Skip to main content

हाइवोल्टेज लाइन की चपेट में आने से नर्सिंग कर्मी की मौत

 हाइवोल्टेज लाइन की चपेट में आने से नर्सिंग कर्मी की मौत


अलवर । अलवर जंक्शन पर रविवार शाम करीब 6 बजकर 7 मिनट पर दिल दहला देने वाला हादसा हुआ जंक्शन पर पेट्रोलियम मालगाड़ी के ऊपर से जाने के प्रयास में गोविन्दगढ़ निवासी एक नर्सिंगकर्मी 25 हजार वॉल्ट करंट वाली विद्युत लाइन से चिपक गया। एक बार तो नर्सिंगकर्मी का शरीर ही आग का गोला बन गया। लेकिन कुछ ही मिनट में रेलवे कर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। तुरंत करंट बंद किया।इसके बाद नर्सिंगकर्मी का शव पेट्रोलियम मालगाड़ी के ऊपर से बांस की लकड़ी के सहारे से नीचे उतारा। नर्सिंकर्मी पूरा जल चुका था। हादसे के दौरान उसका बैग दूसरी तरफ गिर गया। जिसके अन्दर मिले पहचान पत्र से उसकी पहचान हुई है। घटना के बाद मृतक के बैग से एक पहचान पत्र मिला।जिससे पता चला कि मृतक मनीष कुमार पुत्र हरभजन निवासी अम्बेडकर कॉलोनी गोविन्दगढ़ है। बैग से मिले पहचान पत्र के अनुसार वह पीबीएम हॉस्पिटल बीकानेर में नर्स सेकण्ड के पद पर कार्यरत था। करंट से मौत के बाद शव को मुर्दाघर भिजवा गया।

हादसा अलवर को हिला देता
 यह अलवर ही नहीं रेलवे को हिला देने वाला हादसा इसलिए हैं कि मालगाड़ी में 55 से अधिक टैंकर थे। यदि वे पेट्रोल या डीजल से भरे होते तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। लेकिन, ये सब खाली थे । पेट्रोलियम मालगाड़ी मथुरा की तरफ जाने वाली थी। जिसमें करीब 55 से अधिक टैंकर थे। एक टैंकर में एक लाख लीटर से अधिक पेट्रोल या डीजल की क्षमता होती हैं ।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ