कोरोना की रफ्तार से एक बार फिर दहशत , कई राज्यों के स्कूल-कॉलेजों में लगे ताले, बोर्ड परीक्षाएं टलीं

कोरोना की रफ्तार से एक बार फिर दहशत , कई राज्यों के स्कूल-कॉलेजों में लगे ताले, बोर्ड परीक्षाएं टलीं


नई दिल्ली: लाख कोशिशो के बाद भी देश में कोरोना का ग्राफ थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन मरीजों की संख्या एक बार फिर तेजी से बढ़ती नजर आ रही है। वहीं महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में लॉकडाउन व नाईट कर्फ्यू लगा दिया गया है। पिछले महिने कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में आ गया था। नए मामले 10 हजार के आसपास आ गए थे। लेकिन फरवरी में दूसरे पखवाड़े से महाराष्ट्र और केरल में नए मामलों में महामारी इतनी तेजी से बढ़ की देश में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई। बता दें कि आठ राज्यों में कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। जिसका आंकड़ा वृद्धि के रूप में सामने है।

कोरोना महामारी के तेजी से बढ़ते संक्रमण ने एक बार फिर से लोग मन में तरह-तरह की आशंकाएं पैदा होने लगी है। कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन ने लोगों को डरा दिया है। वहीं लंबे समय बाद खुले स्कूल फिर से बंद होने लगे हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक, गुजरात, पंजाब और महाराष्ट्र में स्कूलों को बंद किए जाने का निर्देश जारी किया गया है। पंजाब में बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए टाल दिया गया है।

 

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर


 

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर की पुष्टि कर दी गई है। महामारी का सिलसिला रोकने के लिए राज्य सरकार की ओर से प्रदेश में कई तरह के प्रतिबंध भी लगाने शुरू कर दिए गए हैं। होटलों के अलावा स्कूलों के खुलने पर भी रोक लगा दी गई है। महाराष्ट्र के पुणे में कोरोना की वजह से स्कूल-कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद रखने का निर्देश जारी किया गया है। गौरतलब है कि प्रदेश के लातूर जिले में 44 छात्र कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

 

पंजाब में कई इलाकों में नाइट कर्फ्यू, स्कूल बंद


 

पंजाब में कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कई इलाकों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। साथ ही 8 जिलों के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में पहली से 9वीं और 11वीं कक्षाओं की छुट्टी घोषित कर दी गई है। इन कक्षाओं के छात्रों को घर पर ही रहकर परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए कहा गया है। इसके अलावा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को एक महीने के लिए टाल दिया गया है। 12वीं की परीक्षा 22 मार्च की बजाय अब 10 अप्रैल से शुरू होंगी। वहीं 10वीं की परीक्षा 9 अप्रैल की बजाय 4 मई से आयोजित की जाएंगी।

 

गुजरात में स्कूलों को दिशा-निर्देश जारी


 

गुजरात के सूरत में 85 छात्रों के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर हड़कंप मच गया। इन स्कूलों के 1613 बच्चों का सैंपल टेस्ट किया गया था। ऐसे में सरकार ने स्कूलों को दिशा निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत जिन स्कूलों में 5 या उससे ज्यादा छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, उन्हें तत्काल बंद करने का आदेश दिया गया है। बोर्ड परीक्षाओं की तारीफ भी आगे बढ़ा दी गई है। नई डेटशीट के हिसाब से ये परीक्षाएं अब 10 मई से शुरू होंगी।

 

मुंबई में ऑनलाइन पढ़ाने का निर्देश


 

मुंबई में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते बीएमसी ने बड़ा फैसला लिया है। नए आदेश में स्कूलों में 50 फीसद शिक्षकों की उपस्थिति को पूरी तरह से बंद करने का आदेश दिया है। सभी शिक्षकों को बच्चों को घर ऑनलाइन पढ़ाने के लिए कहा गया है। 17 मार्च से इस नए आदेश को लागू किया जाएगा और अगले आर्डर तक जारी रहेगा।

 

इस साल पहली बार एक दिन में 29 हजार नए केस


 

बुधवार को इस साल के सर्वाधिक नए मामले दर्ज किए गए तो मरने वालों का आंकड़ा भी दो महीने बाद सबसे ज्यादा आया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान देशभर में कोरोना संक्रमण के 28,903 नए मामले मिले हैं, जिनमें से अकेले महाराष्ट्र में ही 17,864 केस हैं। इस साल एक दिन में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में नए मामले मिले हैं। इससे पहले पिछले साल 13 दिसंबर को इससे अधिक 30,254 मामले पाए गए थे। इस दौरान 188 लोगों की मौत भी हुई है।

 

दो महीने बाद एक दिन में इतने लोगों की मौत हुई है। इनमें भी महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 87, पंजाब में 38 और केरल में 15 मौतें शामिल हैं। अगर बढ़ते मामलों की बात करें तो महाराष्ट्र के बाद सबसे अधिक 1,970 नए केस केरल में पाए गए हैं। इसके अलावा पंजाब में 1,463, कर्नाटक में 1,135, गुजरात में 954, तमिलनाडु में 867 और छत्तीसगढ़ में 856 नए केस मिले हैं। ये वो राज्य हैं जो देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की चिंता बढ़ा रहे हैं। लगभग 80 फीसद नए मामले इन्हीं राज्यों से हैं।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ