मुर्दा घर बना जिस्मफरोशी का अड्‌डा

 मुर्दा घर बना जिस्मफरोशी का अड्‌डा            लाशों के पास लड़का-लड़की बना रहे थे संबंध

     


                                                             इंदौर। मध्यप्रदेश के सबसे बड़े अस्पतालों में शुमार एमवाय अस्पताल की मोर्चरी  से कुछ तस्वीरें वायरल हुई है, जिसको लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।दरअसल रात के वक्त मॉर्चरी रुम में लड़कियां मौजूद थी। शवों के पास इतनी रात को लड़कियों की मौजूदगी से कई लोगों का माथा ठनका। इसके बाद जब सच सामने आया तो लोगों के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई।दरअसल बुधवार देर रात जब कुछ लोग अपने परिजन के शव को रखने के लिए मोर्चरी रूम में पहुंचे तो वहां मौजूद कर्मचारी लड़कियों के साथ आपत्तिजनक हालत में थे वहां पर जिस्म के भूखे लोग सेक्स कर रहे हैं। जब शव रखने पहुंचे लोगों ने इसको लेकर आपत्ति जताई तो उन्हें वहां से भगाने का प्रयास किया…इसी बीच उन लोगों के द्वारा यह फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल किए गए हैं। जिसके बाद से अस्पताल प्रबंधन और पुलिस में हड़कंप मच गया।

हालांकि जब यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुए तो एमवाय प्रबंधन की नींद खुली और अधीक्षक पीएस ठाकुर ने सफाई पेश की है, ठाकुर ने बताया कि जैसे ही मामला उनके संज्ञान में आया है, उसके बाद तत्काल ही दोनों कर्मचारियों को हटाने के निर्देश दिए गए हैं। ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। यदि उनकी तरफ से संतोषजनक जवाब नहीं आएगा तो उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी, इसके साथ ही उनका कहना है कि यदि इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति होती है, तो ठेका निरस्त करने का प्रस्ताव भी शासन को भेजा जाएगा।

वही कंपनी के सुपरवाइजर अपने कर्मचारियों का पक्ष लेते हुए नजर आ रहे हैं, उनका कहना है कि जो लड़कियां उन कर्मचारियों से मिलने आई थी और वह उनके परिवार के सदस्य है और वे उन्हें टिफिन देने के लिए पहुंची थी। इस मामले पर मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है। अपने ट्वीट में कांग्रेस ने लिखा कि-मध्यप्रदेश के इंदौर की शर्मनाक खबर, —सरकारी अस्पताल का मुर्दा घर बना जिस्म-फरोसी का अड्‌डा, लाशों के पास लड़का-लड़की बना रहे थे संबंध। शिवराज जी, अब तो अति हो रही है। “अंधेर नगरी, चौपट राजा”

 

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को