मंसूरी समाज ने आंध्र प्रदेश सरकार को दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

 मंसूरी समाज ने आंध्र प्रदेश सरकार को दी उग्र आंदोलन की चेतावनी



शाहिदा डुडेकुला (मंसूरी) के बलात्कारी कातिलों को सिर्फ फांसी होना चाहिए और परिवार को एक करोड़ मुआवजे के साथ सरकारी नौकरी दी जाए : युनूस मंसूरी 


अनंतपुर, आंध्रप्रदेश में 17 नवंबर  को शहीदा  को डरा धमका कर 8 लोग ने अपहरण कर लिया और वहशाना तरीके ज्यादती करने के बाद उसकी बेरहमी से दर्दनाक हत्या कर दी गई। दरिंदों ने हत्या करने के पश्चात शव को पास के एक नहर में फेंक दिया जहां करीब 3 से 5 दिन तक लाश उस नहर में पड़ी रही।

शहीदा (पता छुपाया गया) की माता के अनुसार उसके जिस्म पर कई जगह सिगरेट से जलाने के निशान थे और उसके गुप्तांग को ब्लेड से काट दिया गया था।

17 तारीख को जब माता पिता पुलिस स्टेशन पहुंचे तो वहां से भी संतोषप्रद जवाब नहीं मिल पाया यहां प्रशासन की जबरदस्त लापरवाही सामने आई।

जब सुनवाई की गई और तलाश शुरू की गई शक के आधार पर कुछ को हिरासत में लिया उन्हीं में से एक ने अपना जुर्म कबूल करते हुए शामिल अपराधियों के बारे में बताया तो रघु,राजप्पा,आनंद, लिंगमां सहित 3 अन्य के साथ कुल 8 जनों ने मिलकर इस जघन्य अपराध को किया।

अभी पुलिस ने धारा 301 302 354 में वाद दायर किया है लेकिन राष्ट्रीय मंसूरी समाज की मांग है की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को देखते हुए धारा 376 गैंगरेप, व दिशा कानुन भी इसमें शामिल किया जाए और अपराधियों को सिर्फ और सिर्फ फांसी की सजा दिलवाई जाए ताकि दूसरों को इससे इव्रत हासिल हो।

जब निर्भया, आसिफा और भी कई भारत की बेटियों के साथ बलात्कार हुआ तब सरकार अगर सरेआम और खुलेआम अपराधियों को फांसी की सजा दे देती तो शायद आज एक और भारत की बेटी के साथ यह हिमाकत नहीं की होती।

राष्ट्रीय मंसूरी समाज सरकार से मांग करता है कि शहीदा के परिवार जनों को एक करोड रुपए सांत्वना सरकारी नौकरी जल्द से जल्द दी जाए।

सभी धर्मावलंबियों ने मिलकर इंसानियत और इंसाफ के लिए आवाज उठाई है अनंतपुर में रोजाना विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं राष्ट्रीय मंसूरी समाज भी सरकार से कहना चाहता है कि अगर शहीदा के साथ इंसाफ नहीं हुआ अगर दरिंदों को फांसी न दी गई तो पूरे भारत में उग्र आंदोलन किया जाएगा।

साथी केंद्र सरकार से मांग करता है कि ऐसे केस में अपराधियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाने का कानून पारित किया जाए ताकि देश की बेटियां देश में सुरक्षित रह पाए। जल्द ही राष्ट्रीय मंसूरी समाज आंध्र प्रदेश का एक प्रतिनिधि मंडल शैक शहीदुल प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री से मिलेगा।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा,

डीएसपी हीरालाल सैनी मामले में चार पुलिस अधिकारी नपे