राष्ट्रीय एज्युकेशनल एम्बेसडर अधिवेशन 6 जून को

 समर्पण संस्था सदस्यों की मीटिंग आयोजित 



  राष्ट्रीय एज्युकेशनल एम्बेसडर अधिवेशन 6 जून को 



समर्पण आश्रय केयर होम ( दादा -पोता आश्रय) के निर्माण को एक वर्ष में करने का लिया संकल्प...



एज्युकेशनल एम्बेसडर अभियान ब्रोसर व समर्पण आश्रय केयर होम प्रोजेक्ट रिपोर्ट का किया विमोचन...


 जयपुर, 25 मार्च । मानवता व परोपकार के लिए समर्पित समर्पण संस्था सदस्यों की साधारण मीटिंग का आयोजन संस्था के श्री कल्याण नगर , करतारपुरा ,जयपुर स्थित समर्पण वस्त्र बैंक परिसर में किया गया। मीटिंग का आयोजन संस्था के उपाध्यक्ष व सेवानिवृत्त आईएएस, जनाब शफी मोहम्मद कुरैशी की अध्यक्षता में किया गया।

    मीटिंग का शुभारम्भ हमेशा की तरह समर्पण प्रार्थना के साथ हुआ जिसे  प्रकाश बैरवा ने उच्चारित करवाया।

   संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट डॉ. दौलत राम माल्या ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि "जीवन के सफर को आनंदमय करने के लिए अवचेतन मन में सकारात्मक विचारों का बीज रोपित करना होगा।" तत्पश्चात हम उस दिशा में अपने आप ही क्रियाशील हो जायेंगे ।


   डॉ. माल्या ने  इस अवसर पर "मानव जीवन की उत्कृष्टता" विषयक एक पीपीटी प्रेजेंटेशन भी दिया। जिसमें जीवन को अर्थपूर्ण बनाने की व्याख्या करते हुए बताया कि आत्मा का आनंद ही जीवन की उत्कृष्टता है ।

  डॉ. माल्या ने समारोह के लिए सबसे पहले ₹ 21000 का चैक तथा समर्पण आश्रय केयर होम निर्माण के लिए ₹150000 का चैक भेंट किया ।

     मीटिंग में सातवें शिक्षा सहयोग व प्रथम एज्युकेशनल एम्बेसडर अधिवेशन की तैयारियों के लिए एक आयोजन समिति बनाई गई जिसका अध्यक्ष संस्था के मुख्य सलाहकार व पूर्व जिला न्यायाधीश  उदय चंद बारूपाल को नियुक्त किया गया।


   इसी तरह संस्था के प्रस्तावित प्रोजेक्ट "समर्पण आश्रय केयर" भवन (दादा - पोता आश्रय) के निर्माण को एक साल में पूरा करने का संकल्प लेते हुए एक निर्माण समिति बनाई गई जिसका अध्यक्ष, संस्था के उपाध्यक्ष व पूर्व आईएएस जनाब शफी मोहम्मद कुरैशी को नियुक्त किया गया।

    मीटिंग में यह भी निर्णय लिया गया कि आगामी 6 जून को प्रताप नगर सेक्टर 17 स्थित रावत पब्लिक स्कूल के "निर्मला ऑडिटोरियम" में सातवें शिक्षा सहयोग व प्रथम राष्ट्रीय एज्युकेशनल एम्बेसडर अधिवेशन का भव्य आयोजन किया जायेगा।

   सभी सदस्यों को 15 अप्रैल तक कम से कम एक एज्युकेशनल एम्बेसडर बनाने की ज़िम्मेदारी दी गई है ।

    समारोह में सभी एजुकेशनल एंबेसेडर के साथ "समर्पण आदर्श विद्यार्थी" व उनके अभिभावकों को भी आमंत्रित किया जायेगा।

   इस समारोह में ₹11000 का योगदान देने वाले सदस्य को गोल्ड स्पॉन्सर वह ₹21000 का योगदान देने वाले सदस्य को डायमंड स्पॉन्सर का नाम दिया जायेगा। सभी गोल्ड व डायमंड स्पॉन्सर को अतिथि सूची में शामिल कर पूरा मान सम्मान दिया जायेगा।

  इसी तरह समर्पण आश्रय केयर होम में दान का भी न्यूनतम दायरा बनाया गया जिसमें मुख्य संरक्षक से ₹100000 , संरक्षक सदस्य से न्यूनतम ₹51000, विशिष्ट सदस्य से न्यूनतम ₹21000, सम्माननीय सदस्य से न्यूनतम ₹11000 तथा अन्य अपंजीकृत दानदाताओं से न्यूनतम ₹5000 का दान लिया जायेगा ।अधिकतम दान की कोई सीमा नही है।

  इस अवसर पर एज्युकेशनल एम्बेसडर अभियान ब्रोसर व समर्पण आश्रय केयर होम प्रोजेक्ट रिपोर्ट का विमोचन भी संस्था पदाधिकारियों द्वारा किया गया ।

   संस्था के मुख्य संरक्षक सेवानिवृत्त कर्नल  एस.एस. शेखावत ने कहा कि “समर्पण आश्रय केयर होम के लिए सभी दिल खोलकर दान दे ।”  शेखावत  ने अपनी ओर से 5 लाख रूपये की घोषणा करते हुए प्रथम किस्त में एक लाख का चैक संस्था अध्यक्ष को भेंट किया ।

  संस्था के मुख्य सलाहकार व सेवानिवृत्त ज़िला न्यायाधीश  उदय चन्द बारूपाल ने कहा कि समारोह को बेहतर करने के लिए नियमित प्रयास करेंगे ।श्री बारूपाल  ने समारोह के लिए ₹ 21000 का चैक देने की घोषणा की ।

  मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे जनाब शफ़ी मोहम्मद क़ुरैशी ने कहा कि हमारा अवचेतन मन ईश्वर का है ।हम ईश्वर के प्रति धारणा मज़बूत रखें ।यदि हमारे मस्तिष्क में सच्चाई है तो कोई काम अधूरा नहीं रहेगा ।

  इस अवसर पर संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष स्वामी बाबा भारत व संरक्षक  बिशन सिंह मजोका ने भी अपने विचार व्यक्त किये ।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ