कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए छात्रों द्वारा नुक्कड़ नाटक का मंचन

कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए छात्रों द्वारा नुक्कड़ नाटक का मंचन 

झाबुआ l (चंद्र कान्त सी पुजारी) झाबुआ क्षेत्र में कोरोना का प्रभाव वैसे तो कम है किंतु यह देखने मे आ रहा है कि जनसामान्य में कोरोना के प्रति लापरवाही बढ़ती जा रही है।अनेक अवसरों पर देखा गया है कि सामान्यजन न तो मास्क लगा रहा है न ही सोशल डिस्टनसिंगक पालन कर रहे है जबकि यह स्थापित तथ्य है कि मास्क ओर सोशल डिस्टनसिंग ही कोरोना से बचाव का एकमात्र कारगर उपाय है क्षेत्र में लोगो को यही संदेश देने के लिए स्थानीय माँ त्रिपुरा कॉलेज ऑफ नर्सिंग के छात्र छात्राओं ने  बस स्टैंड ,फवारा चौक तथा राजवाड़ा पर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से अभिनव प्रयास किया ।.                 

प्रत्येक स्थान पर लगभग आधे घंटे के नुक्कड़ नाटक में 25 छात्र छात्राओं के समूह ने कोरोना के लक्षण तथा उससे बचाव के तरिके अत्यंत ही रोचक अंदाज में  बताए इस आदिवासी अंचल में अब भी सामान्य बीमारियों में झाड़ फुक तथा टोन टोटके का सहारा लिया जाता है अतः नुक्क्ड़ नाटक में इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की परेशानी आने पर झाड़ फुक या टोन टोटके में समय नष्ट करने के बजाय तत्काल चिकित्सीय सहायता के लिए प्रयास करना चाहिए क्योकी झाड़ फुक तथा टोने टोटके के चक्कर मे समय नष्ट करने से कई बार विलंब हो जाता है जिससे चिकित्सीय सहायता में अनेक प्रकार की कठिनाइयां उत्पन्न होती है इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह में बिना मास्क के व्यक्तियों को मास्क का निःशुल्क वितरण भी किया गया ।                 


                                                                                         संस्था के संचालक  ओम शर्मा ने बताया कि क्षेत्र में कोरोना को लेकर बढ रही लापरवाही के कारण भविष्य में विकट स्थिति उत्पन्न हो सकती है जब तक वैक्सीन नही आ जाती तब तक मास्क का उपयोग तथा सोशल डिस्टनसिंग ही इस महामारी से बचाव का महामंत्र है इस महामारी के प्रति जागरूकता की कमी को देखते हुए अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहे संस्था के छात्रों को इस प्रकार का अभियान चलाने के लिए प्ररित किया गया । उन्होंने बताया कि महामारी के सम्पूर्ण खात्मे तक इस प्रकार के प्रयास संस्था द्वारा किये जाते रहेंगे ।अपनी नुक्कड़ नाटक का सफल मंचन श्रीमती किरण शर्मा के निर्देशन में संभव हुआ ।नर्सिंग कॉलेज के प्राचार्य  कपिल राठौर तथा सपना भूरिया का कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष योगदान रहा ।साथ ही इस अवसर पर संस्था से करिश्मा सोनी ,मिरुन देबनाथ ,नीलेश त्रिवेदी ,नरेश गरासिया ,विनोद नायक उपस्थित रहे।






Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ

जानिए वर्ष 2020 में बनने वाले गुरु पुष्य योग और रवि पुष्य योग की शुभ दिन और शुभ मुहूर्त को