ने बताया है की इस दूसरी सूची में 20 देशों की 101 (भारत से 49 और विदेश से 52 फ़िल्में)  फिल्मों का चयन हुआ है। जबकि पहली सूची जो 5 नवम्बर को जारी की गयी थी, उसमें 38 देशों की 161 फिल्मों का चयन हुआ है। नवम्बर तक 85 देशों से प्राप्त 2121 फिल्मों में से इन फिल्मों का चयन किया गया है। ये चयन 18 देशों के 30 सदस्यों के फिल्मकारों के चयन बोर्ड ने किया है।

पिछले साल जहां पहली सूची में 65 देशों से आई 219 फिल्में और वहीं दूसरी लिस्ट में 14 देशों की 54 फिल्मों का चयन किया गया था। ये फ़िल्में 98 देशों से आई कुल 2411 फिल्मों में से चुनी गई थी।

कोरोना महामारी के कारण लगभग 15% फ़िल्में कम सब्मिट हुई है। साथ ही हर साल इतनी ही ग्रोथ होती थी, वो ग्रोथ भी नहीं हुई है। इसके बावजूद पिछले साल की तुलना में इस साल दोनों सूचियों में मात्र 11 फ़िल्में ही कम चयनित हुई हैं।

जिफ प्रवक्ता राजेन्द्र बोड़ा ने जानकारी देते हुआ बताया कि प्रतियोगिता के लिए 9 श्रेणियों में चयनित फिल्मों में 27 फीचर फिक्शन फिल्म | 7  डॉक्यूमेंट्री फीचर फिल्म | 48 शॉर्ट फिक्शन फिल्म | 5 शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म | 1 शॉर्ट एनिमेशन फिल्म | 4 मोबाइल फिल्म | 1 वेब सीरीज़ | 7 स्टूडेंट्स शॉर्ट फिल्म | 1 सॉन्ग शामिल हैं।

जिफ में नार्वे, यू.एस.ए., भारत, चीन, पाकिस्तान ऑस्ट्रिया, स्पेन, रिपब्लिक ऑफ कोरिया, थाइलैंड, स्वीडन, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, यमन, फ्रांस, पोर्तुगल और न्यूज़ीलैंड से फिल्में आई हैं। इस बार उन देशों से कम या नहीं के बराबर फ़िल्में सब्मिट हुई है, जो गरीबी से जूझ रहे हैं।फेस्टिवल में विश्व भर के प्रतिष्ठित फिल्म पुरस्कार जीत चुके फिल्माकरों की फिल्मों का चयन भी हुआ है। करिश्मा दुबे निर्देशित फिल्म बिट्टू एक भारतीय फिल्म है, जो ऑस्कर विजेता रह चुकी है। यह शॉर्ट फिक्शन फिल्म 17 मिनट लंबी है। शीर कोरमा एक हिन्दी फिल्म है, जिसमें शबाना आज़मी, स्वरा भास्कर और दिव्या दत्ता जैसे कलाकारों ने अभिनय किया है। 30 मिनट की इस शॉर्ट फिक्शन फिल्म को फराज़ आरिफ़ अंसारी ने बनाया है। यह दो हिम्मती औरतों की कहानी है, जो सामाजिक दायरों और मान्यताओं को ख़ारिज करते हुए अपना प्रेम चुनती है।

जिफ में अटकन चटकन फिल्म का प्रदर्शन ख़ास रहेगा, चूंकि यह बच्चों के लिए बनाया गया एक हिन्दी म्यूज़िकल ड्रामा है, जिसमें पद्म भूषण ए. आर. रहमान ने संगीत दिया है। लगभग 2 घंटे की इस फीचर फिक्शन फिल्म को शिव हरे ने डायरेक्ट किया है। ए. आर. रहमान ही इस फिल्म के प्रजेंटर हैं.


ब्राज़ील की फीचर फिक्शन फिल्म द साइलेंट पार्टी एक स्पैनिश फिल्म है, जिसके निर्देशक हैं डिएगो फ्राइड। 87 मिनट की यह फिल्म लॉरा की कहानी है, जो अपनी शादी से कुछ घंटों पहले कुछ अजीबोगरीब पार्टी में शामिल होती है, जो रातों रात उसकी ज़िंदगी को बदल कर रख देती है। फिल्म समीक्षकों ने इसे 2020 में अर्जेंटीना में बनी बेस्ट फिल्मों में एक माना है।



राजस्थान की दो फिल्मों का होगा प्रदर्शन मंजूर अली की फीचर फिक्शन फिल्म म्हारो गोविंद राजस्थानी भाषा में बनी है। यह दो घंटे लंबी फिल्म है। वहीं तपन भट्ट की 12 मिनट की शॉर्ट फिक्शन फिल्म शतरंज भी जिफ में चुनी गई है।



Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ